महबूबा ने फिर अलापा 370 की बहाली का राग, कहा- डकैतों ने हमसे विशेष राज्य का दर्जा छीन लिया

जम्मू-कश्मीर की पूर्व मुख्यमंत्री महबूबा मुफ्ती ने एक बार फिर से प्रदेश में अनुच्छेद 370 की बहाली बात की है. ऐसे में एक बार फिर से महबूबा के देश विरोधी तेवर भी सामने आए हैं. एक बार फिर से अपने जम्मू दौरे के दौरान महबूबा ने अनुच्छेद 370 का राग अलापा है.

जम्मू के दौरे के दौरान महबूबा मुफ्ती ने अपनी पार्टी पीडीपी के ऑफिस में कार्यकर्ताओं को संबोधित किया. इस दौरान उन्होंने कहा कि, ”भारत के संविधान ने हमें अलग झंडा दिया है और हम उसे वापस हासिल करना चाहते हैं.” वहीं इस दौरान महबूबा केंद्र सरकार पर भी बरसती हुई नज़र आई. केंद्र पर हमला करते हुए पूर्व मुख्यमंत्री ने कहा कि, डकैतों ने रात को हमारे विशेष राज्य का दर्जा हमसे छीन लिया. महबूबा मुफ्ती ने केंद्र सरकार पर हमला जारी रखते हुए कहा कि,
”उन्हें सूद समेत 370 और 35A को वापस लौटाना होगा.”

अगस्त 2019 से नज़रबंद थी महबूबा…

 

आपको जानकारी के लिए बता दें कि जब मोदी सरकार द्वारा अगस्त 2019 में जम्मू-कश्मीर से अनुच्छेद 370 का खात्मा किया गया था, इसके बाद से ही प्रदेश की पूर्व सीएम महबूबा नजरबंद थी. 14 माह से अधिक की अवधि तक नजरबंद रहने के बाद महबूबा मुफ्ती को अक्टूबर माह में ही रिहा किया गया है. उनकी रिहाई के बाद से ही घाटी में राजनीतिक गतिविधियों में भी इज़ाफ़ा हुआ है. उनकी रिहाई के बाद ही प्रदेश के प्रमुख नेताओं ने गुपकार समझौते के लिए बैठक की थी.

पहली बैठक के कुछ दिनों बाद ही इसे लेकर दूसरी बैठक भी हुई थी और दोनों ही बैठक में कई दलों के नेताओं के साथ महबूबा भी शामिल हुई थी. इस दौरान नेशनल कॉन्फ्रेंस के नेता और जम्मू-कश्मीर के पूर्व मुख्यमंत्री फारूक अब्दुल्ला ने भी इसकी बहाली की बात कही थी और उन्होंने कहा था कि हम अपना अधिकार वापस चाहते हैं. महबूबा और फारूक लगातार अपने बयानों के कारण भाजपा नेताओं के निशाने पर हैं. इससे पहली महबूबा ने कहा था कि वे कश्मीर के झंडे के अल्वा किसी दूसरे झंडे को हाथ नहीं लगाएगी. उनके इस बयान पर जमकर बवाल मचा था.

SHARE