बॉलीवुड

मुंबई के मेयर ने कंगना को बताया ‘2 टके के लोग’, एक्ट्रेस ने कहा ‘न जाने मुझमें ऐसा क्या है, जो..

बॉलीवुड अदाकारा कंगना रनौत एक बार फिर से अपने बेबाक बयान के चलते सुर्ख़ियों में आई है. इस बार एक्ट्रेस कंगना ने मुंबई की महापौर किशोरी पेडनेकर को आड़े हाथों लिया है. एक्ट्रेस सोशल मीडिया पर किशोरी के ख़िलाफ़ जमकर भडक़तीं हुई नज़र आई है.

महाराष्ट्र सरकार और कंगना रनौत के बीच लगातार तनातनी बढ़ती ही जा रही है. वहीं मुंबई स्थित कंगना के दफ्तर में तोड़फोड़ के बाद से कंगना के निशाने पर बृहन्मुंबई नगर निगम (बीएमसी) भी है. किशोरी ने कंगना को ‘दो टके के लोग’ करार दिया है. अब इस पर एक्ट्रेस ने भी किशोरी को जमकर खरी-खोटी सुना दी है.

कंगना रणौत ने मायानगरी मुंबई की महापौर किशोरी पेडनेकर के बयान पर जमकर प्रहार किया है. बॉलीवुड एक्ट्रेस ने इसे लेकर अपने आधिकारिक ट्विटर एकाउंट पर पोस्ट में लिखा है कि, ‘पिछले कुछ महीनों में मैंने महाराष्ट्र सरकार के हाथों इतने कानूनी केस, गालियां, बेइज्जती, बदनामी झेली है कि बॉलीवुड माफिया और आदित्य पंचोली और ऋतिक रोशन जैसे लोग मुझे अच्छे इंसान लगने लगे हैं. न जाने मुझमें ऐसा क्या है, जो लोगों को इतना परेशान करता है.”

हमेशा की तरह कंगना का यह ट्वीट भी अब काफी तेजी के साथ वायरल हो रहा है. उनके चाहने वाले एक बार फिर से उनके समर्थन में आ गए हैं. लोग उनके इसके ट्वीट को ख़ूब शेयर कर रहे हैं. साथ ही फैंस ने कमेंट्स की झड़ी भी लगा दी है.

क्या कहा था मुंबई की महापौर किशोरी पेडनेकर ने ?

बॉम्बे उच्च न्यायालय के फैसले पर प्रतिक्रया देते हुयुए मुंबई मी मेयर किशोरी पेडनेकर ने कहा था कि, ‘हम लोग भी हैरान हुए हैं. एक अभिनेत्री जो रहती हिमाचल में है और हमारी मुंबई को पीओके कहती हैं. जो दो टके के लोग अदालत को भी राजनीति का अखाड़ा बनाना चाहते हैं वो गलत हैं. क्योंकि ये मामला बदले का नहीं है. उन्हें सोशल मीडिया पर काफी ट्रोल किया गया. कोर्ट ने जो फैसला किया है उसका अध्ययन करेंगे.”

जानिए क्या है मामला ?

इसी साल 9 सितंबर को BMC ने एक्ट्रेस कंगना रनौत के मुंबई स्थित दफ़्तर और घर के कुछ हिस्से में कथित रूप से अवैध निर्माण के चलते तोड़फोड़ की थी. इस पर एक्ट्रेस ने कड़ी आपत्ति जताई थी और उन्होंने BMC के ख़िलाफ़ बॉम्बे हाई कोर्ट का दरवाजा खटखटाया था. कल इस मामले पर अदालत ने फैसला सुनाया और वह कंगना के पक्ष में आया.

अदालत ने अपने फैसले में कहा कि कंगना के खिलाफ दफ़्तर पर की गई कार्रवाई दुर्भावना को दर्शाती है. अदालत ने BMC की कार्रवाई को अवैध ठहराया है. अदालत के फैसले से जहां एक्ट्रेस बहुत खुश है, तो वहीं बृहन्मुंबई नगर निगम को बहुत बड़ा झटका लगा है.

अदालत ने आदेश में यह भी कहा है कि कंगना को जो भी नुकसान हुआ है, उसके बदले में उन्हें मुआवजा दिया जाएगा. कंगना के मुताबिक़, उन्हें करीब 2 करोड़ रु का नुकसान झेलना पड़ा है और उन्होंने पहले इतने ही हर्जाने की बात कही थी.

कंगना ने कहा था लोकतंत्र की जीत…

शुक्रवार को जब कंगना के दफ़्तर तोड़-फोड़ मामले में बॉम्बे उच्च न्यायालय का फ़ैसला आया था तो कंगना ने इसके बाद ट्वीट करते हुई इसे लोकतंत्र की जीत बताया था. उन्होंने अपने आधिकारिक एकाउंट पर एक खबर को साझा करते हुए ट्वीट में लिखा है कि,”कोई व्यक्ति सरकार के खिलाफ खड़ा होता है और जीतता है तो यह जीत केवल उस व्यक्ति की नहीं होती, बल्कि पूरे लोकतंत्र की होती है.

मेरा हौसला बढ़ाने के लिए हर व्यक्ति को धन्यवाद. हर उस व्यक्ति का भी शुक्रिया, जो मेरे सपनों के टूटने पर हंसे थे. यह सब इसलिए हुआ, क्योंकि आप विलेन की तरह काम कर रहे थे और मैं हीरो बन गई.”

Related Articles

Back to top button