बाबा का ढाबा : जिसने देशभर में कराया मशहूर, उसी ने लूटा बाबा को, थाने पहुंचें कांता प्रसाद

सोशल मीडिया आज के समय में एक ऐसा साधन है जो किसी को भी पलभर में फर्श से अर्श पर पहुंचाने का माद्दा रखता है. बीते दिनों भारत में सोशल मीडिया की ताकत का एक ताज़ा उदाहरण देखने को मिला था. जहां दिल्ली के ‘बाबा का ढाबा’ को चलाने वाले दंपति ने इसका स्वाद चखा था, लेकिन अब अचानक से उनके दिन बदलने लगे हैं. सोशल मीडिया की मदद से फ़ेमस हुए इस दंपत्ति के साथ अब अचानक से एक अनहोनी हुई है और इसकी उम्मीद किसी को भी नहीं थी. बता दें कि जिस गौरव वासन नाम के शख़्स ने बाबा के ढाबा का वीडियो बनाकर सोशल मीडिया पर लोगों से उनके हित में मदद के हाथ उठाने की बात कही थी उसके ख़िलाफ़ ही शनिवार को ढाबे के मालिक कांता प्रसाद ने शिकायत दर्ज कराई है.

दिल्ली के मालवीय नगर में स्थित ‘बाबा का ढाबा’ के मालिक कांता प्रसाद ने उनके और उनकी पत्नी की मदद के लिए जुटाए गए धन को लेकर गौरव पर कथित रूप से इसमें हेराफेरी और धोखाधड़ी का आरोप लगाया है. आपको जानकारी के लिए इस बात से अवगत करा दें कि बाबा का ढाबा का एक वीडियो बनाकर गौरव वासन ने 7 अक्टूबर को सोशल मीडिया पर वायरल किया था, जहां कांता प्रसाद ने अपने तंगहाली का किस्सा सुनाया था और यह वीडियो जमकर वायरल हुआ था. बॉलीवुड के कई सितारों ने भी इस वीडियो को देखा था और लोगों से दंपति की मदद की गुहार लगाई थी. इस वीडियो के वायरल होने के बाद से ढाबे पर ग्राहकों की संख्या में तेजी से इजाफा हुआ था और लोगों ने दंपति की बेहतर जिंदगी के लिए आर्थिक दान भी दिया था.

एक महीने के भीतर ही बदल गया सब कुछ…

ढाबा चलाने वाले दंपति की जिंदगी में वीडियो वायरल होने के बाअद से ढेर सारे बदलाव आए थे, हालांकि अब एक माह के भीतर ही सब कुछ बदल गया है. गौरव के ख़िलाफ़ बाबा का ढाबा के मालिक कांता प्रसाद ने
धोखाधड़ी, बदमाशी, विश्वास का आपराधिक उल्लंघन और आपराधिक साजिश जैसे गंभीर आरोप लगाए हैं. कांता प्रसाद का यह भी आरोप है कि गौरव द्वारा जानबूझकर अपनी पारिवारिक बैंक खातों में पैसा डलवाया गया है.

गौरव ने बैंक स्टेटमेंट के तहत दी सफाई…

दूसरी ओर गौरव वासन ने भी इस मामले में सफाई दे दी है. उन्होंने बैंक स्टेटमेंट जारी कर कांता प्रसाद द्वारा लगाए गये आरोपों को ख़ारिज किया है. इस संबंध में गौरव का कहना है कि, ‘’उन्होंने सारा पैसा प्रसाद के अकाउंट में ट्रांसफर कर दिया है. उन्होंने फेसबुक पर लेन-देन की तीन रसीदें भी साझा की जो 27 अक्टूबर की है। 1,00,000 रुपये और 2,33,000 रुपये के दो चेक और 45,000 रुपये के बैंक पेमेंट की एक रसीद थी. उन्होंने आगे यह कहा कि ‘यह तीन दिनों में एकत्रित धनराशि थी.’ वासन ने फेसबुक पर एक बैंक स्टेटमेंट तहत तीन दिनों में जमा कुल धनराशि लगभग 3.5 लाख रुपये को भी दर्शाया है.”

SHARE