विशेष

फायरब्रांड IPS से उलझी कंगना, CM तक को किया था गिरफ़्तार, जानिए डी रूपा IAS के बारे में ये ख़ास बातें

बॉलीवुड की ख़ूबसूरत और दमदार अदाकारा कंगना रनौत अपने बिंदास और बेबाक अंदाज के लिए जानी जाती हैं. आए दिन वे बॉलीवुड कलाकारों और राजनेताओं आदि से उलझती रहती है. एक बार फिर उन्होंने एक बड़ी हस्ती से पंगा लिया है. हालांकि वे भी कंगना की तरह की दमदार और असरदार है.

बता दें कि इस बार कंगना का पाला पड़ा है आईपीएस अफसर डी रूपा मोदगिल से. दिवाली के मौके पर रूपा ने पटाखे न जलाने की अपील की थी, ऐसे में उन्हें काफी विरोध भी झेलना पड़ा था. उनका विरोध करने वालों की सूची में एक्ट्रेस कंगना रनौत भी शामिल रहीं.

कंगना रनौत ने इसे लेकर रूपा के इस्तीफे की मांग की थी, साथ ही उन्हें पुलिस विभाग के लिए धब्बा भी बताया था. कंगना के इस बयान के बाद से डी रूपा काफी सुर्ख़ियों में चल रही है. आइए जानते हैं डी रूपा कौन है और उनसे जुड़ीं कुछ ख़ास बातों के बारे में…

फ़िलहाल कर्नाटक के गृह सचिव के पद पर तैनात रूपा ने कर्नाटक से अपनी पढ़ाई पूरी की है और वे दावनगेरे की रहने वाली है. पढ़ाई पूरी होने के बाद डी रूपा यूपीएससी परिक्षा की तैयारी में व्यस्त हो गई थी. साल 2000 में उन्होंने ईपीएस ज्वाइन कर लिया और बेहतर रैंक के चलते उन्हें अपना ही प्रदेश कैडर के रूप में मिल गया.

पुलिस विभाग में नौकरी लगने के बाद डी रूपा ने साल 2003 में आईएएस अफसर मुनीश मोदगिल से विवाह कर लिया था. आज इस कपल का एक बेटा और एक बेटी है. बेटे का नामा रोषील जबकि बेटी का नाम अनगा है.

उमा भारती को किया था गिरफ़्तार…

मध्यप्रदेश मी पूर्व सीएम उमा भारती साल 1994 में हुबली दंगे में कोर्ट द्वारा दोषी पाई गई थी. ऐसे में डी रूपा के नेतृत्व में ही कर्नाटक पुलिस में भाजपा नेत्री और एमपी की पूर्व सीएम को गिरफ़्तार किया था.

डी रूपा उस समय भी अचानक से सुर्ख़ियों में आई थी जब उन्होंने शशिकला को जेल के भीतर मिल रहे वीआईपी ट्रीटमेंट का ख़ुलासा किया था. इससे राजनीतिक जगत के साथ ही पुलिस प्रशासन में भी हड़कंप मच गया था. जबकि शशिकला की मुश्किलें भी बढ़ गई थी. रूपा का 20 साल की नौकरी में अब तक 40 से अधिक बार ट्रांसफ़र हो चुका है.

Related Articles

Back to top button