धार्मिक

चाणक्य नीति: इन 2 लोगों को सताने से रूठ जाती हैं मां लक्ष्मी, बुरे दिन आने में नहीं लगती देर

आचार्य चाणक्य अपने समय के बहुत महान और प्रभावशाली व्यक्ति थे। उनके ज्ञान की चर्चा उस काल में दूर-दूर तक थी। आचार्य चाणक्य ने जीवनोपयोगी कई नीतियां दी हैं, जिनका पालन करने पर मनुष्य अपने जीवन की परेशानियों से बचा रह सकता है। आचार्य चाणक्य ने ऐसी बहुत सी बातें कही हैं, जिनका आज के समय में भी उतना ही महत्व है, जितना उस समय के दौरान था।

आचार्य चाणक्य को कई विषयों का ज्ञान था। आचार्य चाणक्य के बारे में ऐसा बताया जाता है कि उन्हीं की वजह से चंद्रगुप्त मौर्य को राजगद्दी मिली थी। इसके बाद चाणक्य उनके मंत्री बने। आचार्य चाणक्य की ही शिक्षा की वजह से चंद्रगुप्त सही तरीके से शासन चलाने में सफल रहे। आचार्य चाणक्य को कूटनीति, राजनीति और अर्थशास्त्र का ज्ञाता माना जाता है।

आचार्य चाणक्य अपनी महान बातों से लोगों का मार्गदर्शन करते हैं। आज हम आचार्य चाणक्य की ऐसी नीति के बारे में जानने वाले हैं, जिसमें मां लक्ष्मी की कृपा पाने के कई उपायों का जिक्र किया गया है। आचार्य चाणक्य ने “चाणक्य नीति” नामक पुस्तक लिखी है, जिसमें यह बताया गया है कि कुछ काम ऐसे होते हैं जिनको करने से व्यक्ति के बुरे दिन आने में देर नहीं लगती है।

इसके साथ ही माता लक्ष्मी जी नाराज होकर उस व्यक्ति के घर से चली जाती हैं। अगर व्यक्ति के ऊपर मां लक्ष्मी की कृपा है या फिर मेहरबान है तो व्यक्ति को कुछ चीजों का ध्यान रखना चाहिए। आचार्य चाणक्य बताते हैं कि जिन लोगों के पास पैसा आ जाता है, वह अहंकार से भर जाते हैं। अपने से कमजोर और नीचे व्यक्तियों को परेशान करना शुरू कर देते हैं। तो चलिए आपको बताते हैं कुछ अन्य कामों के बारे में जिनको करने से व्यक्ति को बचना चाहिए।

इन लोगों का सम्मान करना चाहिए

आचार्य चाणक्य ने अपनी नीति शास्त्र में इस बात का जिक्र किया है कि जो लोग मेहनत करते हैं और अपने काम के प्रति समर्पित रहते हैं। उन लोगों को कभी भी परेशान नहीं करना चाहिए। जो ऐसे लोगों को सताते हैं, उनसे माता लक्ष्मी जी नाराज हो जाती हैं और आगे चलकर बस उस व्यक्ति को धन हानि का ही सामना करना पड़ता है। इसलिए आचार्य चाणक्य कहते हैं कि ऐसे लोगों का हमेशा सम्मान करना चाहिए।

लोगों से विनम्र रहें

आचार्य चाणक्य का कहना है कि जब किसी व्यक्ति के पास धन आ जाता है, तो वह अहंकारी हो जाता है। व्यक्ति अपने इस अहंकार के वेग में अपने से कमजोर और गरीब लोगों को परेशान करने लगता है। उन पर अत्याचार करना शुरू कर देता है। बिना किसी कारण से ही ऐसे लोगों को परेशान करने लगता है। आचार्य चाणक्य बताते हैं कि ऐसा करने वाले लोगों से धन की देवी माता लक्ष्मी जी रुष्ट हो जाती हैं, जिसकी वजह से आने वाले वक्त में उन्हें कई परेशानियों का सामना करना पड़ता है।

महिलाओं का सम्मान करना चाहिए

चाणक्य नीति के अनुसार, जो लोग महिलाओं और बच्चों का सम्मान नहीं करते, उनसे माता लक्ष्मी जी नाराज हो जाती हैं। ऐसे लोगों को कभी भी माता लक्ष्मी जी की कृपा प्राप्त नहीं होती है। इन लोगों के घर में हमेशा दरिद्रता ही बनी रहती है। इसलिए आचार्य चाणक्य कहते हैं कि हमेशा महिलाओं और बच्चों का सम्मान करना चाहिए।

Related Articles

Back to top button