अजब ग़जब

25 साल की उम्र में ही यह महिला बन गयी 22 बच्चों की मां, अभी और पैदा करना चाहती है 83 बच्चे

देश और दुनिया में लगातार महंगाई बढ़ते जा रही है. महंगाई ने लोगों का जीना मुहाल कर दिया है. कई लोग दो वक़्त की रोटी के लिए तरसते है. लोगों ने अपने परिवार छोटे कर दिए है. जहां पहले एक परिवार में पति-पत्नी के अलावा सात से आठ बच्चे होते थे. वहीं कुछ समय पहले ये घटकर ‘हम दो हमारे दो’ पर सिमट गए. वहीं आज के ज़माने में बात एक ही बच्चे पर आकर टिकी है. इसी बीच एक ऐसी खबर आई है जिसके बारे में आज सोचा भी नहीं जा सकता.

Christina Ozturk

एक महिला ने आज के ज़माने में सिर्फ 25 साल की उम्र में ही 22 बच्चे पैदा कर दिए हैं और उसका ये सिलसिला अब भी जारी है. वह अभी भी 80 बच्चे और पैदा करना चाहती है. घर में कुल 22 बच्चे होने की वजह से अब उसका घर चिल्ड्रन होम जैसा नजर आता है. उसके आस-पास में रहने वाले जिन भी लोगों को इस बारे में पता चलता है वह हैरान रह जाते है.

इतने बच्चे पैदा करना चाहती है महिला
एक निजी वेबसाइट की न्यूज़ के मुताबिक ब्रिटेन की रहने वाली इस महिला का नाम Christina Ozturk है. उसने एक अरबपति इंसान से शादी की है. वर्ष 2014 में Christina की उम्र महज़ 17 साल थी, जब उसने पहले बच्चे अपनी एक बेटी को जन्म दिया. उस कपल को अपनी बच्ची की किलकारियां और खेलना इतना अच्छा लगा कि उन्होंने 105 से ज्यादा बच्चे पैदा करने का लक्ष्य साध लिया. लेकिन मानव शरीर विज्ञान के अनुसार ऐसा नहीं हो सकता था. इसी वजह से उन्होंने सेरोगेसी का रास्ता चुना.

Christina Ozturk

इस कपल ने 22 बच्चे किए है पैदा
इस कपल ने बाद में अपनी चाहत को पूरा करने के लिए सरोगेसी कंपनियों को हायर किया. कंपनी ने अलग-अलग महिलाओं की कोख किराये पर लेकर कपल के शुक्राणु और अंडे निषेचित किए. आपको बता दें कि, इस प्रकिया के तहत अब तक ये कपल 21 बच्चे पैदा कर चुका है. मतलब अब तक उनके 22 बच्चे हो चुके है. अपने बचे हुए टारगेट को पूरा करने के लिए यह कपल इसी तकनीक से आगे 83 बच्चे और पैदा करना चाहता है. आपको बता दें कि यह कपल बच्चों के लिए 10 हजार डॉलर यानी करीब 8 लाख रुपये प्रति बच्चे के रकम दे रहा है.

Christina Ozturk

यह महिला कहती है कि उनका पूरा दिन अपने बच्चों की देखभाल करने में ही पूरा हो जाता है. वे कोशिश करती हैं कि बच्चे दिन में खूब खाएं और खेलें लेकिन रात होते ही सो जाएं. Christina Ozturk ने कहा कि बच्चों की इस चाहत को पूरा करने के लिए उन्होंने Batumi के एक आईवीएफ क्लीनिक का सहारा लिया है. क्रिस्टीना ने यह भी बताया कि, उन्होंने किसी भी तरह से सरोगेट मदर्स के साथ कोई संपर्क नहीं किया है. उन्होंने कहा कि, इन बच्चों के लिए उनके अंडे और पति के शुक्राणुओं का उपयोग हुआ है.

Related Articles

Back to top button