योगी सरकार ने शुरू किया नया अभियान, सडकों और ठेकों पर शराब पीने वालों की अब खैर नहीं

उत्तर प्रदेश सरकार अपने राज्य से अपराध पूरी तरह से खत्म करने में लगी हुई है। इसके लिए सरकार की ओर से कई सारे अभियान भी चलाए जा रहे हैं। जो कि सफल साबित हो रहे हैं। वहीं अब उत्तर प्रदेश सरकार ने एक नया अभियान शुरू किया है। जिसका मकसद शराबियों पर लगाम लगाने का है। उत्तर प्रदेश की राजधानी लखनऊ की सड़कों को सुरक्षित बनाने के लिए ये अभियान शुरू किया गया है।

इस अभियान की शुरुआत शनिवार से की गई है। जो कि दो महीनों तक चलाया जाना है। इस अभियान के तहत लखनऊ की सड़कों और ठेकों पर शराब, वाइन या बियर पीने वालों पर लगाम लगाई जाएगी। शहर के सभी शराब के ठेकों पर सीसीटीवी इंस्टॉल किए जाएंगे और इनकी मदद से कार में शराब पीने वालों पर नजर रखी जाएगी। जो लोग कार में शराब पीएंगे उनके खिलाफ कार्रवाही की जाएगी।

जारी किया नंबर


अगर कोई भी व्यक्ति लखनऊ में किसी शख्स को सड़क या ठेके पर खड़े होकर शराब पीते हुए देखता है, तो उसकी शिकायत पुलिस से कर सकता है। पुलिस ने शिकायत के लिए 9454401508 नंबर जारी किया है और कहा है कि इसपर आम जनता फोन कर शिकायत कर सकती है।

लखनऊ के पुलिस कमिश्नर सुजीत पांडे ने इस अभियान के बारे में बताया कि सड़क और ठेकों पर शराब पीने वालों के खिलाफ आबकारी विभाग के साथ मिलकर 2 महीने का अभियान शुरू किया गया है। इसकी शुरुआत शनिवार से हुई है। इस अभियान की मॉनिटरिंग डीसीपी हेडक्वॉर्टर स्वप्निल ममगाईं को सौंपी गई है। सड़क और ठेकों पर खड़े होकर शराब पीने वालों के खिलाफ कोई भी पुलिस से शिकायत कर सकता है। शिकायत करने के लिए एक नंबर भी जारी किया गया है।

पुलिस कमिश्नर सुजीत पांडे ने बताया कि शराब की दुकानों के मालिकों को दुकानों में सीसीटीवी लगवाने को कहा गया है।जिससे शराब की दुकान और उसके आसपास के इलाकों पर नजर रखी जा सके। हर थाना क्षेत्र में बॉडी वार्न कैमरे, ब्रीथ एनलाइजर से पुलिसकर्मी शराब ठेकों के आसपास और सड़क पर चेकिंग करेंगे। ये सभी पुलिस वाले रोज अभियान के दौरान हुई कार्रवाई की रिपोर्ट डीसीपी हेडक्वार्टर को देंगे।

गौरतलब है कि हाल ही में यूपी में मिशन शक्ति की भी शुरुआत की गई थी। इस मिशन के तहत महिलाओं को तंग करने वालों की धरपकड़ की जा रही है। ये मिशन काफी सफल रहा है।

SHARE