समाचार

पत्नी को मनाने पहुंचे कोर्ट में पति ने दिया नया मोबाइल और सूट, पर पत्नी ने रखी ऐसी डिमांड की सब सन्न रह गए

मोहाली(चंडीगढ़):  जैसा कि हम सभी जानते ही हैं कि पति पत्नी एक ही नाव में सवार होने वाले दो लोग हैं. जिनके जरा सा बैलेंस बिगड़ जाने से कुछ भी हादसा हो सकता है. हालांकि, हर रिश्तें में अनबन होना लाज़मी है. इसके इलावा तकरार के बाद ही इंसान अपना प्यार ज़ाहिर कर पाता है. मगर कईं बार कुछ लोग अपने शादीशुदा रिलेशन में कुछ ऐसी गलतियाँ कर बैठते हैं, जो समाज के बाकी लोगों के लिए एक तमाशा बन कर रह जाती हैं. हाल ही में चंडीगढ़ के मोहाली शहर से एक ही ऐसा ही मामला हमारे सामने आया है. जहाँ एक पति और पत्नी के बीच का झगड़ा इतना बढ़ गया कि पत्नी को कोर्ट का दरवाज़ा खटखटाना पड़ा.

दरअसल यह पूरा मामला मोहाली की रहने वाली सुखविंदर कौर और रुपेंद्र सिंह का है जोकि एडिशनल सेशन जज मैडम गिरीश की कोर्ट में पेश किए गए थे. सुखजिंदर और उपेंद्र की शादी 8 साल पहले हुई थी परंतु घर में रोज-रोज कलेश के चलते तंग आकर सुंदर को और अपने मायके चली गई. सुखजिंदर ने 2 महीने पहले ही अदालत में केस को दायर कराया था जिसकी सुनवाई बीते रविवार को की गई. इसी बीच पति रुपिंदर सिंह अपनी रूठी हुई पत्नी सुखविंदर को मनाने के लिए पूरी कोर्ट के सामने गिड़गिड़ाता रहा और उसको घर ले जाने के लिए मिन्नतें करता रहा.

पति रुपिंदर सिंह पत्नी को खुश करने का हर वादा कर रहा था. आपको यह जानकर हैरानी होगी कि पत्नी को वापस घर ले जाने के लिए पति कोर्ट में महंगा और नया मोबाइल भी खरीद के लाया और साथ ही बोला कि वह उसको नया सूट लेकर देना और अपनी पूरी महीने की सैलरी भी उसके हाथों में ही दिया करेगा. आपको हम बता दे कि रुपिंदर का 7 साल का बेटा जुगराज भी उसके साथ ही रहता है. रुपिंदर ने कोर्ट में अपनी पत्नी के सामने गिड़गिड़ाते हुए अपने बेटे की कई दुकानें थी परंतु सुखजिंदर उसके साथ जाने को राजी नहीं हुई और तलाक लेने की जिद पर अड़ी रही.

आपको हम बता दें कि जिस कोर्ट में रुपिंदर और सुखजिंदर का मामला दायर किया गया था उसी कोर्ट में रविवार के दिन भाई-बहन के बीच का एक जमीनी विवाद भी सामने आया. इस मामले में 22 साल के अवतार सिंह पर उसकी बहन गुरप्रीत कौर सुरिंदर कौर ने 10 एकड़ जमीन में से अपना ऐसा ना मिलने के कारण कोर्ट में अवतार सिंह के खिलाफ केस दायर किया था. दोनों बहनों ने जज मोनिका गोयल को बताया कि उनका भाई बचपन से ही अन्य रिश्तेदारों के साथ रहता आ रहा है लेकिन अभी जमीन जायदाद देखकर उसकी नजर उनके घर पर पड़ चुकी हैं. बहनों ने मोनिका गोयल से गुहार लगाई कि उन्हें 10 एकड़ जमीन का हिस्सा दिया जाए और वह कुछ साल बाद अपने भाई के नाम वापिस वह जमीन वापिस लौटा देंगी. परंतु अवतार सिंह इस मामले में हिस्सा बांटने को तैयार नहीं था. कोर्ट ने दोनों बहनों को जमीन का हिस्सा उनके नाम करवाने को कहा और उनकी मौत के बाद वापस वह ज़मीन भाई के नाम पर करने को कहा परंतु दोनों बहनों ने वसीयत करवाने से इंकार कर दिया.

वहीं दूसरी ओर रुपिंदर और सुखविंदर सिंह के अनसुलझे हुए रिश्ते को देखकर कोर्ट में मौजूद सभी लोग आश्चर्यचकित थे. जहां एक तरफ पति इतनी मिन्नतें किए जा रहा था वही पत्नी सुखजिंदर एक ही रट लगा कर बैठी थी कि उसे तलाक चाहिए. फिलहाल कोर्ट ने इस मामले के लिए अगली तारीख दे दी है. सूत्रों की माने तो अगली कार्रवाई में जज इन दोनों पति-पत्नी को 6 महीने या 1 साल एक साथ एक ही घर में रहने की शर्त ज़ाहिर करेंगे. एक साथ रहने के बाद भी अगर दोनों अपने फैसले पर अडिग रहे तो शायद दोनों का राजी-खुशी तलाक करवा दिया जाएगा.

आपकी जानकारी के लिए हम आपको बता दें कि मोहाली की इस कोर्ट में रविवार को बैंक रिकवरी, मेट्रोमोनियल डिस्प्यूट, बिजली एवं पानी बिल के इलावा अन्य 750 केसों का निपटारा किया गया था.

Related Articles

Back to top button