हनीमून के दौरान भारतीय कपल ने कर दी थी ये बड़ी भूल, अब कतर की जेल में काट रहा है 10 साल की सजा

मुंबई के एक कपल के खिलाफ उनके रिश्तेदार ने गहरी साजिश रची और उन्हें जेल भेजवा दिया। इस कपल की चाची ने इन्हें हनीमून पर कतर भेजा और नशीला पदार्थ की तस्करी के आरोप में कतर की पुलिस ने इन्हें गिरफ्तार कर लिया। ये कपल एक साल से इस देश की जेल में बंद है और भारत सरकार से मदद मांग रहा है। इस कपल ने भारत सरकार को अपनी पूरी कहानी सुनाई। जिसके बाद सरकार ने छानबीन की। छानबीन में पाया गया कि इस कपल को इनकी चाची तबस्सुम रियाज कुरैशी द्वारा फंसाया गया है।

क्या है पूरा मामला

मुंबई के इस कपल को इनकी चाची तबस्सुम रियाज कुरैशी ने हनीमून की टिकट निकाह के तोहफे में दी और इन्हें कतर भेज दिया। हालांकि हवाई अड्डे पर तबस्सुम रियाज कुरैशी ने इनके बैग में ड्रग्स रखवा दिया। तबस्सुम रियाज कुरैशी ने इनसे कहा कि पैकेज में दोहा में रहने वाले दोस्त के लिए तंबाकू है। ओनिबा और उनके पति मोहम्मद शरीक कुरैशी ने चाची की बात को मनाते हुए उन्हें बैग में पैकेज रखने दिया। वहीं जैसे ही ये लोग हमाद अंतरराष्ट्रीय हवाई अड्डे पर उतरे, इन्हें पुलिस ने कथित रूप से ड्रग्स तस्करी के आरोप में गिरफ्तार कर लिया और जेल में बंद कर दिया।

ओनिबा और मोहम्मद शरीक कुरैशी के खिलाफ केस चला और इन्हें यहां की अदालत ने 10 साल की सजा सुनाई है। साथ में ही नशीले पदार्थों की तस्करी के लिए एक करोड़ रुपये का जुर्माना भी इनपर लगाया है। जिसके बाद ओनिबा के पिता शकील अहमद कुरैशी ने एनसीबी को पत्र लिखकर मदद मांगी थी।

पत्र में शकील अहमद कुरैशी ने लिखा कि तबस्सुम रियाज कुरैशी ने शादी के उपहार के रूप में उनकी बेटी को 6 जुलाई, 2019 को कतर की यात्रा पर भेजा था और उन्हें एक पैकेज दिया था। जिसमें ड्रग्स था। तबस्सुम रियाज कुरैशी ने साजिश के तहत उन्हें फंसाया है। मुंबई से रवाना होने से पहले ही उसने बैग में चार किलो हशीश रख दिया।

पिछले साल 27 सितंबर को, ओनिबा के पिता शकील अहमद कुरैशी ने नारकोटिक्स कंट्रोल ब्यूरो (एनसीबी) को पत्र लिखकर रिहाई में मदद की मांगी की थी। वहीं गुरुवार को एनसीबी के महानिदेशक राकेश अस्थाना ने एजेंसी के मुंबई कार्यालय का दौरा किया और इस केस के बारे में रिपोर्ट ली।

एनसीबी के हाथ कुछ ऐसे सबूत लगे हैं जो कि साफ इशारा करते हैं कि इस कपल को फंसाया गया है और दंपति को उनकी चाची ने धोखा दिया है। दरअसल तबस्सुम और उसके सहयोगी निजाम कारा को पिछले साल मुंबई पुलिस ने गिरफ्तार किया था। इनके पास से 220 ग्राम नशीली गोलियां, 18 ग्राम कोकीन, 8 ग्राम एमडीएमए, 9 ग्राम मेथ मिली थी।

हालांकि इस साल सितंबर में ये जमानत पर रिहा हो गई है। वहीं एनसीबी ने 14 अक्टूबर को निजाम और शहीदा नाम की महिलाओं को चंडीगढ़ से पकड़ा था। जिनके पास 1.4 किलोग्राम चरस मिली थी। इनसे जब पूछताछ की गई तो इन्होंने बताया कि दंपति को उन्होंने और उनकी सहयोगी तबस्सुम ने कतर भेजा था। कपल के बैग में ड्रग्स का सामान छिपा दिया था।

पुलिस तबस्सुम की तलाश कर रही है। वहीं राजनयिक चैनलों के माध्यम से कतर अधिकारियों से संपर्क कर, कपल की रिहाई की कोशिश भी की जा रही है। आपको बता दें कि जिस वक्त ओनिबा को गिरफ्तार किया गया था वो गर्भवती थी।

SHARE