विशेष

SHO साहब ने उठाया सराहनीय कदम, गरीब बच्चों के लिए थाने में ही खोल दी लाइब्रेरी

जैसा कि हम सभी लोग जानते हैं शिक्षा सभी के लिए बहुत ही जरूरी है। शिक्षा से ही व्यक्ति अपने जीवन में एक कामयाब इंसान बन सकता है। बिना शिक्षा के जीवन लगभग पूरी तरह से अधूरा माना गया है। मौजूदा समय में ऐसे बहुत से लोग हैं जो शिक्षित नहीं है। आखिर इन्होंने शिक्षा प्राप्त क्यों नहीं की? इसके पीछे एक मुख्य वजह हो सकती है और वह है गरीबी। जी हां, गरीबी के कारण ऐसे बहुत से परिवार हैं जिनके बच्चे स्कूल नहीं जा पाते हैं।

आपको बता दें कि गरीब बच्चों का जीवन संवारने और उनको शिक्षा देने के लिए ऐसे बहुत से लोग हैं जो सामने आए हैं और यह गरीब परिवार के बच्चों को मुफ्त में शिक्षा प्रदान कर रहे हैं। इसी बीच आज हम आपको दिल्ली पुलिस के SHO राजेश कुमार के बारे में बताने वाले हैं, जिन्होंने आर के पुरम थाने में लाइब्रेरी की शुरुआत की है ताकि गरीब बच्चे यहां पर पढ़ सकें। सोशल मीडिया पर SHO राजेश कुमार की इस पहल की लोग खूब सराहना कर रहे हैं।

दरअसल, SHO राजेश कुमार ने इस लाइब्रेरी की शुरुआत इसलिए की है कि जो गरीब परिवार के बच्चे शिक्षा से वंचित रह जाते हैं, वह यहां पर आकर पढ़ाई कर सकें। इस लाइब्रेरी में पढ़ने वाले बच्चों को पढ़ाई में अगर किसी भी प्रकार की दिक्कत होती है तो वहां पर मौजूद पुलिस अधिकारी उनकी हर संभव सहायता करते हैं। SHO साहब अपनी इसी पहल की वजह से लोगों की तारीफें बटोर रहे हैं।

सोशल मीडिया पर आर के पुरम थाने की लाइब्रेरी की तस्वीरें शेयर करते हुए एक ट्विटर यूजर में यह लिखा है कि “दिल्ली के आर के पुरम के SHO राजेश कुमार सर ने थाने में गरीब बच्चों के लिए लाइब्रेरी खोली है। 2300 पुस्तकें, वाई-फाई, 1900 से अधिक पुरानी पत्रिकाएं, सीसीटीवी, स्मार्ट क्लास, बच्चों की कॉउंसिल से युक्त इस लाइब्रेरी में 100 बच्चे एक साथ पढ़ सकते हैं। अपनी खाकी।”


मिली जानकारी के अनुसार, दक्षिण-पश्चिम जिले के आर के पुरम पुलिस स्टेशन में के इस लाइब्रेरी में पढ़ाई छोड़ चुके बच्चों में पढ़ाई के प्रति रुचि पैदा कर उनका स्कूल में दाखिला करवाया जाता है। इतना ही नहीं बल्कि उनकी फीस की भी व्यवस्था की जाती है। इस लाइब्रेरी में स्कूली किताबों के अलावा प्रतियोगी परीक्षाओं की पुस्तकें और मैगजीन भी रखी गई है। इस लाइब्रेरी में गरीब बच्चों के अलावा पुलिसकर्मियों और आसपास के रहने वाले बच्चे पढ़ाई करने के लिए यहां पर आते हैं।

खबरों के अनुसार ऐसा बताया जा रहा है कि इस लाइब्रेरी में हर रोज आने वाले बच्चों की संख्या बढ़ती जा रही है। इस लाइब्रेरी में रोजमर्रा की जानकारी के लिए दिल्ली से प्रकाशित अखबार भी मौजूद रहते हैं। SHO राजेश कुमार के इस नेक कार्य की लोग जमकर तारीफ कर रहे हैं। सोशल मीडिया पर जिस यूजर को राजेश कुमार जी के बारे में पता लग रहा है वह उनकी तारीफ किए बिना नहीं रुक रहे हैं। लोगों का ऐसा कहना है कि ऐसी पहल हमारी इंसानियत को सच में जिंदा रखे हुए है। लोग इनकी इस पहल को सलाम कर रहे हैं।

Back to top button