धर्मेंद्र के घर में कदम नहीं रख सकती थी हेमा मालिनी और उनकी बेटियां, शादी के बाद पहली पत्नी ..

बॉलीवुड के दिग्गज अभिनेता धर्मेंद्र और उनकी दूसरी पत्नी यानी कि ‘ड्रीम गर्ल’ हेमा मालिनी हिंदी सिनेमा के सबसे पसंदीदा कपल के रूप में देखें जाते हैं. देश-दुनिया में आज इस जोड़े को जाना-पहचाना जाता है. वहीं दोनों के बच्चों ने भी फिल्म इंडस्ट्री में ख़ूब नाम कमाया है. आज चाहे इस परिवार की मिसालें दी जाती हो, लेकिन एक समय ऐसा भी था जब धर्मेंद्र के घर में हेमा मालिनी और उनकी दोनों बेटियों ईशा-अहाना की धर्मेंद्र के घर में नो-एंट्री थी. लेकिन आगे जाकर धर्मेंद्र के घर में एंट्री लेने वाली ईशा देओल हेमा के परिवार की ओर से पहली सदस्य बनी.

19 की उम्र में धर्मेंद्र ने की थी पहली शादी…

इस बात से हर कोई भली-भांति परिचित है कि धर्मेंद्र और हेमा मालिनी ने अपने फ़िल्मी करियर के दौरान विवाह कर लिया था, हालांकि यह बात बहुत कम लोग जानते हैं कि धर्मेंद्र की यह दूसरी शादी थी. इससे पहले धर्मेंद्र ने प्रकाश कौर के साथ शादी की थी, जब वे 19 साल के थे तब ही वे विवाह बंधन में बंध गए थे. सनी देओल और बॉबी देओल प्रकाश कौर और धर्मेंद्र की ही संतानें हैं.

वहीं ईशा देओल-अहाना धर्मेंद्र-हेमा की बेटियां हैं. धर्मेंद्र ने दूसरी शादी हेमा मालिनी से साल 1980 में की थी. ऐसे में दूसरी शादी के बाद धर्मेंद्र के घर में हेमा और उनकी बेटियों की एंट्री मुश्किल हो पड़ी थी. क्योंकि धर्मेंद्र पहली से ही विवाहित थे और उनके बॉबी और सनी के अलावा विजेता और अजीता सहित कुल 4 बच्चे थे.

सनी की मदद से ईशा ने तोड़ी परंपरा…

मीडया रिपोर्ट्स में इस बात का दवा किया गया है कि अदाकारा हेमा मालिनी की बायोग्राफी ‘हेमा मालिनी: बियॉन्ड द ड्रीम गर्ल’ में इससे जुड़ा एक किस्सा साझा किया गया है. ‘हेमा मालिनी: बियॉन्ड द ड्रीम गर्ल’ में इस बात का उल्लेख है कि धर्मेंद्र के घर में हेमा और उनके परिवार का कोई भी सदस्य नहीं जा सकता था. लेकिन वर्षों तक चली यह परंपरा आखिरकार साल 2015 में आकर टूट गई और यह परंपरा तोड़ी हेमा मालिनी की बेटी ईशा देओल ने अभिनेता सनी देओल की मदद से. ख़ास बात यह है कि हेमा मालिनी के परिवार की ओर से धर्मेंद्र के घर में प्रवेश करने वाली ईशा देओल पहली सदस्य बनी थी.

ईशा ने सनी देओल को किया फोन…

साल 2015 में अभय देओल के पिता अजीत देओल का स्वास्थ्य कुछ ठीक नहीं था. उनकी तबीयत बिगड़ गई थी और इस दौरान अजीत घर पर ही थे. बताया जाता है कि ईशा और अहाना अपने अजीत को बहुत प्यार करती थी, वहीं अजीत भी दोनों को बेहद चाहते थे और ऐसे में ईशा देओल किसी भी हाल में अजीत से मिलना चाहती थी. ईशा के लिए उनसे मिलना थोड़ा मुश्किल लगा रहा था क्योंकि अजीत अस्पताल में भर्ती नहीं थे, ऐसे में आनन-फानन में ईशा ने अपने सौतेले भाई सनी देओल को फोन मिलाया. इसके बाद सनी खुद ईशा को अजीत देओल से मिलाने के लिए लेकर गए.

ख़ास बात यह भी है कि इस दौरान ही पहली बार ऐसा भी हुआ जब ईशा ने अपनी सौतेली माँ प्रकाश कौर से भी मुलाक़ात की. इसके आगे जो हुआ उसका अंदाजा शायद ईशा को भी नहीं था. सनी देओल की माँ प्रकाश कौर को देखते ही ईशा ने उनके पैर छूए. बदले में प्रकाश कौर ने भी ईशा देओल पर प्यार लूटाया और उन्हें ढेर सारा आशीर्वाद दिया. इस तरह धर्मेंद्र के घर में सनी देओल की मदद से कदम रखकर ईशा ने वर्षों से चली आ रही इस अप्रिय परंपरा को तोड़ दिया.

हेमा ने हमेशा किया रिश्तों का सम्मान…

2019 में एक साक्षात्कार के दौरान बॉलीवुड की ‘ड्रीम गर्ल’ हेमा मालिनी ने इस बात से पर्दा उठाया था कि वे पहली बार में ही धर्मेंद्र को दिल दे बैठी थी. उन्होंने धर्मेंद्र को अपना हमसफ़र चुनने का मन बना लिया था, हालांकि इस दौरान उन्होंने धर्मेंद्र की पहली पत्नी और उनके परिवार का भी सम्मान बनाए रखा. हेमा ने बताया था कि, मैं धर्मेंद्र से शादी कर उनकी पहली शादी और उनके परिवार के बीच में खलल नहीं पैदा करना चाहती थी और ऐसे में हेमा ने सदा ही रिश्तों की मर्यादाओं को देखते हुए प्रकाश कौर उनके सभी बच्चों से भी दूरी बनाए रखी. साथ ही हेमा मालिनी ने कहा था कि, मेरे साथ धरम जी की दूसरी शादी थी, लेकिन इस दौरान मैंने उन्हें कभी भी उनकी पहली पत्नी और उनके बच्चों से जुदा नहीं किया.

SHARE