दिवाली 2020: दिवाली में इन उपहारों का नहीं करना चाहिए लेन-देन, शात्रों में मानी गई हैं अशुभ

कुछ ही दिनों में दिवाली आने वाली है. इस बार पूरे भारत में 14 नवंबर को दिवाली का त्योहार मनाया जाएगा. हर साल कार्तिक मास की अमावस्या के दिन यह त्योहार मनाया जाता है. इस दिन माता लक्ष्मी को खुश करने के लिए लोग तरह-तरह की पूजा-अर्चना करते हैं. दिवाली पर लोग एक-दूसरे के घर जाते हैं और उन्हें मिठाई व गिफ्ट्स भी देते हैं.

हालांकि, कई बार अनजाने में लोग एक-दूसरे को कुछ ऐसे उपहार दे बैठते हैं, जिसका नकारात्मक प्रभाव गिफ्ट देने वाले के साथ-साथ गिफ्ट लेने वाले पर भी पड़ता है. शास्त्रों में कुछ उपहारों के जिक्र है, जो इस शुभ दिन पर वर्जित और अशुभ माने जाते हैं. कौन से हैं वो गिफ्ट्स? आइये जानते हैं..

अर्जुन को उपदेश देते भगवान श्री कृष्ण का चित्र

आपने कई घरों में देखा होगा कि लोग दीवारों पर भगवान कृष्ण और अर्जुन को कुरुक्षेत्र के युद्ध में गीता का उपदेश देते हुए का चित्र लगाते हैं. वैसे तो इस चित्र में कोई दिक्कत नहीं है, लेकिन दिवाली के समय इस चित्र को न किसी को उपहार के रूप में भेंट करना चाहिए और न ही किसी से लेना चाहिए. यह अशुभ माना जाता है.

उग्र अवस्था में देवी-देवता

कई बार हम लोगों को उपहार के तौर पर देवी-देवताओं की प्रतिमा देते हैं, लेकिन ध्यान देने वाली बात यह है कि कुछ खास तरह की प्रतिमाओं को उपहार में ही देना चाहिए. वैसे तो देवी-देवताओं की प्रतिमा या फिर चित्र को उपहार में देना शुभ माना जाता है, लेकिन जिस चित्र में देवता उग्र अवस्था में या युद्ध करते हुए दिखाई दें, उसे किसी को गिफ्ट करने से बचना चाहिए.

उपहार के रूप में न दें ये चीजें

इतना ही नहीं, शास्त्रों में ऐसे उपहार जैसे रामायण, महाभारत ग्रंथ, जंगली जानवर, अकाल और सूर्यास्त की तस्वीरों को भी न तो किसी को उपहार के रूप में भेंट करना चाहिए और न ही किसी से लेना चाहिए. इस तरह की चीजें अशुभ मानी जाती हैं.

इस अवस्था में न दें माता लक्ष्मी की फोटो

दिवाली के दिन माता लक्ष्मी की पूजा होती है. इस दिन कई लोग एक-दूसरे को गिफ्ट में माता लक्ष्मी की प्रतिमा या फिर तस्वीर देते हैं. हालांकि, इस उपहार में कोई खराबी तो नहीं है, लेकिन ध्यान देने वाली बात यह है कि जब भी आप किसी को माता लक्ष्मी की प्रतिमा दें तो हमेशा ऐसी प्रतिमा का चुनाव करें, जिसमें माता लक्ष्मी बैठी हुई हों. खड़ी अवस्था में माता लक्ष्मी की फोटो को गिफ्ट करने से बचना चाहिए. दरअसल, लक्ष्मीजी का घर में बैठना अथवा स्थिर अवस्था में ही रहना शास्त्रों में शुभ माना गया है.

कांटेदार पौधों से बनाएं दूरी

इसके साथ ही दिवाली पर उपहार में किसी को कांटेदार पौधे जैसे कैक्टस या बोनसोई नहीं देने चाहिए. ये गिफ्ट जो दे रहा है उसके लिए भी और जो ले रहा है उसके लिए भी अशुभ फल लेकर आता है. देना ही है तो आप कोई दूसरा पौधा उपहार में दे सकते हैं.

ये चित्र भी है अशुभ

इसके अलावा नीचे की तरफ गिरते हुए झरने का पानी वाला चित्र भी किसी को दिवाली के मौके पर उपहार के रूप में भेंट नहीं करना चाहिए और न ही किसी से इस तरह का चित्र लेना चाहिए. यह हर हाल में अशुभ माना जाता है.

पढ़ें दिवाली से पहले यूपी के मुख्यमंत्री ने दिया बड़ा तोहफा, अब बिना डर के जा सकेंगे पार्लर

SHARE