3 साल से अलग रह रहे थे पति पत्नी, बेटी को कोरोना न हो जाए इस डर से एक हो गए, पढ़े दिलचस्प स्टोरी

कोरोना महामारी के दौर में किसी का बीमार पड़ जाना हमेशा चिंता साथ लाता है। हालांकि मध्य प्रदेश के भोपाल शहर में इसका एक पॉजिटिव साइड भी सामने आया। यहां बैरागढ़ इलाके में पति पत्नी अलग अलग रह रहे थे, लेकिन जब उनकी तीन साल की बच्ची को सर्दी जुकाम और तेज बुखार हुआ तो कोरोना के डर से दोनों ने सभी गिले-शिकवे भुला दिए और एक हो गए। इस दंपति ने चार साल पहले शादी की थी।

दरअसल शादी के बाद से ही इस दंपति का छोटी छोटी बातों को लेकर विवाद हो जाता था। पत्नी अपने पति संग एक अलग घर में रहना चाहती थी जबकि पति अपने माता पिता को छोड़ने को तैयार नहीं था। इस मनमुटाव के चलते दोनों तीन साल पहले अपनी बेटी के जन्म के कुछ महीनों बाद ही अलग हो गए थे। पति भोपाल में व्यापार करता है जबकि पत्नी गुजरात के अहमदाबाद की रहने वाली है।

पति से अलग होने के बाद पत्नी अपने मायके ही रह रही थी। पति अपनी पत्नी को वापस बुलाना चाहता था इस सिलसिले में उसने एक साल पहले कुटुंब न्यायालय में केस दायर किया था। इसी केस के संबंध में पत्नी अपनी तीन वर्षीय बेटी को लेकर 15 दिन पहले भोपाल आई थी। हालांकि इस दौरान बेटी की तबीयत खराब हो गई। जब पति को इस बात की भनक लगी तो उसे कोरोना होने का डर सताने लगा।

बेटी की खातिर पति ने एक अलग घर ले लिया और अपनी पत्नी के साथ रहने लगा। उसने अपनी बेटी का इलाज करवाया। जल्द ही वह ठीक हो गई। उसे कोरोना नहीं था बस समान्य फ्लू था। बेटी की देखभाल के दौरान पति पत्नी एक बार फिर एक दूसरे के करीब आ गए और पुरानी बातें भुला एक हो गए। काउंसिलिंग के दौरान काउंसलर ने पति को सलाह दी थी कि उसे बेटे होने के साथ साथ पति होने का फर्ज भी निभाना चाहिए।

पति का कहना था कि वह इकलौता बेटा है इसलिए पत्नी संग अलग नहीं रह सकता है, वहीं पत्नी का कहना था कि उसके ससुराल वाले उसे प्रताड़ित करते हैं जिसके चलते वह अलग रहना चाहती है। यही दोनों के विवाद की बड़ी वजह भी थी। बेटी का केस बीच में आने के बाद पति ने ये निर्णय लिया कि वह अपनी पत्नी और माता पिता दोनों का ही अलग अलग ख्याल रखेगा। उसने अपनी बीवी और बेटी को एक अलग घर भी दिला दिया।

पति का कहना है कि भविष्य में यदि मेरी बीवी मेरे माता पिता के साथ आकर रहना चाहती है तो इसमें उसे कोई दिक्कत नहीं होगी। वहीं पति के घर वाले भी बहू बेटे के दोबारा मिलने से खुश हैं।

SHARE