अजब ग़जब

राजस्थान में भैंस ने जन्मा विचित्र बच्चा, 4 आंख, 4 सींग और 2 मुंह वाले पाड़े को देखने उमड़ी भीड़

इंटरनेट पर रोजाना ही कोई ना कोई खबर सुनने और देखने को मिल जाती हैं। कई बार कुछ खबरें ऐसे भी सामने आ जाते हैं, जिनपर विश्वास करना हर किसी के लिए काफी कठिन हो जाता है। अक्सर कुछ खबरों को देखने के बाद एक पल के लिए ऐसा लगता है कि ऐसा सच नहीं हो सकता। परंतु जब इन खबरों की सच्चाई मालूम होती है तो हर कोई हैरत में पड़ जाता है।

वैसे देखा जाए तो इंटरनेट पर फेक खबरों की भी भरमार है। इसलिए जल्दी से लोग किसी भी खबर पर विश्वास नहीं करते। चाहे वह वास्तव में सच्ची घटना ही क्यों ना हो। इसी बीच राजस्थान, करौली शहर में एक भैंस ने अनोखे बच्चे (पाड़ा) को जन्म दिया है, जिसके दो मुंह, चार आंख और चार सींग हैं। यह विचित्र पारा इलाके में चर्चा का विषय बना हुआ है।

भैंस ने दिया विचित्र बच्चे को जन्म

दरअसल, आज हम आपको जिस मामले के बारे में बता रहे हैं यह करौली कोतवाली थाना इलाके में स्थित धनीराज सरपंच का पूरा गांव का बताया जा रहा है। मिली जानकारी के मुताबिक, यहां के रूप सिंह माली ने बताया कि उसके यहां भैंस ने करीब 6 दिन पहले एक पाड़ा को जन्म दिया। उसके 2 मुंह, 4 आंख और 4 सींग हैं। बाकी पूरा शरीर सामान्य है। दो मुंह और चार आंख होने की वजह से पाड़ा संतुलन नहीं बना पा रहा है।

बता दें पाड़ा अभी पूरी तरह से स्वस्थ नहीं है। वह अभी अपनी मां का दूध नहीं पी पा रहा है इसलिए उसे ऊपर से दूध पिलाया जा रहा है। इस विचित्र पाड़े की तस्वीरें और वीडियो सोशल मीडिया पर काफी तेजी से वायरल हो रही हैं। यह पाड़ा इलाके में चर्चा का विषय बना हुआ है। इसकी चर्चा सुनकर बड़ी संख्या में लोग इस विचित्र पाड़े को देखने के लिए पहुंच रहे हैं।

भैंस और उसके बच्चे की सेवा में जुटा है पूरा परिवार

रूप सिंह मजदूरी का काम करते हैं। रूप सिंह के द्वारा ऐसा बताया गया कि उसकी भैंस ने दूसरी बार पाड़े को जन्म दिया है। एक साल पहले भी भैंस ने एक पाड़े को जन्म दिया था लेकिन एक दुर्घटना में उसकी मृत्यु हो गई थी।

फिलहाल भैंस के नए बच्चे को परिवार के लोग दूध खरीद कर पिला रहे हैं। पाड़ा अभी अस्वस्थ है, जिसकी वजह से भैंस भी दूध नहीं दे पा रही है। भैंस और उसके बच्चे की सेवा में पूरा परिवार जुटा हुआ है।

पशु चिकित्सक ने ये वजह बताई

वहीं करौली के पशु चिकित्सक मुंशीलाल के द्वारा ऐसा बताया गया कि गर्भधारण के समय दो अंडाणु के एक साथ जुड़ने से भ्रूण का पूर्ण विकास नहीं हो पाता है, जिसकी वजह से इस तरह के विचित्र पशुओं का जन्म होता है। इस तरह के प्राणियों के जीवित रहने की संभावनाएं बहुत कम होती हैं।

वहीं भैंस के मालिक के भाई मुकेश माली ने बताया कि रोजाना करीब 50 से 100 लोग पाड़े को देखने आ रहे हैं। यह पाड़ा इलाके में चर्चा का विषय बना हुआ है। इसकी चर्चा सुनने के बाद बड़ी संख्या में लोग इस विचित्र पाड़े को देखने के लिए पहुंच रहे हैं।

Related Articles

Back to top button