सोनू सूद ने फिर जीत लिया लोगो का दिल, पढ़ाई ना छूट जाए इसलिए पूरे गांव की लड़कियों को भेजी साइकिल

बॉलीवुड अभिनेता सोनू सूद ने लॉकडाउन के दौरान प्रवासी मजदूरों की बहुत मदद की है। उन्होंने हजारों लोगों को उनके घर पहुंचाने के साथ-साथ उनकी आर्थिक रूप से भी मदद की है। यह सब करने के बाद लोगों का उन पर इतना विश्वास बढ़ गया है कि लोग सरकार को छोड़कर अब उन्हीं से मदद की गुहार लगाने लगे हैं। अनलॉक के बाद लोगों की जिंदगी फिर से पटरी पर तो लौट आई लेकिन अब भी लोगों ने उनसे मदद मांगना नहीं छोड़ा। हजारों लोग सोशल मीडिया पर उनसे अब भी मदद मांग रहे हैं। वही सोनू सूद भी किसी भी व्यक्ति को निराश नहीं कर रहे। हाल ही में सोनू सूद ने एक गांव की लड़कियों के लिए साइकिल भेज कर एक बार फिर सबका दिल जीत लिया है।

15 किलोमीटर चलकर जाती थी स्कूल

पिछले दिनों ट्विटर पर सोनू सूद को टैग करते हुए एक व्यक्ति ने लिखा कि, उत्तर प्रदेश के मिर्जापुर और सोनभद्र जिले के गांव में बहुत सी लड़कियां अपनी पढ़ाई पूरी नहीं कर पा रही है। जिसकी वजह यह है कि, उनका स्कूल करीब 15 किलोमीटर दूर है। वही स्कूल का रास्ता ऐसे जंगल से होकर गुजरता है जोकि नक्सलियों का अड्डा है। ऐसे में लड़कियों को उनके परिवार के लोग वहां से पैदल नहीं निकलने देते। वहीं गांव की 35 लड़कियों में से कुछ ही लड़कियों के पास साइकिल है। इसके बाद उस व्यक्ति ने सोनू सूद से मदद मांगते हुए कहा कि, अगर वह गांव की सभी लड़कियों को साइकिल दे देते हैं तो उन्हें उनकी पढ़ाई नहीं छोड़नी पड़ेगी।

सभी लड़कियों के पढ़ने का दिया आश्वासन

सोनू सूद ने संतोष नाम के व्यक्ति की ट्वीट को देखने के बाद रिट्वीट किया। उन्होंने उसे आश्वासन दिया कि, गांव की सारी लड़कियां अपनी पढ़ाई जरूर पूरी करेंगी। सोनू सूद ने ट्वीट करते हुए लिखा कि, गांव की हर लड़की के पास साइकल होगी और हर लड़की पढ़ेगी। उन्होंने इसके बाद संतोष से यह भी कहा कि, वह सभी परिवार वालों को बता दें कि साइकिले पहुंच रही हैं, वे लोग केवल चाय तैयार रखें। सोनू के इस ट्वीट के बाद फैंस उनकी बहुत सराहना कर रहे हैं। कई लोग तो उन्हें हीरो और सुपर हीरो भी कह कर बुला रहे हैं।

लोगों ने बताया था पब्लिसिटी स्टंट

पिछले दिनों सोशल मीडिया पर सोनू सूद को लोगों की मदद करने का नाटक करने के लिए ट्रोल किया गया था। लोगों का कहना था कि यह केवल उनकी पीआर टीम का काम है। पीआर टीम उनकी पब्लिसिटी करने के लिए उनसे लोगों की मदद करने का नाटक करवा रही है। जिन लोगों की भी मदद की गई है वह सारे फेक अकाउंट है। जिन्हें केवल उनकी पीआर टीम ने बनाया है और मदद का दिखावा करने के बाद उन सभी अकाउंट को डिलीट भी कर दिया गया। हालांकि इस मामले पर सोनू सूद ने कोई टिप्पणी नहीं की है।

SHARE