धार्मिक

इस दिन किया जाएगी कन्या पूजन, जानें नवमी और दशमी की भी सही तिथि व शुभ मुहूर्त

शारदीय नवरात्रि 17 अक्टूबर से शुरू हो चुके हैं। शारदीय नवरात्रि का आज सातवां दिन है और दो दिनों बाद नवरात्रि समाप्त होने वाले हैं। वहीं कई लोगों के मनों में ये दुविधा है कि दुर्गा सप्तमी, अष्टमी, महानवमी और दशहरा कब है। दरअसल ऋषिकेश पंचांग के अनुसार सप्तमी तिथि 23 अक्टूबर यानी शुक्रवार के दिन 12 बजकर 09 मिनट तक रहेगी है। इसके बाद अष्टमी तिथि शुरू हो जाएगी। जो कि 24 अक्टूबर शनिवार के दिन 11 बजकर 27 मिनट तक रहेगी।

नवमी तिथि 25 अक्टूबर रविवार को 11 बजकर 14 तक रहेगी। जिसके बाद दशमी तिथि शुरू हो जाएगी। जो कि दूसरे दिन यानी 26 अक्टूबर 11 बजकर 33 मिनट तक रहेगी। इस हिसाब से 25 अक्टूबर को विजयदशमी पर्व मनाया जाएगा।

कब करें कन्या पूजन

नवरात्रि के दौरान कन्या पूजन जरूर किया जाता है। कन्या पूजा के बिना नवरात्रि की पूजा सफल नहीं होती है। इस बार कन्या पूजन 24 अक्टूबर के दिन आ रहा है। इसलिए आप इस दिन ही कन्या को खाना खिलाएं। आप कम से कम तीन कन्याओं की पूजा जरूर करें। वहीं कोरोना के चलते अगर आप कन्या को भोजन नहीं करवाना चाहते हैं, तो खाना बनाकर उस मंदिर में चढ़ा दें। वहीं कुछ लोग महाष्टमी की जगह महानवमी के दिन भी कन्या पूजन करते हैं। इसलिए आप चाहें तो 24 अक्टूबर की जगह 25 अक्टूबर यानी महानवमी के दिन भी कन्या पूजन कर सकते हैं।

दशहरा या विजयादशमी कब है

शारदीय नवरात्रि की दशमी तिथि 25 अक्टूबर को सुबह 07 बजकर 41 मिनट से शुरू हो रहा है। जो कि 26 अक्टूबर सुबह 09 बजे तक रहेगी। विजयादशमी पर ही दशहरा का पर्व मनाया जाता है और इस बार 25 अक्टूबर के दिन दशहरा है।

दुर्गा मूर्ति विसर्जन कब है

नौ दिनों तक दुर्गा मां की पूजा की जाती है और फिर मां का विसर्जन किया जाता है। इस बार मां दुर्गा की मूर्ति का विसर्जन 26 अक्टूबर को होगा। विसर्जन के लिए सुबह 06:29 बजे से सुबह 08 बजकर 43 बजे तक का समय सबसे उत्तम है। इसलिए इस दौरान ही विसर्जन करें।

Related Articles

Back to top button