बॉलीवुड

जब बॉलीवुड से उठ गया था जीनत अमान का मन, तो ‘हरे रामा हरे कृष्णा’ ने बदल कर रख दिया था जीवन

बॉलीवुड की दिग्गज़ और ख़ूबसूरत अदाकाराओं में जीनत अमान का नाम भी शुमार है. 70 और 80 के दशक में जीनत ने अपनी ख़ूबसूरती और अदाकारी का ऐसा जादू बिखेरा कि आज बॉलीवुड से दूर होने के बावजूद उन्हें फैंस का प्यार मिलता है और फ़िल्मी गलियारों में उनकी चर्चा होती रहती है.

जीनत अमान अपना 69वां जन्मदिन मनाने जा रही हैं. 19 नवंबर 1951 को उनका जन्म ‘मायानगरी’ मुंबई में हुआ था. फिल्मों में आने से पहले जीनत अमान जीनत ख़ान के नाम से जानी जाती थी, हालांकि फिल्मों में एंट्री लेने के बाद उन्होंने अपने नाम में बदलाव कर लिया. आइए आज जानते हैं जीनत अमान के जन्मदिन के विशेष अवसर पर उनसे जुड़ीं कुछ ख़ास बातें…

70 और 80 के दशक में एक्ट्रेस जीनत अमान का नाम लोगों के दिलों-दिमाग में छा चुका था. उनकी ख़ूबसूरती हर किसी को उनका दीवाना बना देती थी. लेकिन उनका शुरुआती बॉलीवुड करियर ठीक-ठाक नहीं रहा हौर कहा जाता है कि उन्होंने बॉलीवुड छोड़ने का मन भी बना लिया था. हालांकि दिग्गज़ अभिनेता देव आनंद ने ऐसा नहीं होने दिया और यह भी माना जाता है कि जीनत ने फिल्म इंडस्ट्री में जो मुकाम हासिल किया उसमें देव आनंद साहब का बड़ा हाथ था.

जीनत अमान बॉलीवुड में कदम रखने से पहले एक पत्रकार के रूप में काम करती थी. बाद में उन्होंने मॉडलिंग में करियर बनाने की ठानी और फिर उनके बॉलीवुड में जाने के रास्ते भी खुलने लगे. 19 साल की छोटी उम्र में ही उनकी खाते में ‘फेमिना मिस इंडिया’ जैसी बड़ी उपलब्धि दर्ज हो गई. जबकि इसके बाद जीनत ने 1970 में मिस एशिया पैसिफिक इंटरनेशनल का ख़िताब भी अपने नाम कर ख़ूब शोहरत पाई.

साल 1970 में ही जीनत अमान ने बॉलीवुड में कदम रख दिए थे. इस साल उनकी फिल्म ‘द एविल विदइन’ रिलीज हुई थी. जबकि अगले साल उनकी फिल्म ‘हलचल’ पर्दे पर रिलीज हुई. हालांकि दोनों ही फिल्मों की असफ़लता से जीनत नाराज़ थी और उन्होंने बॉलीवुड छोड़ने का मन बना लिया था, लेकिन देव आनंद के कहने पर जीनत ने उनकी फिल्म ‘हरे रामा हरे कृष्णा’ में काम किया.

अपनी फ्लॉप फिल्मो के कारण भी जीनत ने दर्शकों पर अपना जादू चला दिया था. वहीं जब फिल्म ‘हरे रामा हरे कृष्णा’ रिलीज हुई तो इसने सारे समीकरण बदल कर रख दिए थे.

इस फिल्म में दिग्गज़ अभिनेता देव आनंद की बहन के रोल में जीनत ने काम किया. इसके बाद से जीनत की चर्चाएं हर जगह होने लगी. उनके लिए सब कुछ उस समय बदल गया जब उन्हें ‘हरे रामा हरे कृष्णा’ के लिए फिल्मफेयर बेस्ट सपोर्टिंग एक्ट्रेस के ख़िताब से नवाजा गया.

इस फिल्म ने बना दिया बोल्ड और हॉट एक्ट्रेस…

‘हरे रामा हरे कृष्णा’ के बाद बॉलीवुड की पटरी पर जीनत अमान की रेल गाड़ी फर्राटे भरकर चल रही थी. वहीं साल 1978 में आई फिल्म ‘सत्यम शिवम सुंदरम’ से उन्होंने बॉलीवुड में सनसनी मचा दी और उनकी पहचान अब एक हॉट और बोल्ड एक्ट्रेस के रूप में होने लगी. उनकी इस फिल्म के लिए काफी आलोचनाएं भी हुई लेकिन उनके स्टारडम पर इसका कुछ फर्क नहीं पड़ा. बल्कि लोग उन्हें और ज़्यादा पसंद करने लगे थे. उन्होंने इस फिल्म में अपने हुस्न का ऐसा जादू बिखेरा जिसे आज भी याद रखा जाता हैं.

इन फिल्मों से पाई शोहरत…

एक्ट्रेस जीनत अमान ने यूं तो कई फिल्मों में काम किया हालांकि जिन फिल्मों ने उन्हें एक ख़ास और अलग पहचान दिलाई उन फिल्मों में हीरा पन्ना (1973), प्रेम शस्त्र (1974), वारंट (1975), डार्लिंग (1977), कलाबाज (1977), डॉन (1978), धरम वीर (1977), छलिया बाबू (1977), द ग्रेट गैम्बलर (1979), कुर्बानी (1980), अलीबाबा और चालीस चोर, दोस्ताना (1980) और लावारिस (1981) जैसी सफल फ़िल्में शामिल रही.

Related Articles

Back to top button