विशेष

सबकी फेवरेट बिस्किट Parle-G में ‘G’ का मतलब क्या होता हैं? 90% लोग गलत जवाब जानते हैं और आप?

आज के समय में जहां मार्केट में एक से बढ़कर एक बिस्किट आ चुके हैं, तो वहीं Parle-G बिस्किट की बात आज भी निराली है। क्योंकि इससे सभी के बचपन की यादें जुड़ी है और इसका स्वाद लोगों के जुबान के साथ दिलों-दिमाग में भी चढ़ चुका है। जाहिर है ऐसा कोई 90s किड नहीं होगा, जिस पार्ले जी बिस्किट न पसंद हो। पार्ले जी के ऐसे ही लवर्स के लिए हम एक बेहद अहम सवाल लाए हैं और वो ये कि क्या आपको Parle-G में ‘G’ का मतलब पता है?

Parle-G में ‘G’ का मतलब Genius नहीं होता है

अब आप में से बहुत सारे लोग कहेंगे कि Parle-G में ‘G’ का मतलब Genius होता है। तो बता दें कि जनाब यहां ‘G’ का मतलब Genius तो बिलकुल नहीं होता है। दरअसल, आपको Parle-G में ‘G’ का मतलब जानने के लिए सबसे पहले इस बिस्किट का इतिहास जानना चाहिए। तो बता दें कि देश में पार्ले-जी बिस्किट कंपनी की शुरुआत आजादी से पहले साल 1929 में हुई थी, जिसने साल 1938 में पार्ले-ग्‍लूको (Parle-Gloco) नाम से बिस्किट उत्पादन शुरू किया था। इसके बाद शुरूआती दौर में इसे ग्लूको बिस्किट (Gluco Biscuit) नाम से बेचा गया।

1980 में ग्लूको बिस्किट,’Pagle-G’ नाम से दोबारा हुई लॉन्च

लेकिन वहीं देश की आजादी के बाद कंपनी को ग्लूको बिस्किट का उत्पादन बंद करना पड़ा था। क्योंकि जहां इस बिस्किट को बनाने में मुख्य रूप से गेंहू का इस्तेमाल किया जाता था तो वहीं आजादी के बाद देश में अनाज का भारी संकट हो गया था। वहीं जब बाद में कंपनी ने दोबारा बिस्किट का उत्पादन शुरू किया तो, तो उस वक्त बाजार में ब्रिटानिया जैसी कंपनियां कॉम्पिटीशन में उतर चुकी थीं।

मालूम हो कि ब्रिटानिया उस वक्त में ग्लूकोज-डी (Glucose-D) नाम के बिस्किट का उत्पादन बाजार में अपनी पैठ बनाने लगी। ऐसे में पार्ले ने 1980 में ग्लूको बिस्किट को नए नाम ‘Parle-G’ के साथ दोबारा लॉन्च किया, जहां ‘G’ का मतलब ‘ग्लूकोज’ (Glucose) से ही था।

इस नए नाम के पार्ले-जी बिस्किट ने इंडिया में ऐसा नाम बनाया कि 5 दशक बीत जाने के बाद आज भी इसका जलवा कायम है। गौरतलब है कि साल 2000 में कपंनी ने ‘G’ का मतलब ‘Genius’ बता कर अपने उत्पाद को प्रमोट जरूर किया गया था। पर असल में पार्ले-जी में G का मतलब हमेशा से ‘ग्लूकोज’ (Glucose) ही रहा है।

Related Articles

Back to top button