आदित्य ठाकरे को पेंगुइन कहने पर हुई ट्विटर यूजर की गिरफ्तारी, लोगों ने किया #BabyPenguin ट्रेंड

महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे के बेटे आदित्य ठाकरे को बेबी पेंगुइन कहे जाने पर एक व्यक्ति को गिरफ्तार किया गया है। बताया जा रहा है कि नागपुर के रहने वाले समित ठक्कर ने आदित्य ठाकरे को बेबी पेंगुइन कहा था। जिसके बाद नागपुर पुलिस और मुंबई पुलिस ने समित ठक्कर को गिरफ्तार कर लिया। समित ठक्कर पर आरोप है उसने आदित्य ठाकरे के खिलाफ गलत शब्दों का प्रयोग किया है।

समित ठक्कर ने सोशल मीडिया पर आदित्य ठाकरे को बेबी पेंगुइन कहा था। जिसके बाद ये कहते हुए इन्हें गिरफ्तार किया गया कि इन्होंने महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे और महाराष्ट्र सरकार में मंत्री आदित्य ठाकरे पर कथित तौर पर आपत्तिजनक टिप्पणी की है।

ठक्कर पर आरोप है कि उसने आदित्य ठाकरे को महाराष्ट्र का ‘मोहम्मद आज़म शाह’ उर्फ़ ‘बेबी पेंगुइन’ कहा था। इसके अलावा ठक्कर ने उद्धव ठाकरे को आधुनिक युग का ‘औरंगज़ेब’ कहा था और नितिन राउत पर आपत्तिजनक टिप्पणी की थी।

दो जगह किया गया समित ठक्कर पर केस दर्ज

समित ठक्कर पर 2 जुलाई को दो प्राथमिकी दर्ज की गई थी। जिसमें से एक नागपुर में और दूसरी वीपी रोड पुलिस थाना मुंबई में दर्ज की गई थी। इन प्राथमिकी के आधार पर अब इनकी गिरफ्तारी हुई है। पुलिस के अनुसार 1 और 30 जून को समित ने ठाकरे परिवार पर टिप्पणी की थी। इनके अलावा समित ने राउत पर भी टिप्पणी की थी।

केस दर्ज होने के बाद गिरफ्तारी से बचने के लिए समित ने बॉम्बे उच्च न्यायालय में याचिका दायर की थी और अदालत से कहा था कि उनके खिलाफ दर्ज केस को खत्म किया जाए। याचिका पर सुनवाई करते हुए कोर्ट ने 1 अक्टूबर को आदेश दिया था कि समित जांच में सहयोग करें और बयान दर्ज कराने के लिए वीपी पुलिस थाने जाएं।

न्यायाधीश एसएस शिंदे और एमएस कर्णिक की पीठ के इस आदेश का पालन करते हुए समित 5 अक्टूबर को वीपी रोड पुलिस थाने गए थे। इस दौरान इनके साथ इनके दो वकील भी थे। हालांकि थाने में साइबर सेल की टीम को देखकर समित वहां से भाग गया था। 9 अक्टूबर को कोर्ट में इस मामले की फिर से सुनवाई हुई और उस दौरान समित ने कोर्ट को अपनी भागने की वजह बताई थी।

समित ने कोर्ट से कहा कि वो वाशरूम के बहाने इसलिए थाने से भागा था। क्योंकि वहां पर साइबर सेल की टीम थी। उसे लगा की वो उसे गिरफ्तार कर लेंगे। कोर्ट ने समित को फिर से पुलिस थाने जाकर बयान देने को कहा था। लेकिन 16 अक्टूबर को ये पुलिस थाने नहीं गया। वहीं अब इनको गिरफ्तार कर लिया है। इनकी गिरफ्तारी पर सोशल मीडिया यूजर्स गुस्सा जाहिर कर रहे हैं और समित के समर्थन में उतर आए हैं। समित को समर्थन देते हुए ट्विटर पर #BabyPenguin ट्रेंड कर रहा है।

इस वजह से कहा आदित्य ठाकरे को बेबी पेंगुइन

गौरतलब है कि आदित्य ठाकरे को लोग मजाक में ‘पेंगुइन’ कहते हैं। दरअसल महाराष्ट्र में देवेन्द्र फडणवीस सरकार के दौरान उन्होंने मुंबई के चिड़ियाघर में पेंगुइन लाने पर जोर दिया था और तभी से इनका ये नाम पड़ गया। आदित्य ठाकरे ने कहने पर दक्षिण कोरिया के सियोल से मुंबई चिड़ियाघर में पेंगुइन लगाने की परियोजना शुरू की गई थी। जिसके लिए चिड़ियाघर में कृत्रिम वातावरण बनाया गया था। लेकिन मुंबई के मौसम में पेंगुइन्स की मौत हो गई थी।

इस असफल प्रोजेक्ट पर खूब पैसे बर्बाद किए गए थे और तभी से इनका नाम बेबी पेंगुइन पड़ गया। सोशल मीडिया पर सुशांत केस के दौरान लोगों ने आदित्य ठाकरे का खूब मजाक उड़ाया था और इन्हें ‘पेंगुइन’ कहा था।

SHARE