पित्तल के बर्तन के चमत्कारी फायदे, जानिये घरों में पित्तल के बर्तन क्यों है ज़रूरी

शास्त्रों में पीतल की धातु को शुभ माना जाता है और पुराने समय में लोग इसी धातु के बर्तन का प्रयोग किया करते थे। ऐसा माना जाता है कि पीतल की धातु के बर्तनों में खाना खाने से सेहत सही बनीं रहती है और शरीर को तेज प्राप्त होता है। सनातन धर्म में इस धातु का जिक्र करते हुए लिखा गया है कि पूजा-पाठ व धार्मिक कर्म में भी पीतल के बर्तन का ही उपयोग करना चाहिए। यही वजह है कि पूजा के दौरान इस धातु के ही बर्तन का अधिक प्रयोग किया जाता है और कर्मकांड पीतल की धातु से ही बना होता है।

इन जगहों पर किया जाता है पीतल के बर्तन का प्रयोग

  • विवाह के दौरान वेदी पढ़ने हेतु व कन्यादान के समय पीतल के कलश का ही प्रयोग किया जाता है।
  • भगवान धन्वं‍तरि को भी यही धातु प्रिय है। इसलिए उनकी पूजा के लिए इसी धातु के बर्तन का प्रयोग होता है।
  • शिवलिंग पर दूध चढ़ाने के लिए पीतल के कलश को उत्तम माना गया है।
  • बगलामुखी देवी के अनुष्ठानों में केवल पीतल के बर्तन का ही इस्तेमाल किया जाता है।

  • ज्योतिष शास्त्र के अनुसार देवगुरु बृहस्पति को शांति करने हेतु पीतल का उपयोग करना उत्तम होता है और इस धातु का दान करना शुभ फल देता है।
  • पीतल के बर्तन को घर में रखना भी शुभ होता है। दरअसल इस धातु में खाना खाने से शरीर आरोग्य हो जाता है। इसके अलावा पीतल के गिलास में पानी पीने से आंखों की रोशनी सही बनी रहती है।

पीतल से जुड़े हैं चमत्कारी टोटके

पीपल की धातु से कई सारे टोटके भी जुड़े हुए हैं, जो कि काफी चमत्कारी हैं। इसलिए आप नीचे बताए गए टोटकों को भी जरूर करें।

1.भाग्योदय के लिए करें ये टोटका

भाग्योदय हेतु आप इस टोटके को करें। पीतल के इस टोटके से किस्मत चमक जाती है। आप एक पीतल की कटोरी लेकर उसके अंदर चना दाल भिगोकर रख दें। रातभर इसे अपने सिरहाने के पास रखें व सुबह चना दाल पर गुड़ रखकर, इसे गाय को खिला दें। ये उपाय पांच दिनों तक करें।

2. धन की होगी बरकत

धन बरकत के लिए आप ये उपाय करें। इस उपाय के तहत पूर्णिमा के दिन भगवान श्रीकृष्ण की पूजा करें और उन्हें शुद्ध घी से भरा पीतल का कलश अर्पित करें। ये टोटका करने से धन की प्राप्ति होगी।

3 .मां की बनती है कृपा

लक्ष्मी मां की कृपा पाने के लिए पीपल की धातु से बने दीए का प्रयोग करें और मां के सामने इस दीए में शुद्ध घी का दीपक जलाएं।

4. दुर्भाग्य हो दूर

दुर्भाग्य को दूर करने के लिए पीतल की कटोरी में दही भरकर, इस कटोरी को पीपल के पेड़ के नीचे रख दें। ये उपाय करने से दुर्भाग्य दूर हो जाएगा। इसके अलावा आप पीतल के कलश में चना दाल भरकर इसे विष्णु मंदिर में चढ़ा आएं। ये उपाय करने से भी आपकी किस्मत चमक जाएगी।

तो ये हैं पीतल की धातु से जुड़े कुछ उपाय जिन्हें आप जरूर करके देखें।

SHARE