धार्मिक

26 मई को लग रहा है साल का पहला चंद्र ग्रहण, बुरे प्रभाव से बचने के लिए इन बातों का रखें ध्यान

हिंदू धर्म में ग्रहण को बहुत अहम माना जाता है। इस साल 2021 में पहला चंद्र ग्रहण वैशाख पूर्णिमा दिन बुधवार 26 मई को लगने जा रहा है। आपको बता दें कि यह उपछाया चंद्र ग्रहण लगेगा। इसी वजह से इस चंद्र ग्रहण का सूतक काल मान्य नहीं होगा। ज्योतिष शास्त्र के अनुसार, जिस ग्रहण को खुली आंखों से देखा जा सके उन्ही ग्राहकों को धार्मिक महत्व होता है। अगर उपछाया चंद्रग्रहण को देखना है तो इसके लिए खास सोलर फिल्टर वाले चश्मे की आवश्यकता पड़ती है।

आपको बता दें कि ग्रहण के दौरान कुछ बातों का ध्यान रखना बहुत ही आवश्यक है। अगर व्यक्ति इन बातों का ध्यान नहीं रखता है तो इसकी वजह से ग्रहण का अशुभ प्रभाव पड़ सकता है। ग्रहण के दौरान कौन से कार्य करने चाहिए और कौन से कार्य नहीं करने चाहिए? इन सभी बातों का पता होना बहुत ही जरूरी है। ग्रहण के समय शुभ कार्यों के अलावा कई और भी कार्य होते हैं जिनको नहीं करना चाहिए।

आपको बता दें कि इस साल का चंद्रग्रहण 26 मई 2021 बुधवार को दोपहर में 2:17 बजे पर शुरू होगा और शाम 7:19 तक रहेगा।ग्रहण के दौरान कुछ कार्य ऐसे होते हैं जिनको करने से व्यक्ति को लाभ मिलता है। इसके अलावा कुछ काम ऐसे भी होते हैं जिनको अगर चंद्र ग्रहण के दौरान किया जाए तो बुरा प्रभाव भी पड़ सकता है। आज हम आपको इस लेख के माध्यम से ग्रहण के समय कौन से काम करने चाहिए और कौन से काम नहीं करने चाहिए, इसके बारे में जानकारी देने जा रहे हैं।

चंद्र ग्रहण के दौरान इन बातों का ध्यान रखना है बेहद जरूरी

1. आपको बता दें कि वास्तविक ग्रहण के दौरान किसी भी प्रकार का शुभ कार्य करने से बचना चाहिए।

2. अगर चंद्र ग्रहण लगा हुआ है तो वह समय के दौरान भगवान की मूर्ति स्पर्श ना करें और ना ही ग्रहण के दौरान मंदिर के कपाट खुले रहने चाहिए अन्यथा इसकी वजह से अशुभ प्रभाव पड़ता है।

3. आपको इस बात का ध्यान रखना होगा कि ग्रहण के दौरान भोजन ना बनाएं और ना ही इस समय भोजन खाना चाहिए। क्योंकि जो व्यक्ति ग्रहण के दौरान भोजन बनाता है और खाता है, उसके स्वास्थ्य पर ग्रहण का बुरा असर पड़ता है।

4. अगर आपके घर में पहले से भोजन बनाकर रखा हुआ है तो आप ग्रहण शुरू होने से पहले ही भोजन, दूध आदि में तुलसी के पत्ते डाल दें।

5. आपको इस बात का ध्यान रखना होगा कि ग्रहण के समय आप किसी भी प्रकार का वाद-विवाद ना करें। इसके अलावा पति-पत्नी को इस समय संयम रखने की सलाह दी जाती है।

6. गर्भवती महिलाओं को ग्रहण के दौरान खास ख्याल रखना होगा। आप ग्रहण के दौरान हो सके तो अपने पास एक नारियल जरूर रख लीजिए।

7. अगर चंद्र ग्रहण के दौरान भगवान सत्यनारायण की कथा सुनी जाए तो यह बहुत ही ज्यादा लाभकारी माना जाता है। इससे व्यक्ति को शुभ फल की प्राप्ति होती है।

8. हर व्यक्ति को चंद्र ग्रहण के दौरान अपने इष्ट देव के मंत्रों का जाप करना चाहिए। व्यक्ति को मंत्र का जाप कम से कम 108 बार करना चाहिए, इससे चंद्र ग्रहण का बुरा प्रभाव नहीं पड़ता है।

Related Articles

Back to top button