धार्मिक

14 फरवरी की रात्रि देवगुरु का उदय, जानिए कौन सी राशियां होंगी मालामाल, किसको होगा नुकसान

ज्योतिष शास्त्र के अनुसार सभी ग्रह समय के अनुसार अपनी स्थिति में परिवर्तन करते रहते हैं, जिसकी वजह से सभी राशियों पर कुछ ना कुछ प्रभाव अवश्य पड़ता है। यदि किसी व्यक्ति की राशि में ग्रहों की चाल ठीक है तो इसकी वजह से जीवन में शुभ परिणाम मिलते हैं परंतु ग्रहों की चाल ठीक ना होने के कारण जीवन में परेशानियां उत्पन्न होने लगती हैं।

ज्योतिष गणना के अनुसार 14 फरवरी की रात्रि 11:44 बजे पर देवगुरु बृहस्पति मकर राशि की यात्रा करते हुए पूर्व दिशा में उदय होने वाले हैं। इनके उदय होने से जिन राशि वालों की कुंडली में यह शुभ भाव में बैठे हुए थे, उनको अच्छे परिणाम मिलेंगे परंतु जिन लोगों की कुंडली में यह अशुभ भाव में गोचर करेंगे, उनको परेशानियों का सामना करना पड़ेगा। आखिर देवगुरु बृहस्पति का उदय होने से किन राशि वालों को फायदा मिलेगा और किसको नुकसान झेलना पड़ सकता है? चलिए जानते हैं इसके बारे में…..

आइए जानते हैं देव गुरु बृहस्पति के प्रभाव से किन राशियों को मिलेगा फायदा

मेष राशि वाले लोगों की राशि में बृहस्पति कर्म भाव में उदय होने वाले हैं जिसकी वजह से आपको अच्छी खासी सफलता मिलने के प्रबल योग नजर आ रहे हैं। आप अपने कामकाज और व्यापार में लगातार उन्नति हासिल करेंगे। रोजगार प्राप्ति के प्रयास सफल रहेंगे। अगर आपका कोई काम काफी लंबे समय से रुका हुआ है तो वह पूरा होगा। आपको अपनी नई योजनाओं में अच्छा फायदा मिलेगा। नौकरी के क्षेत्र में बड़े अधिकारियों के साथ मधुर संबंध बने रहेंगे। जमीन जायदाद से जुड़े हुए मामलों का निपटारा हो सकता है। वाहन खरीदने की इच्छा पूरी हो सकती है।

वृषभ राशि वाले लोगों की राशि में बृहस्पति का उदय भाग्य भाव में होने वाला है, जिसकी वजह से आपका भाग्य जागेगा। आपको कई क्षेत्रों से लाभ मिलने की संभावना है। धर्म-कर्म के प्रति आपकी रूचि बढ़ेगी। सामाजिक पद-प्रतिष्ठा में इजाफा होगा। अगर आप विदेशी कंपनियों में सर्विस अथवा नागरिकता का प्रयास कर रहे हैं तो आपको सफलता हासिल होगी। व्यापार से जुड़े हुए लोगों को अच्छा लाभ मिलेगा।

कर्क राशि वाले लोगों की राशि में बृहस्पति का उदय सप्तम भाव में होगा, जिसकी वजह से आपको अपनी किस्मत का पूरा साथ मिलने वाला है। जो भी कार्य आप करना चाहेंगे, उसमें आपको सफलता मिलने के योग नजर आ रहे हैं। शादी-विवाह से संबंधित वार्ता सफल हो सकती है। दांपत्य जीवन में मधुरता बनी रहेगी। व्यापार में आपको लाभदायक समझौते मिल सकते हैं। सरकारी क्षेत्र में कार्यरत लोगों को पदोन्नति मिलने की संभावना है। सामाजिक मान-प्रतिष्ठा बढ़ेगी। आप समाज में अपनी अलग पहचान बनाने में सफल रहेंगे।

कन्या राशि वाले लोगों की राशि में बृहस्पति देव का उदय पंचम भाव में होगा, जिसकी वजह से आपको कामयाबी मिलने के प्रबल योग नजर आ रहे हैं। आमदनी के साधन बढ़ेंगे। अगर आपका पैसा कहीं रुका हुआ है तो वह वापस मिलेगा। परिवार के बड़े सदस्यों और बड़े भाई बहनों से चल रहे मतभेद खत्म होंगे। विद्यार्थियों का मन पढ़ाई में लगेगा। छात्रों के लिए यह परिवर्तन किसी वरदान से कम नहीं है। आपको शिक्षा के क्षेत्र में अपार सफलता मिलने की संभावना है, बस आप कठिन मेहनत करते रहें। नव दंपति के लिए संतान प्राप्ति एवं प्रादुर्भाव का योग बन रहा है।

वृश्चिक राशि वाले लोगों की राशि में बृहस्पति का उदय पराक्रम भाव में होगा, जिसकी वजह से आपको विषम परिस्थितियों से छुटकारा मिलेगा। साहस और पराक्रम में बढ़ोतरी होगी। आपके द्वारा लिए गए फैसले कारगर साबित होंगे। आपके कामकाज की सराहना होगी। धर्म-कर्म के कामों में अधिक मन लगेगा। विदेश से खुशखबरी मिलने की संभावना है। संतान की तरफ से चल रही सभी चिंता दूर होगी। छोटे भाई-बहनों के साथ चल रहे मतभेद खत्म होंगे।

