बॉलीवुड

जब कुत्ते से पूछकर राज कुमार ने ठुकरा दी थी बड़ी फिल्म, असल जिंदगी में ऐसे थे अभिनेता के तेवर

बॉलीवुड इंडस्ट्री में एक से बढ़कर एक कलाकार हैं जिन्होंने अपने दमदार अभिनय के बलबूते फिल्म इंडस्ट्री में अच्छा खासा नाम कमाया है। हिंदी सिनेमा जगत में ऐसे बहुत से अभिनेता हैं जो अपने अलग अंदाज से लाखों लोगों के दिलों पर राज करते हैं। उन अभिनेताओं का अंदाज लोगों को बहुत भाता है। इन्हीं अभिनेताओं में से एक सुपरस्टार राज कुमार भी थे, जिनका अंदाज सबसे जुदा था। राजकुमार के तेवर जैसे पर्दे पर थे असल जिंदगी में भी वैसे ही थे।

बॉलीवुड इंडस्ट्री में जितने भी अभिनेता बने, उनमें से जुदा अंदाज वाले अभिनेता राज कुमार थे। वैसे देखा जाए तो राज कुमार का करियर काफी अच्छा साबित हुआ था और सबसे बड़ी खास बात यह रही कि स्टारडम का इतना ऊंचा सफर करने के बाद जब वह ढलान पर आए तो इसके बावजूद भी राज कुमार साहब का तेवर कम नहीं हुआ था। राजकुमार साहब सच में एक राजकुमार की तरह ही जीवन जीते थे। नवाबी अंदाज, तहजीब और लहजे में बात करना उनके खून में था।

राजकुमार साहब ने अपने फिल्मी करियर में कई हिट फिल्में दी हैं और उनके डायलॉग आज भी लोगों की जुबां पर हैं। आज हम आपको इस लेख के माध्यम से राजकुमार साहब से जुड़ा हुआ एक ऐसा किस्सा सुनाने जा रहे हैं, जिससे उनके तेवर का अंदाजा आपको खुद हो जाएगा। दरअसल, उन्होंने एक मशहूर डायरेक्टर के ऑफर को यह कहकर ठुकरा दिया था कि “मेरे कुत्ते को भी आपकी फिल्म का ऑफर मंजूर नहीं है।” राज कुमार की यह बात सुनकर डायरेक्टर हैरान हो गए थे।

दरअसल, यह बात उस समय के दौरान की है जब राजकुमार के कुछ फिल्में टिकट खिड़की पर औसतन व्यवसाय कर पाई थीं परंतु उनका मिजाज तो वैसा का वैसा ही था। आपको बता दें कि राजकुमार साहब और रामानंद सागर एक अच्छे दोस्त थे। एक दिन निर्देशक रामानंद सागर उनसे मिलने उनके घर आए। रामानंद सागर ने अभिनेता को एक फिल्म का प्रस्ताव दिया था, जिसके लिए उन्होंने साफ मना कर दिया।

आपको बता दें कि राजकुमार साहब रामानंद सागर की जिंदगी और पैगाम जैसी फिल्मों में भी काम कर चुके थे। राजकुमार ने अपने घर में रामानंद सागर की खातिरदारी की। इसके बाद रामानंद सागर ने राजकुमार से उनकी फिल्म “आँखें” में लीड रोल साइन करने की बात कही थी। रामानंद सागर ने राजकुमार साहब से कहा था कि मैं चाहता हूं कि तुम मेरी फिल्म आंखें में लीड रोल करो और इसके लिए तुम्हें दस लाख दूंगा। जब इन दोनों के बीच बात हो रही थी तब वह ड्राइंग रूम में बैठे थे और अभिनेता उस समय सिंगार पी रहे थे।

जब रामानंद सागर का प्रस्ताव अभिनेता ने सुना तो वह कुछ पल के लिए शांत रहें और कुछ सोचते रहे थे। इधर रामानंद सागर को भी यह भरोसा था कि वह उनके दोस्त हैं और वह उनके प्रस्ताव को मना नहीं करेंगे। लेकिन कुछ ही पल राजकुमार साहब ने ड्राइंग रूम के पास घूम रहे अपने कुत्ते को आवाज लगाई। कुत्ता आकर राजकुमार साहब के पैरों के पास बैठ गया और उन्होंने उसी अंदाज में सिगार पीते पीते हुए कुत्ते से कहा “जानी, तुम्हें क्या लगता है कि हमें सागर साहब का ऑफर स्वीकार करना चाहिए या नहीं?”

कुत्ता कुछ पल राजकुमार का मुंह ताकता रहा और फिर गर्दन हिला हिलाकर भौकने लगा। यह सब देखकर रामानंद सागर काफी आश्चर्यचकित हो गए थे। उनको कुछ समझ नहीं आ रहा था कि आखिर राजकुमार साहब यह सब क्या कर रहे हैं? कुत्ते के भौंकने के बाद राजकुमार साहब रामानंद सागर जी की तरफ मुखातिब हुए और कहा “देखिए सागर जी, मेरे कुत्ते को भी आप का ऑफर मंजूर नहीं है। ऐसे में मेरे हां करने का सवाल ही पैदा नहीं होता।”

रामानंद सागर जी ने इस बात पर अपने आपको बहुत अपमानित महसूस किया और उस समय तो वह वहां से चले गए। उसके बाद उन्होंने धर्मेंद्र को फिल्म के लिए साइन किया और फिल्म की शूटिंग शुरू कर दी थी। फिल्म आंखें रिलीज हुई और यह सुपरहिट फिल्म साबित रही थी। इस घटना के बाद रामानंद सागर और राजकुमार की बातचीत पहले जैसे नहीं रही।

Related Articles

Back to top button