विशेष

ये IPS अफसर खूबसूरती में हीरोइनों को भी देती है मात, कुछ ऐसा रहा है रिसेप्शनिस्ट से UPSC का सफर

वैसे तो सभी IAS और IPS अधिकारी की UPSC जर्नी युवाओं के लिए प्रेरक होती है। पर वहीं कुछ अधिकारी यूपीएससी की नौकरी के साथ ही अपने लाइफ-स्टाइल और निजी जिंदगी को लेकर भी युवाओं में खासा लोकप्रिय होते हैं। यहां हम ऐसी ही एक लेडी आईपीएस अफसर की बात कर रहे हैं जो खूबसूरती के मामले में किसी बॉलीवुड एक्ट्रेस जरा भी कमतर नहीं लगता हैं। दरअसल, हम बात कर रहे हैं हरियाणा की रहने वाली IPS पूजा यादव (IPS officer pooja yadav) की।

सोशल मीडिया पर बेहद लोकप्रिय हैं IPS पूजा यादव

जी हां, बता दें कि 2018 बैच की IPS पूजा यादव की गिनती देश के सबसे खूबसूरत और स्टाइलिश अधिकारियों में की जाती हैं। ये इनकी खूबसूरती और स्टाइल का ही कमाल है कि सोशल मीडिया पर लाखों की संख्या में इनके फॉलोवर्स हैं, जो इनकी हर एक पोस्ट को जमकर लाइक करते हैं।

कनाडा से लेकर जर्मनी में कर चुकी हैं काम

बता करें आईपीएस पूजा यादव (IPS officer pooja yadav) की निजी जिंदगी की तो 20 सितंबर 1988 में हरियाणा में जन्मी पूजा यादव की प्रारम्भिक शिक्षा हरियाणा से हुई। इसके बाद  वो बायो एंड फूड टेक्नोलॉजी में एमटेक की डिग्री हासिल कर कनाडा चली गई। वहीं कनाडा में कुछ सालों तक नौकरी करने के बाद पूजा यादव ने जर्मनी में भी कुछ वक्त के लिए एक होटल में काम किया।

ips pooja yadav

दूसरे प्रयास में निकाली यूपीएससी की परिक्षा

लेकिन विदेश की आलीशान जिंदगी जीते हुए भी उनके मन में हमेशा अपने देश के लिए कुछ करने की चाहत रही और यही चाहत उन्हें विदेश की नौकरी छोड़ भारत ले आई। भारत आने के बाद पूजा यादव ने यूपीएससी की तैयारी शुरू की, जिसमें पहले प्रयास में उन्हें असफलता हाथ लगी। लेकिन दूसरे ही प्रयास में वो 174वीं रैंक हासिल कर गुजरात कैडर की आईपीएस अफसर बन गई।

आर्थिक तंगी के चलते कभी करना पड़ा था रिसेप्शनिस्ट का काम

हालांकि पूजा यादव के लिए आईपीएस अफसर बनने की राह इतनी आसान भी नहीं थी, क्योंकि पूजा के परिवार की आर्थिक स्थित उतनी सही नहीं थी। ऐसे में उन्होनें कॉलेज की पढ़ाई का खर्च निकालने के लिए ट्यूशन पढ़ाने से लेकर रिसेप्शनिस्ट का भी काम किया है।

IPS पूजा यादव ने आईएएस अफसर से की है लव मैरिज

गौरतलब है कि पूजा यादव ने 2016 बैच के आईएएस अफसर विकल्प भारद्वाज से साल 2021 में शादी की है, जिनसे उनकी मुलाकात मसूरी के लाल बहादुर शास्त्री राष्ट्रीय प्रशासन अकादमी में हुई थी।

 

Related Articles

Back to top button