गिरफ़्तारी के बाद और बढ़ी अर्नब की मुश्किलें, मृतक की पत्नी ने लगाए ये गंभीर आरोप

मुंबई : देश के जाने-माने पत्रकार और रिपब्लिक टीवी के एडिटर-इन चीफ अर्नब गोस्वामी को साल 2018 से जुड़ें एक मामले में बुधवार सुबह पुलिस ने उनके आवास से गिरफ़्तार कर लिया. वरिष्ठ पत्रकार अर्नब गोस्वामी पर कथित रूप से एक इंटीरियर डिजाइनर को खुदकुशी के लिए उकसाने का आरोप है और इस पर संज्ञान लेते हुए पुलिस ने आज सुबह इस बड़ी कार्रवाई को अंजाम दिया. अब इस मामले में मृतक इंटीरियर डिजाइनर अन्वय नाइक की पत्नी अक्षता नाइक ने अर्नब की मुश्किलों में और अधिक इज़ाफ़ा कर दिया है. अक्षता नाइक ने अर्नब पर कई गंभीर आरोप लगाए हैं. ‘मायानगरी’ मुंबई में अक्षता नाइक ने प्रेस कॉन्फ्रेंस के माध्यम से अर्नब पर कई आरोप लगाए और इस दौरान उनकी बेटी भी मौजूद रही. दोनों ने ही मुंबई पुलिस के इस कदम की सराहना की है.

अर्नब पर बरसीं अक्षता…

मुंबई में प्रेस कॉन्फ्रेंस के दौरान मृतक अन्वय नाइक की पत्नी अक्षता नाइक ने अर्नब पर जमकर निशाना साधा. उन्होंने अर्नब पर कई गंभीर आरोप लगाते हुए कहा कि, ”मेरे पति ने सुसाइड नोट छोड़ा था, उसके बाद भी कोई कार्रवाई नहीं की गई. इस सुसाइड नोट में फिरोज शेख, अर्नब गोस्वामी के स्पष्ट नाम थे.” अक्षता ने आगे कहा कि, जहां अर्नब पर 83 लाख रुपये बकाया है तो वहीं फिरोज पर चार करोड़ रुपये बकाया है.” इस दौरान मृतक इंटीरियर डिजाइनर की पत्नी ने अर्नब का स्टेटमेंट ज्वांइट सीपी के आफिस में दर्ज कराये जाने के संबंध में भी सवाल खड़े किए. इस पर मृतक की पत्नी का कहना रहा कि, ”अर्नब को अलीबाग आकर स्टेटमेंट रिकॉर्ड दर्ज कराना था, इतनी सहूलियत क्यों दी गई?

धमकी का भी आरोप…

अक्षता नाइक ने रिपब्लिक टीवी के एडिटर-इन चीफ अर्नब गोस्वामी पर धमकी देने का गंभीर आरोप भी लगाया. उन्होंने कहा कि, अर्नब की ओर से उन्हें कई बार धमकी दी गई है. जब रुपये मांगे तो कहा कि, ‘’तुम्हारी लड़की का करियर बर्बाद कर दूंगा. घर पर धमकी भरे फोन आते थे और आते जाते-लोग हमारा पीछा करते थे.’’

जानिए क्या है पूरा मामला…

मामला साल 2018 से जुड़ा हुआ है. अर्नब पर कथित रूप से यह आरोप है कि उन्होंने मृतक इंटीरियर डिजाइनर अन्वय नाइक को खुदकुशी के लिए उकसाया था. अलीबाग में अपने घर में मई 2018 में अन्वय और उनकी माँ ने आत्महत्या कर ली थी. आत्महत्या से पहले अन्वय ने एक सुसाइड नोट भी लिखा था और उसमें उन्होंने आत्महत्या के लिए अर्नब सहित तीन लोगों को जिम्मेदार ठहराया था. सुसाइड नोट में पाया गया कि अर्नब ने अन्वय को उनके काम के 83 लाख रु नहीं चुकाए हैं. बताया गया कि अन्वय नाइक ने अर्नब के ऑफिस का काम किया था. पुलिस ने इस केस को अपने हाथों में लिया, हालांकि सुसाइड नोट में पाए गए नामों पर कोई कारर्वाई नहीं हुई और केस बंद कर दिया गया. लेकिन मृतक की पत्नी अक्षता ने हार नहीं मानी और उनकी मेहनत के बलबूते आज पुलिस ने अर्णब पर बड़ी कार्रवाई की.

SHARE