धार्मिक

बुध देव ने बदली अपनी चाल, अशुभ प्रभावों से बचने के लिए करें ये ज्योतिषीय उपाय

ज्योतिष शास्त्र के अनुसार ग्रह लगातार अपनी स्थिति बदलते रहते हैं, जिसकी वजह से मनुष्य के जीवन पर शुभ-अशुभ प्रभाव पड़ता है। ज्योतिष गणना के अनुसार बुध देव मंगलवार को धनु राशि से निकलकर मकर राशि में प्रवेश कर रहे हैं और यह मकर राशि में 25 जनवरी 2021 तक विराजमान रहेंगे। बुध ग्रह के इस गोचर की वजह से सभी 12 राशियों पर सकारात्मक और नकारात्मक प्रभाव पड़ने वाला है। अगर आप बुध ग्रह के अशुभ प्रभाव से बचना चाहते हैं तो इसके लिए ज्योतिष शास्त्र में बताए गए कुछ उपायों को अपना सकते हैं। इन सरल उपायों से बुध ग्रह की शांति होगी। ज्योतिष में यह उपाय बेहद कारगर बताए गए। तो चलिए जानते हैं बुध ग्रह के अशुभ प्रभाव से बचने के लिए इन आसान उपायों के बारे में।

बुध ग्रह को मजबूत बनाने के लिए इन उपायों को करें

ज्योतिष शास्त्र के अनुसार यदि किसी व्यक्ति की कुंडली में बुध ग्रह की स्थिति कमजोर होती है तो इसकी वजह से जीवन में बहुत सी परेशानियां उत्पन्न होने लगती हैं परंतु जिस व्यक्ति की कुंडली में बुध ग्रह मजबूत रहता है उसको शुभ फल की प्राप्ति होती है। अगर आप बुध ग्रह को अपनी कुंडली में मजबूत करना चाहते हैं तो आप निम्नलिखित उपायों को कर सकते हैं-

  • बुध ग्रह को मजबूत बनाने के लिए आप बुधवार के दिन भगवान श्री गणेश जी की पूजा कीजिए और पूजा के दौरान उन्हें लड्डू का भोग लगाएं। पूजा में आप दूर्वा की गांठ अर्पित कीजिए।
  • अगर आप गाय को हरा चारा खिलाते हैं तो इससे आपकी कुंडली में बुध ग्रह मजबूत बनेगा।
  • बुध ग्रह को मजबूत बनाने के लिए आप बुधवार के दिन हरे रंग के वस्त्र धारण कीजिए।
  • अगर आप अपनी कुंडली में बुध ग्रह को मजबूत बनाना चाहते हैं तो इसके लिए आप हरे रंग का एक कपड़ा लीजिए और उसमें मूंग बांधकर पोटली बना लीजिए। अब आप इस पोटली को बहते हुए जल में प्रवाहित करें। इससे बुध की स्थिति मजबूत बनती है।

दान करने से बुध होगा मजबूत

ज्योतिष शास्त्र के अनुसार बुध ग्रह को कुंडली में मजबूत बनाने के लिए दान जरूर करना चाहिए। आप बुधवार के दिन हरे रंग के कपड़े, कांसा, घी, खांड आदि का दान करें। इसके अलावा अगर आप बुधवार के दिन किन्नर को हरे रंग का कपड़ा दान करके उसका आशीर्वाद लेते हैं और अपने सामर्थ्य अनुसार दक्षिणा भी देते हैं तो इससे आपको शुभ लाभ की प्राप्ति होती है।

बुधवार व्रत पूजा विधि

  • बुधवार का व्रत शुक्ल पक्ष के बुधवार या फिर विशाखा नक्षत्र वाले बुधवार से आरंभ कीजिए। आप इसके लिए किसी ज्योतिष की सलाह ले सकते हैं।
  • जब आप बुधवार का व्रत शुरु कर रहे हों तो आप संकल्प के अनुसार सात व्रत कर सकते हैं। अगर आप चाहे तो 21 या 45 व्रत भी रख सकते हैं।
  • बुधवार के व्रत वाले दिन आप सुबह के समय जल्दी उठकर स्नान आदि से निवृत हो जाएं, उसके बाद आप हरे रंग के कपड़े पहन लें।
  • भगवान श्री गणेश जी का ध्यान कीजिए और बुध देव की पूजा कीजिए।
  • पूजा के दौरान मूंग का हलवा, पंजीरी या मूंग के लड्डू बनाकर प्रसाद अर्पित करें।
  • व्रत वाले दिन शाम के समय फिर से पूजा कीजिए और उसके बाद प्रसाद ग्रहण करके व्रत का पारण कीजिए।
  • पारण करने के लिए जो भोजन आप बनाएंगे, उसमें आप नमक और घी का इस्तेमाल मत कीजिए।

Related Articles

Back to top button