धनु राशि वाले लोगों की राशि में बृहस्पति का उदय धन भाव में होगा, जिसकी वजह से आर्थिक और सामाजिक पक्ष मजबूत रहने वाला है। आप अपनी योजनाओं पर गंभीरता से सोच विचार कर सकते हैं। धन लाभ मिलने की संभावना है। आप अपने कुशल नेतृत्व एवं वाणी कुशलता के बल पर कठिन से कठिन हालात को भी नियंत्रित कर सकते हैं। स्वास्थ्य अच्छा रहेगा।

मकर राशि वाले लोगो की राशि में बृहस्पति का उदय होगा, जिसकी वजह से आप खुद को ऊर्जावान महसूस करेंगे। कार्य क्षेत्र में विस्तार हो सकता है। व्यापार से जुड़े हुए लोगों को बेहतरीन फायदा मिलने वाला है। आप कोई नया काम शुरू कर सकते हैं। घर की आर्थिक स्थिति मजबूत रहेगी। विद्यार्थियों को किसी प्रतियोगिता में बैठने का अवसर मिल सकता है, जिसमें आपको बेहतर परिणाम हासिल होंगे। शादीशुदा जिंदगी हंसी खुशी व्यतीत होने वाली है। नव दंपति को संतान प्राप्ति के योग बन रहे हैं।

मीन राशि वाले लोगों की राशि में बृहस्पति का उदय लाभ भाव में होगा, जिसकी वजह से आपको लाभ के कई मार्ग हासिल हो सकते हैं। काफी लंबे समय से दिया गया धन वापस प्राप्त होगा। विद्यार्थियों को परीक्षा-प्रतियोगिता में अच्छी सफलता मिलने के योग नजर आ रहे हैं। संतान के दायित्व की पूर्ति होगी। दांपत्य जीवन में मिठास बढ़ेगी। निजी जीवन की परेशानियों का समाधान हो सकता है। आप अपने सभी कार्य भरपूर ऊर्जा के साथ पूरा करेंगे। काम-धंधे में आपका अधिक मन लगेगा।

आइए जानते हैं बाकी राशियों का कैसा रहेगा हाल

मिथुन राशि वाले लोगों की राशि में बृहस्पति का उदय अष्टम भाव में होगा, जिसके परिणाम स्वरूप आपको अप्रत्याशित उतार-चढ़ाव का सामना करना पड़ सकता है। दांपत्य जीवन में कई चुनौतियां उत्पन्न हो सकती हैं, इसलिए आप अपने दांपत्य जीवन को सुचारू रूप से चलाने की कोशिश कीजिए। आपको अपने गुस्से और वाणी पर नियंत्रण रखना होगा। पारिवारिक जीवन में विवाद उत्पन्न मत होने दीजिए। व्यापारी वर्ग के लोग साझेदारी में व्यापार करने से बचें। कार्य क्षेत्र में आप षड्यंत्र का शिकार हो सकते हैं, इसलिए काफी संभल कर रहना होगा। कोर्ट कचहरी के मामले आप बाहर ही सुलझा लीजिए, वही बेहतर रहेगा।

सिंह राशि वाले लोगों की राशि में बृहस्पति शत्रु भाव में उदय होने वाले हैं, जिसकी वजह से आपको मिलाजुला परिणाम हासिल होगा। गुप्त शत्रुओं में बढ़ोतरी हो सकती है। नौकरी के क्षेत्र में किया गया प्रयास सफल हो सकता है। विद्यार्थियों को किसी प्रतियोगी परीक्षा के लिए कठिन मेहनत करनी पड़ेगी परंतु आपको अच्छी सफलता मिलने के योग नजर आ रहे हैं। संतान से संबंधित चिंता अधिक रहेगी। प्रेम संबंधों में निराशा का सामना करना पड़ेगा। आपको अपने कार्यों पर ध्यान देने की आवश्यकता है।

तुला राशि वाले लोगों की राशि में बृहस्पति का उदय चतुर्थ भाव में होगा, जिसकी वजह से आपको मध्यम फल की प्राप्ति होगी। घर-परिवार में किसी कारण वाद-विवाद की स्थिति उत्पन्न हो सकती है, जिससे मानसिक अशांति का सामना करना पड़ेगा। गुप्त शत्रुओं में इजाफा हो सकता है। कोर्ट कचहरी के मामलों से दूर रहें। जमीन-जायदाद से जुड़े हुए मामलों का निपटारा हो सकता है। माता-पिता की सेहत को लेकर आप काफी चिंतित रहेंगे। आप अपनी योजनाओं को गुप्त रखें अन्यथा कोई इसका फायदा उठा सकता है।

कुंभ राशि वाले लोगों की राशि में बृहस्पति का उदय व्यय भाव में होगा, जिसकी वजह से आपको मिलेजुले परिणाम हासिल होंगे। सामाजिक कार्यों में बढ़ चढ़कर हिस्सा लेंगे। मांगलिक कार्यक्रम में अधिक धन खर्च हो सकता है। आर्थिक तंगी का सामना करना पड़ेगा इसलिए फिजूलखर्ची पर नियंत्रण रखें। सेहत के प्रति आप चिंताशील रहेंगे। किसी भी प्रकार के वाद-विवाद को बढ़ावा मत दीजिए। विद्यार्थियों को किसी प्रतियोगी परीक्षा के लिए कठिन मेहनत करनी पड़ेगी।

Related Articles

Back to top button