विशेष

चकला–बेलन यूज करते समय न करें ये 3 गलतियां, नाराज होती है मां लक्ष्मी, आती है कंगाली

ज्योतिष शास्त्र की माने तो घर की रसोई में मां अन्नपूर्णा का वास होता है। मां अन्नपूर्णा को मां लक्ष्मी का दूसरा रूप भी कहा जाता है। कहते हैं जिस घर में मां अन्नपूर्णा रहती है वहां बरकत हमेशा बनी रहती है। ज्योतिष शास्त्र में किचन को लेकर कुछ नियम कायदे बताए गए हैं। इनका पालन किया जाए तो घर में मां अन्नपूर्णा की कृपा दृष्टि हमेशा बनी रहती है। इससे घर में सुख, शांति और समृद्धि आती है। आज हम आपको चकला–बेलन से जुड़े कुछ नियम बताने जा रहे हैं।

इस रंग का चकला–बेलन होता है अशुभ

सामान्यतः यह देखा जाता है कि रसोई घरों में खाकी या ब्राउन कलर के चकला बेलन का इस्तेमाल होता है। हालांकि कुछ लोग फैशन और स्टैंडर्ड के चक्कर में काले रंग का चकला बेलन भी यूज़ करते हैं। ज्योतिष शास्त्र की मानें तो काले रंग का चकला बेलन इस्तेमाल करना अशुभ होता है।

जिस घर में इसका इस्तेमाल किया जाता है वहां कंगाली जल्दी आती है। काले रंग का चकला बेलन घर में शनि दोष का कारण बनता है। इससे घर में नकारात्मक ऊर्जा अधिक बढ़ती है। घर में अशांति रहती है। व्यर्थ के खर्चे बढ़ जाते हैं। आमदनी कम हो जाती है। कुल मिलाकर आप धीरे-धीरे बर्बादी की ओर जाने लगते हैं।

चकला–बेलन की आवाज भी बिगाड़ती है काम

ज्योतिष शास्त्र की मानें तो रोटी बनाते समय चकला बेलन की आवाज नहीं आनी चाहिए। यदि ऐसा होता है तो कई अशुभ घटनाएं घटित होती है। यह धनहानि का भी एक संकेत होता है। इससे घर में नेगेटिव एनर्जी भी उत्पन्न होती है। वहीं ये ध्वनि बुरी शक्तियों को भी आकर्षित करती है।

इसलिए इस बात का विशेष ध्यान रखे कि रोटी बनाते समय आपके चकला बेलन से आवाज नहीं आए। कई बार चकला टेढ़ा रखा होने के चलते आवाज आती है। या फिर चकला नीचे से समतल नहीं होने के कारण भी वह आवाज करता है। ऐसे में चकला अच्छे से रखे या खराब हो तो नया ले आए।

गंदा चकला-बेलन कभी न छोड़ें

किचन में साफ सफाई का विशेष ध्यान रखना चाहिए। घर की गंदगी भी नेगेटिव ऊर्जा बढ़ाती है। इसलिए रोटी बनाने के बाद तुरंत चकला बेलन धो लेना चाहिए। उसे गंदा नहीं छोड़ना चाहिए। इसे पहले पानी से साफ कर दें। फिर कपड़े से पोंछकर खड़ा कर रख दें।

ऐसा करने से चकला बेलन में बैक्टीरिया और दूसरे जर्म पनप नहीं पाते हैं। गंदा छोड़ने पर आपके बीमार होने का खतरा भी रहता है। इसके अलावा चकला या बेलन कहीं से टूट फुट जाए तो भी इसे इस्तेमाल नहीं करना चाहिए। नया चकला बेलन ले आना चाहिए।

Related Articles

Back to top button