मंदिर में नमाज पढ़ने वाला फैजल निकला कोरोना पॉजिटिव, जज ने एंबुलेंस के पास जाकर लिया बयान

मंदिर में नमाज अदा करने वाला फैजल खान कोरोना पॉजिटिव पाया गया हैं। मंगलवार को इसे गिरफ्तार किया गया था। तहसील छाता परिसर में स्थित न्यायिक मजिस्ट्रेट स्वाति सिंह की अदालत में इसकी पेशी हुई थी और जज ने इसे 14 दिन की न्यायिक हिरासत में भेजा था। वहीं इनका कोरोना टेस्ट भी करवाया गया था और इनकी रिपोर्ट पॉजिटिव आई है। पुलिस ने इन्हें निजी अस्पताल में भर्ती करवा दिया है, जहां पर इनका इलाज चल रहा है।

एसपी देहात श्रीशचंद्र ने बताया कि मंगलवार को जिला अस्पताल में फैजल खान का स्वास्थ्य परीक्षण कराया गया था। इनका कोरोना टेस्ट भी हुआ था। जिसकी रिपोर्ट पॉजिटिव आई है। कोविड-19 के नियमों के तहत इन्हें एंबुलेंस से न्यायिक मजिस्ट्रेट की अदालत में पेश किया गया और न्यायिक मजिस्ट्रेट स्वाति सिंह ने एंबुलेंस के पास आकर फैजल का बयान लिया। जिसके बाद इन्हें 14 दिन की हिरासत में भेज दिया गया।

फैजल खान को दिल्ली के शाहीन बाग ओखला से गिरफ्तार किया गया था। जिसके बाद इन्हें मथुरा लगाया गया था। जहां पर इनका टेस्ट लिया गया था। वहीं जो पुलिस वाले इन्हें लेकर आए थे, उन्हें होम क्वारंटीन किया गया है और उनका भी टेस्ट लिया गया है।

गौरतलब है कि नंदबाबा मंदिर परिसर में नमाज अदा करने के आरोपी में दिल्ली निवासी फैजल खान को गिरफ्तार किया गया है। फैजल खान ने नंदबाबा मंदिर के परिसर में नमाज पढ़ी थी। नमाज पढ़ते समय फैजल ने अपनी फोटो भी खींचवाई थी। जिसे फैजल ने ही सोशल मीडिया पर शेयर किया था।

फैजल के मंदिर परिसर में नमाज पढ़ने को लेकर काफी विवाद हुआ था और इनके खिलाफ केस भी दर्ज किया गया था। जिसके बाद मुथरा पुलिस ने इन्हें दिल्ली से गिरफ्तार कर लिया। वहीं जिस मंदिर में इन्होंने नमाज पढ़ी थी। उस मंदिर का शुद्धिकरण भी किया गया है। कई धार्मिक गुरुओं ने फैजल के मंदिर में नमाज पढ़ने को गलत करार दिया था।

SHARE