विशेष

दूल्हे ने ना दहेज लिया, ना लिया उपहार, मात्र 2100 रुपये में हुआ विवाह, ऐसी हुई ये अनोखी शादी

देशभर में कोरोना वायरस का कहर लगातार बढ़ता ही जा रहा है। कोरोना वायरस की वजह से दुनिया भर में लॉक डाउन चल रहा है। लॉक डाउन के दौरान सभी कामकाज ठप्प पड़ गए हैं। यहां तक की लॉक डाउन की वजह से शादियों पर भी प्रभाव पड़ा है। कोरोना काल में कई शादियों की तारीख आगे बढ़ा दी गई है और बहुत से जोड़ों को इस महामारी के बीच सोशल डिस्टेंसिंग और कानूनी नियमों का पालन करते हुए विवाह करना पड़ रहा है। आप लोगों ने लॉकडाउन के बीच ऐसी बहुत सी शादियों के बारे में सुना होगा? जिसके अंदर सोशल डिस्टेंसिंग का बिल्कुल भी ख्याल नहीं रखा गया है, परंतु कुछ शादियों में सभी नियमों का पालन किया गया है। इसी बीच ऐसी बहुत सी शादियां सुर्खियां बटोर रहीं हैं। आज हम आपको एक ऐसी अनोखी शादी के बारे में बताने वाले हैं, जो बहुत ही सादगी से हुई है। यह शादी हर किसी के लिए एक मिसाल है।

दरअसल, हम आपको जिस शादी के बारे में जानकारी दे रहे हैं। यह अनोखी शादी पंजाब में हुई है। अक्सर अपनी शादी में दूल्हा-दुल्हन सज-धज कर आते हैं, लेकिन इस शादी के अंदर दूल्हा सज कर नहीं आया था और ना ही दुल्हन में आभूषण पहने थे। यह शादी बहुत ही सादगी से पूरी हुई है। अगर हम इस विवाह के कुल खर्च के बारे में बात करें तो इस समारोह में मात्र ₹2100 रुपये खर्च हुए हैं।

पंजाब के नवांशहर में हुई यह अनोखी शादी चर्चा का विषय बनी हुई है। आपको बता दें कि जतिंद्र दास गांव भंडियार के रहने वाले हैं, जिनके पिता का नाम जसविंदर दास है। जतिंद्र दास का विवाह मल्लां वेदियां गांव, जिला नवांशहर की रीना से तय हुआ था, रीना के पिताजी का नाम धर्मपाल दास है। सभी शादियों के अंदर पूरी तैयारियां की जाती है। सभी रस्में निभाई जाती हैं, परंतु यह शादी इतनी सादगी से पूरी हुई है कि सभी रस्में बहुत जल्द ही पूरी कर दी गई थीं। मात्र 17 मिनट में मंत्रोच्चारण के पश्चात लड़का-लड़की विवाह के बंधन में बंध गए थे। कोरोना वायरस को ध्यान में रखते हुए दूल्हे की तरफ से सिर्फ 11 लोग ही शादी में शामिल हुए थे। इनका विवाह जिला कोऑर्डिनेटर अजमेर दास की देखरेख में संपन्न हुआ था।

जब लोगों को इस शादी के बारे में पता चला तो सभी ने दूल्हे की खूब तारीफ की। भले ही यह शादी समारोह किसी बड़े शहर या किसी बड़े परिवार का नहीं था, परंतु जिस तरीके से इनका विवाह हुआ है, यह सभी के लिए प्रेरणादायक है। इस अनोखी शादी में ना तो कोई दहेज दिया गया था और ना ही किसी से कोई उपहार लिया गया था। बस दूल्हे ने दुल्हन की कलाई पर रक्षा सूत्र बांधा और पंडित के द्वारा मंत्रों का उच्चारण किया गया।

वैसे देखा जाए तो शादी हर किसी की जिंदगी का सबसे खास दिन होता है। शादी में लोग लाखों रुपए खर्च कर देते हैं लेकिन पंजाब में हुई इस शादी की तारीफ हर कोई कर रहा है। दूल्हा-दुल्हन ने मिसाल पेश करते हुए बिना किसी फिजूलखर्ची के पति-पत्नी बन गए हैं।

ये भी पढ़े:“स्वीटहार्ट” गाने पर सुशांत और सारा का जोरदार डांस Video हो रहा वायरल, फैंस कर रहे हैं खूब पसंद

Related Articles

Back to top button