दिवाली पर घर में भूलकर भी न रखें ये 7 चीजें, गरीबी कभी पीछा नहीं छोड़ेगी

हिंदू धर्म में दिवाली सबसे बड़ा त्योहार होता है। मां लक्ष्मी के इस पर्व को हर कोई बड़ी धूमधाम से मनाता है। इस दिन मां लक्ष्मी की पूजा का भी विशेष महत्व होता है। ऐसा कहा जाता है कि दिवाली पर यदि मां लक्ष्मी आप से खुद हो गई तो आपको अभी धन की कोई कमी नहीं रहती है। हालांकि दिवाली पर कुछ विशेष चीजों का ख्याल भी रखना पड़ता है वरना लक्ष्मीजी नाराज हो जाती है।

दरअसल दिवाली के दौरान आपको अपने घर में कुछ खास चीजों को नहीं रखना चाहिए। ये चीजें घर में रहती है तो मां लक्ष्मी नाराज हो जाती है। इन चीजों से घर में नेगेटिव एनर्जी फैलती है। नतिजन घर में अशान्ति, दुख, गरीबी इत्यादि चीजें डेरा जमा लेती है। इसलिए इन चीजों को घर में भूलकर भी न रखें।

टूटे हुए बर्तन: घर में रखे टूटे फूटे बर्तनों को दिवाली के पहले ही बाहर निकाल देना चाहिए। ये घर में फालतू पड़े रहते हैं और इनमें गंदगी भी जल्दी लगती है। ये सेहत के लिहाज से तो खराब है ही लेकिन मां लक्ष्मी भी इससे प्रसन्न नहीं रहती है।

खंडित मूर्तियां: यदि आपके घर कोई टूटी-फूटी मूर्ति या भगवान की खंडित प्रतिमा हो तो उसे घर में भूलकर भी न रखें। इन्हें रखना एक अपशगुन होता है। इससे घर में कई दिक्कतें आ सकती हैं। इसलिए इन्हें घर से निकाल दें। भगवान की मूर्ति खंडित हो जाए तो उसे नदी में प्रवाहित कर दें।

टूटा आईना: घर के अंदर कभी भी टूट आईना या कांच नहीं रखना चाहिए। इससे बहुत अधिक नकारात्मक ऊर्जा प्रवाहित होती है। जहां नेगेटिव एनर्जी ज्यादा होती है वहां लक्ष्मीजी पधारना पसंद नहीं करती है।

बंद घड़ी: घर के अंदर भूलकर भी बंद पड़ चुकी घड़ी न रखें। इससे परिवार में लड़ाई झगड़े बढ़ते हैं। घर की उन्नति भी नहीं होती है। आपका बुरा समय जल्दी आ जाता है।

टूटी फोटोफ्रेम: घर में टूटी फोटोफ्रेम या कोई कटी-फटी तस्वीर रखना भी शुभ नहीं होता है। इससे घर में वास्तु दोष उत्पन्न हो सकता है। ऐसे घर मां लक्ष्मी अपनी कृपा नहीं बरसाती है।

टूटा दरवाजा: टूटे, जंग लगे या गंदे दरवाजे घर में नहीं होना चाहिए। आप उन्हें या तो रिपेयर करवा लें या नया दरवाजा लगवा लें। अन्यथा आपके घर वास्तु दोष बढ़ जाता है।

टूट फूटा फर्नीचर: घर में टूटे फूटे फर्नीचर रखने से भी बचना चाहिए। इससे आपके बनते काम भी बिगड़ जाते हैं। वहीं मां लक्ष्मी भी ऐसे घरों से दूर ही रहती हैं।

SHARE