अजब ग़जब

शामली के गांव से मिले सोने-चांदी के सिक्कों को लेकर हुआ बड़ा खुलासा, सामने आया चौंकाने वाला सच

उत्तर प्रदेश के शामली के खेड़ी खुशनाम गांव से हाल ही में सोने व चांदी के सिक्के मिले थे। ये सिक्के एक खेत में खुदाई के दौरान निकले थे। वहीं जैसे ही गांव के लोगों को इन सिक्कों के बारे में जानकारी मिली, तो सभी खेत में पहुंच गए और वहां से सिक्के लेकर भाग गए। खेत से मिले इन्हीं सोने व चांदी के सिक्कों की जांच अब पुरातत्व सर्वेक्षण विभाग मेरठ ने की है और बताया है कि ये सिक्के कितने पुराने हैं।

पुरातत्व सर्वेक्षण विभाग मेरठ के अनुसार शामली के गांव खेड़ी खुशनाम में मिले सोने-चांदी के सिक्के करीब 700 साल पुराने हैं। विभाग के अधीक्षक पुरातत्वविद डॉ. डीबी गणनायक ने गांव में मिले एक सिक्के की जांच की। जिसके बाद जानकारी दी कि ये सिक्का बेहद ही पुराना है। टीम के एक अधिकारी के अनुसार ये सिक्के 1320-1350 ईसवीं के बीच के हैं। हालांकि पुरातत्व सर्वेक्षण विभाग ने ये दावा महज एक सिक्के की जांच के आधार पर ही किया है।

दरअसल खेत से कई सारे सिक्के निकले थे। लेकिन पुलिस के आने से पहले ही गांव वाले सिक्के अपने साथ लेकर भाग गए थे। जिसके कारण पुलिस के हाथ कुछ न लग सका। पुलिस ने लोगों से काफी अपील भी की कि वो ये सिक्के वापस कर दें। लेकिन किसी ने भी सिक्के वापस नहीं किए। जिसके कारण पुरातत्व सर्वेक्षण विभाग के हाथ एक भी सिक्का नहीं लग सका।

बुधवार दोपहर अधीक्षक पुरातत्वविद डीवी गणनायक, एसडीएम मणि अरोरा एवं खनन निरीक्षक डॉ. रंजना सिंह, राजस्व की टीम ने फिर से गांव खेड़ी खुशनाम के उस खेत पर का दौरा किया। जहां से सोमवार को खुदाई के दौरान सोने-चांदी के सिक्के मिले थे। उन्होंने ग्रामीणों से बात की लेकिन किसी ने भी टीम को सिक्के नहीं दिए। बाद में एक ग्रामीण इंसाद राणा ने एक सिक्का टीम को उपलब्ध कराया। इसके बाद टीम चौसाना पहुंची।

यहां पहुंचकर सिक्के की जांच की गई और पुरातत्वविद डॉ. डीबी गणनायक ने बताया कि सिक्का चांदी का है और मोहम्मद बिन तुगलक के काल का है। दरअसल उत्तर प्रदेश पर मुगलों ने काफी समय तक राज किया है। इस राज्य के कई ऐसे गांव हैं जहां पर खुदाई के दौरान सिक्के व पुराने समय की चीजें निकलती रहती हैं। जिसकी वजह से कई गांवों पर खुदाई करने पर पांबदी लगा रखी है। वहीं अब इन गांवों की सूची में गांव खेड़ी खुशनाम भी शामिल हो गया है।

Related Articles

Back to top button