धार्मिक

कल है साल का आखिरी चंद्र ग्रहण, इस दौरान भूलकर भी न करें ये गलती वरना..

30 नवंबर को साल का अंतिम चंद्र ग्रहण लगने वाला है। चंद्र ग्रहण के अलावा इस दिन कार्तिक पूर्णिमा भी है। पंडितों के अनुसार यह चंद्र गहण उपछाया चंद्र ग्रहण है जो कि कुल 04 घंटे 18 मिनट 11 सेकंड तक रहेगा। ये ग्रहण दोपहर 3 बजकर 13 मिनट पर अपने चरम पर होगा। चंद्र ग्रहण के कारण इस दिन लोगों को काफी संभालकर रहना होगा। खास तौर पर गर्भवती महिलाओं को खासा ध्यान रखना होगा और इस दौरान कोई भी ऐसा कार्य ना करें, जिससे की होने वाले बच्चे पर बुरा असर पड़े।

ग्रहण लगने का समय

30 नवंबर 2020 दोपहर 1 बजकर 4 मिनट पर ग्रहण आरंभ हो जाएगा। जो कि शाम को 5 बजकर 22 मिनट पर समाप्त होगा। चंद्र ग्रहण दिन में लगने के कारण भारत में दिखाई नहीं देगा। इसलिए इसका कोई भी सूतक काल नहीं होगा। ये इस साल का आखिर ग्रह होगा।

इस राशि पर पड़ेगा सबसे बुरा असर

पंडितों के मुताबिक ये ग्रहण रोहिणी नक्षत्र और वृषभ राशि में पड़ने वाला है। जिसके कारण वृषभ राशि के लोगों पर इसका बुरा असर देखने को मिल सकता है। इस राशि के लोगों को ज्यादा संभलकर रहने की जरूरत है।

चंद्र ग्रहण के दौरान बरते ये सावधानियां

ग्रहण के दौरान घर से बाहर ना निकलें। अगर कोई ज्यादा जरूर काम नहीं है, तो उसे टाल दें। ग्रहण के दौरान गर्भवती महिलाओं को भी घर के अंदर ही रहना चाहिए और इसकी छाया अपने से दूर रखनी चाहिए।

दरअसल ग्रहण की छाया को बच्चे के लिए घातक माना जाता है। इसलिए गर्भवती महिलाओं को घर के अंदर ही रहने की सलाह दी जाती है। मान्यता है कि इस दौरान यदि गर्भवती महिला ग्रहण देख ले तो इसका सीधा और नकारात्मक असर बच्चे के शारीरिक व मानसिक स्वास्थ्य पर पड़ सकता है।

ग्रह के दौरान खाने का सेवन ना करें। इस दौरान खाया गया खाना सेहत के लिए हानिकारक सिद्ध होता है। मान्यता है कि ग्रहण की हानिकारक किरणों से भोजन दूषित हो जाता है। खाने की तरह है ग्रहण के समय पानी भी ना पीएं। तो ज्यादा बेहतर होगा।

ग्रह के समय कोई भी शुभ कार्य ना करें। ग्रह के समय किया गया शुभ कार्य का फल अशुभ ही रहता है। इसलिए ग्रहण के वक्त शादी, संगीत, नामकरण व इत्यादि तरह के शुभ कार्य करने से बचें।

ग्रह वाले दिन किसी भी तरह की नई वस्तु भी ना खरीदें। ना ही पैसे किसी जगह पर निवेश करें। इस दौरान खरीदी गई वस्तु पर घटा ही होता है।

ग्रह के समय गर्भवती महिला चाकू का प्रयोग ना करें और ना ही किसी चीज को काटें।

ग्रहण के दौरान जरूर करें ये काम

  • ग्रह लगने से पहले खाने की चीजें व पानी के अंदर तुलसी का पत्ता डाल दें। ऐसा करने से खाना दूषित नहीं होता है। तुलसी पत्तों को डालने से भोजन शुद्ध ही रहत है और ग्रहण की हानिकारण किरणों से खाने का रक्षा होती है।
  • ग्रह खत्म होते ही स्नान जरूर करें और घर पर गंगा जल का छिड़काव भी करें।
  • मंदिर की सफाई भी करें और मंदिर में भी गंगा जल छिड़कना ना भूलें।
  • गर्भवती महिलाओं को इस दौरान अपने पास नुकीली चीजें रखनी चाहिए। ऐसा करने से शिशु व गर्भवती महिला पर ग्रहण का काला साया नहीं पड़ता है।
  • नकारात्मक प्रभावों से बचने के लिए ग्रहण के दौरान दुर्गा पाठ या हनुमान चालीसा पढ़ें।
  • ग्रहण लगने से पहले ही अपने पूजा घर को कपड़े से ढक दें और इस दौरान पूजा ना करें।
  • ग्रह खत्म होने के बाद खाने की चीजों का दान जरूर करें। दाल, चावल, चीन आदि चीजें दान करने से ग्रह के बुरे प्रभाव से रक्षा होती है।
  • ग्रह के समय सोने से बचें।

तो ये थी ग्रहण से जुड़ी कुछ जरूरी बातें। जिनको आप ध्यान में रखें और ग्रहण लगने पर ऊपर बताई गई गलतियां करने से बचें।

Related Articles

Back to top button