धार्मिक

इस धातु से बने शिवलिंग की नियमित करें पूजा, दूर भाग जाएगी गरीबी, बरसेगी शिव जी की कृपा

ऐसा बताया जाता है कि भगवान शिव जी अपने भक्तों से बहुत जल्दी प्रसन्न हो जाते हैं। वैसे तो भगवान शिवजी की पूजा 12 महीनों में से कभी भी की जा सकती है परंतु सावन का महीना भगवान शिव जी की कृपा पाने का बहुत शुभ समय माना जाता है। सावन महीने में भगवान शिव जी को प्रसन्न करने के लिए कोई भक्त उपवास रखता है, तो कोई तरह-तरह के उपाय करता है, जिससे भगवान शिव जी की कृपा प्राप्त हो सके।

धार्मिक ग्रंथों में भगवान शिव जी को प्रसन्न करने के लिए कई उपायों के बारे में बताया गया है। ऐसा माना जाता है कि सावन के महीने में विभिन्न धातुओं और रत्नों से बने शिवलिंग का अभिषेक करने से व्यक्ति की सारी मनोकामनाएं पूर्ण हो जाती हैं। तो चलिए आपको बताते हैं किस धातु और रत्न से बने शिवलिंग की पूजा से व्यक्ति को किन फल की प्राप्ति होती है।

धातुओं से बने शिवलिंग की पूजा से मिलेंगे ये फायदे

  • लिंग पुराण में इस बात का जिक्र किया गया है कि लोहे से बने हुए इस शिवलिंग का अभिषेक शुद्ध जल से किया जाए, तो इससे व्यक्ति के शत्रुओं का नाश होता है।
  • अगर तांबे से बने शिवलिंग पर अभिषेक किया जाए, तो लंबा और स्वस्थ जीवन की प्राप्ति होती है।
  • पीतल से बने हुए शिवलिंग का अभिषेक करने से सभी सांसारिक सुखों की प्राप्ति होती है।
  • अगर चांदी के शिवलिंग का अभिषेक किया जाए, तो इससे मान-सम्मान की प्राप्ति होती है।
  • सोने के शिवलिंग का अभिषेक करने से लंबी उम्र और धन लाभ के योग बनते हैं।
  • अगर कांसे के शिवलिंग का अभिषेक किया जाए, तो इससे प्रसिद्धि मिलती है।

रत्नों से बने हुए शिवलिंग की पूजा के फायदे

  • ग्रंथों के मुताबिक, स्फटिक के शिवलिंग का अभिषेक करने से व्यक्ति की सारी इच्छाएं पूरी हो जाती हैं।
  • वहीं हीरो से बने हुए शिवलिंग की पूजा करने से व्यक्ति की उम्र लंबी होती है।
  • नीलम से बने हुए शिवलिंग का अभिषेक करने से मान-सम्मान मिलता है।
  • मोती के बने हुए शिवलिंग की पूजा करने से रोगों से छुटकारा प्राप्त होता है।
  • रूबी शिवलिंग से सूर्य, मूंगे के शिवलिंग की पूजा से मंगल और पन्ने से निर्मित शिवलिंग की पूजा से बुध ग्रह के दोषों से छुटकारा प्राप्त होता है।
  • पुखराज के शिवलिंग की पूजा करने से वैवाहिक जीवन में खुशहाली आती है।

पारद से बने शिवलिंग

आपको बता दें कि तमाम प्रकार के शिवलिंग की पूजा में पारद शिवलिंग का बहुत महत्व है। पारद शिवलिंग पारद और चांदी के मिश्रण से बना होता है। ऐसा माना जाता है कि यदि सोमवार के दिन या सावन महीने में श्रद्धा और पूर्ण विश्वास के साथ पारद शिवलिंग की पूजा की जाए, तो भगवान शिव जी मनचाहा वरदान देते हैं।

लिंग पुराण के अनुसार, जो व्यक्ति पारद से बने हुए शिवलिंग की पूजा करता है, उसे वह सब सुख मिल जाता है, जो विभिन्न धातुओं और रत्नों से बने शिवलिंग की पूजा से प्राप्त होते हैं। इसी वजह से पारद से निर्मित शिवलिंग को सबसे विशेष माना गया है।

अगर पारद शिवलिंग की पूजा की जाए, तो इससे गरीबी का सामना नहीं करना पड़ता है। इतना ही नहीं बल्कि धन की देवी माता लक्ष्मी जी की कृपा भी व्यक्ति पर सदैव बनी रहती है।

Related Articles

Back to top button