सिलबट्टे बेचने वाली महिला के सब इंस्पेक्टर बनने की कहानी हो रही है वायरल, जानिए पूरी सच्चाई

कहते हैं कि सपनों को उड़ान दी जाए तो एक महिला घर से निकलकर क्या कुछ हासिल नहीं कर सकती। ऐसी ही है एक कहानी है पुलिस सब-इंस्पेक्टर पद्मशीला तिरपुडे की। जिन्होंने अपनी मेहनत और हौसले के दम पर MPAC परीक्षा में सफल होकर यह मुकाम हासिल किया। खास बात यह है कि उन्होंने अपने जीवन में यह मुकाम हासिल करने के लिए बहुत संघर्ष किया है। पद्मशीला पहले पत्थर से सिलबट्टे बनाकर बेचा करती थी। लेकिन उन्होंने सपने देखना कभी नहीं छोड़ा अपने सपने को पूरा भी किया। उनके हौसले और सफलता की यह कहानी आईपीएस अधिकारी दीपांशु काबरा ने अपने सोशल मीडिया अकाउंट पर शेयर की है। दीपांशु काबरा ने कहानी शेयर करते हुए सभी को एक मैसेज दिया है, उन्होंने लिखा है कि, परिस्थितियां आपकी उड़ान को कभी रोक नहीं सकती।

पति से मिला है पूरा सपोर्ट

अक्सर अगर कोई महिला शादी के बाद कुछ करना चाहे तो उस पर हजार तरह की बंदिशें लगा कर उसे रोक दिया जाता है। लेकिन पद्मशीला को अपने पति का पूरा सपोर्ट मिला है। जिसके दम पर ही वह यह मुकाम हासिल कर पाई। दीपांशु काबरा ने अपनी ट्वीट में आगे लिखा है कि, पद्मशीला के घर के हालात कुछ ठीक नहीं थे। वह अपने पति के साथ मजदूरी करने जाया करती थी। उनके पति उन्हें आगे बढ़ाना चाहते थे। इसीलिए उन्होंने पद्मशीला की पढ़ाई पूरी करवाई। पद्मशीला ने सिलबट्टे बेचकर और मेहनत मजदूरी कर के अपनी ग्रेजुएशन कंप्लीट की। इसके बाद उन्होंने एमपीएसी का एग्जाम दिया और उसमें सफलता हासिल की। इस तरह से उन्होंने सब इंस्पेक्टर बनने का सफर किया है।

सिलबट्टे बेचने से कर चुकी है इनकार


सोशल मीडिया पर पद्मशीला की 2 तस्वीरें वायरल हो रही है। पहली तस्वीर में उनके माथे पर सिलबट्टे देखे जा रहे हैं। वहीं दूसरी तस्वीर में वह सब इंस्पेक्टर बनने के बाद पुलिस की वर्दी में अपने परिवार के साथ नजर आ रही हैं। दोनों तस्वीरों को जोड़कर उनके संघर्ष और सफलता की कहानी सुनाई जा रही है। लेकिन जब इस मामले में पद्मशीला से बात की गई उन्होंने खुलासा किया कि पहली तस्वीर उनकी नहीं है। उनका कहना है कि वह महिला उनके जैसी जरूर दिखाई देती है लेकिन वे वह नहीं है। उन्होंने बताया कि उन्होंने अपने जीवन में बहुत संघर्ष किया है। लेकिन उन्होंने कभी भी सिलबट्टे नहीं बेचे हैं।

एक जैसी शक्ल की वजह से हुआ है कन्फ्यूजन

पद्माशीला तिरपुडे का कहना है कि उनकी कहानी को गलत तरीके से बताया गया है। उन्होंने बताया कि उन्होंने काफी बुरे हालातों का सामना किया है। यह मुकाम हासिल करने के लिए उन्हें बहुत संघर्ष करना पड़ा। उन्होंने लव मैरिज की थी इसके बाद उन्हें पति के साथ नासिक शिफ्ट होना पड़ा। वहां से उन्होंने एक कॉलेज से ग्रेजुएशन की पढ़ाई की। इसके साथ साथ ही वह कॉन्पिटिटिव एग्जाम की तैयारी करती थी। साल 2012 में उन्होंने मेंस क्लियर किया। वही 2013 में उन्होंने सब इंस्पेक्टर का पद हासिल किया। वह दूसरी तस्वीर उसी समय की है। तस्वीर में उनके साथ उनके पति सास और बच्चे भी नजर आ रहे हैं। लेकिन बाद में कहीं से किसी ने सिलबट्टे बेचने वाली महिला के साथ उनकी कहानी जोड़कर इसे वायरल कर दिया। उनका कहना है कि उनकी शक्ल उस महिला से बहुत मिलती है। इसी वजह से लोगों को यह कंफ्यूजन हुआ है।

ये भी पढ़ें- गर्भवती अवस्था में भाभी ने लिए देवर संग साथ फेरे, कहा-पति से नहीं देवर से करती हूं प्यार

SHARE