इन 5 कारणों से घर में नहीं टिकता पैसा, जी तोड़ मेहनत करने के बाद भी तिजोरी रहती है खाली

घर में वास्तु दोष होने के कारण परिवार के सदस्य सदा दुखी रहते हैं और घर में पैसे भी नहीं टिक पाते हैं। वास्तु दोष के कारण ओर भी कई सारी समस्याएं जीवन में आने लग जाती हैं। इसलिए ये जरूर है कि आप जिस जगह रहते हैं वो वास्तु दोष से मुक्त हो। वहीं घर में वास्तु दोष होने पर आप डरे नहीं और नीचे बताए गए उपायों को कर दें। इन उपायों को करने से वास्तु दोष खत्म हो जाएगा और धन लाभ भी होने लग जाएगा।

वास्तु शास्त्र के अनुसार घर की तिजोरी को सदा सही दिशा की ओर ही रखना चाहिए। उत्तर दिशा में तिजोरी होने पर धन लाभ होता है और तिजोरी सदा पैसों से भरी रहती है। इसलिए आप हमेशा तिजोरी को इसी दिशा में रखें।

घर के पानी की निकास दिशा गलत होने से भी धन हानि होने लग जाती है। इसलिए ये बेहद ही जरूरी है कि पानी निकास करने की दिशा एकदम सही हो। वास्तु के अनुसार घर के पानी की निकास दिशा दक्षिण और पश्चिम से ही होना चाहिए। इन दिशों से जल निकासी होने का अर्थ होता है कि आपकी आर्थिक समस्याएं दूर हो जाती हैं।

मुख्य दरवाजे पर बनाएं स्वास्तिक का निशान 

स्वास्तिक का निशान बेहद ही पवित्र होता है। इस निशान को धन लाभ से भी जोड़कर देखा जाता है। ऐसा कहा जाता है कि अगर ये निशान घर के मुख्य दरवाजे व तिजोरी के ऊपर बनाया जाए, तो मां लक्ष्मी घर में वास कर लेती हैं। इसलिए आप अपने घर के मुख्य दरवाजे व तिजोरी पर ये निशान जरूर बना लें। घर में सुख-समृद्धि का वास हो जाएगा।

मंदिर में कलश को जरूर रखें। जिन लोगों के पूजा घरों में कलश रखा होता है, उन लोगों को आर्थिक परेशानी नहीं होती है और घर सदा धन से भरा रहता है। साथ में ही वास्तु दोष का बुरा असर भी जीवन में नहीं पड़ता है। हालांकि पूजा घर में कलश रखते हुए इस बात का ध्यान रखें कि ये कलश सदा ताजे जल से भरा रहे और इसके ऊपर नारियल जरूर रखा हो। आप रोज कलश का पानी बदलें, वहीं 21 दिन बाद नारियल को भी बदला करें।

पूजा घर में ओम का चिन्ह बनाने से भी वास्तु दोष दूर होता है। आप चंदन या हल्दी से ये चिन्ह जरूर पूजा घर में बना लें। साथ में ही घर के हर दरवाजे पर मोली का धागा भी जरूर बांधे।

वास्तु दोष के अलावा जिन घरों में सदा लड़ाई रहती है, महिलाओं का अपमान किया जाता और घर को गंदा रखा जाता है, वहां पर भी धन नहीं टिकता है। इसलिए आप ऊपर बताए गए उपायों के अलावा इन बातों का ध्यान भी जरूर रखें।

ये भी पढ़ें- जानिये ज्वाला मंदिर के रहस्य, मां सती की जिह्वा से उत्पन्न हुआ है यह शक्तिपीठ

SHARE