इंसानियत को तमाचा: 2 दिन के मसूम को जमीन में जिंदा दफना रहा था शख्स, लोगों ने ऐसे बचाई जान

जब भी किसी के घर बच्चे का जन्म होता है तो पूरे परिवार में खुशी का महोल होता है। माता पिता अपने नन्हें मेहमान का बहुत बारीकी से ध्यान रखते हैं। उसे एक खरोंच तक नहीं आने देते हैं। लेकिन महाराष्ट्र के पुणे में एक ऐसा मामला सामने आया है जिसने इंसानियत का नाम मिट्टी में डूबा दिया। यहां एक शख्स नवजात बच्चे को जमीन में जिंदा दफनाते हुए देखा गया।

दरअसल दिल को झकझोर कर रख देने वाली ये घटना पुणे के अंबोडी गांव में गुरुवार को देखने मिली। यहां एक शख्स दो दिन के नवजात बच्चे को जमीन में खड्डा खोद जिंदा दफना रहा था। उसने जब बच्चे को गड्डे में डाल ऊपर से मिट्टी डाली तो वह रोने लगा। बच्चे की आवाज सुन आसपास के लोग आ गए। लोगों को अपनी ओर आता देख आरोपी शख्स वहां से भाग गया।

बच्चे को इस हालत में देख गांव वाले घबरा गए। उन्होंने उसे तुरंत गड्डे से बाहर निकाला। इसके बाद लोकल पुलिस को सूचित किया गया। अंत में बच्चे को स्थानीय लोगों और पुलिस की मदद से सरकारी अस्पताल में भर्ती किया गया। इस पूरी घटना की जांच कर रहे सासवड़ पुलिस स्टेशन के इंस्पेक्टर डीएस हाके बताते हैं कि फिलहाल पुलिस आरोपी की तलाश कर रही है।

दरअसल वहां कुछ सीसीटीवी कैमरे भी लगे थे जिनके फुटेज पुलिस ने अपने कब्जे में ले लिए हैं। साथ ही उस अज्ञात आरोपी के खिलाफ केस भी दर्ज किया गया है। फिलहाल यह बच्चा कौन है उसकी पहचान नहीं हो पाई है। गांव में जिस शख्स ने भी इस घटना के बारे में सुना वह हिल गया। आखिर वह कैसे शैतान लोग होंगे जो दो दिन के मासूम को जिंदा दफनाना चाहते थे।

बताते चलें कि इस तरह की कोई पहली घटना नहीं है। इसके पहले बुधवार को ही पुणे में इससे मिलता जुलता मामला सामने आया था। यहां के वाखड़ इलाके में एक चौराहे के पास कूड़े के ढेर में कोई एक दिन की मसूम बच्ची को छोड़ गया था। ऐसे में लोगों ने नवजात को हॉस्पिटल में एडमिट करवाया था।

इस तरह की घटनाएं जब सामने आती है तो बहुत दुख होता है। आज के जमाने में भी लोग बच्चों को इस तरह से छोड़ देते हैं। ये शर्मनाक बात है। यदि आपको इस तरह की कोई घटना की जानकारी मिलती है तो तुरंत उस बच्चे की मदद करे। आपकी एक पहल से एक मसूम को नई जिंदगी मिल सकती है।

SHARE