विशेष

टाटा स्टील ने दिखाई दरियादिली,कोरोना से जान गंवाने वालों के परिवार को रिटायरमेंट तक मिलेगा वेतन

कोरोना वायरस देशभर के लिए चिंता का विषय बना हुआ है। कोरोना की दूसरी लहर बहुत ज्यादा खतरनाक साबित हो रही है। रोजाना ही इस वायरस की चपेट में सैकड़ों लोग आ रहे हैं। इतना ही नहीं बल्कि बहुत से लोग तो कोरोना की वजह से अपनी जान भी गंवा चुके हैं। दिन पर दिन कोरोना के मामले इतने बढ़ रहे हैं कि अस्पतालों में बेड की भारी कमी हो गई है। इतना ही नहीं बल्कि ऑक्सीजन की भी कमी देखने को मिल रही है। कोरोना की दूसरी लहर ने कई परिवारों को तबाह कर दिया है। अपनों को इस वायरस ने छीन लिया।

कोरोना वायरस की वजह से कई घरों का कमाने वाला शख्स उनसे दूर हो गया। इस महामारी की लहर ने हर तरफ तबाही मचा दी है। उसके बाद कई प्राइवेट कंपनियां अपने कर्मचारियों के लिए खुले दिल से कुछ ना कुछ कर रही है। कोरोना वायरस की महामारी के बीच बहुत सी कंपनियों ने अपने कर्मचारियों के लिए बड़ी और राहत भरी घोषणाएं की हैं। इसी बीच टाटा स्टील ने भी अपने कर्मचारियों और उनके परिजनों के लिए सोशल सिक्योरिटी स्कीम की घोषणा की है, जिसके अंतर्गत कंपनी के किसी भी कर्मचारी की मृत्यु अगर कोरोना वायरस की वजह से हो जाती है तो उसके परिजनों को रिटायरमेंट तक हर महीने सैलरी मिलती रहेगी। टाटा स्टील कंपनी ने एक ट्वीट के माध्यम से यह जानकारी साझा की है।

आपको बता दें कि कंपनी ने अपने ऑफिशियल ट्विटर हैंडल पर सर्कुलर जारी कर इस बारे में पूरी जानकारी दी है। कंपनी ने यह ट्वीट किया है कि कंपनी ने कोविड-19 से प्रभावित कर्मचारियों के परिजनों के लिए सामाजिक सुरक्षा योजनाओं का विस्तार करके AgilityWithCare का रास्ता अपनाया है। इसके साथ ही कंपनी ने यह भी अपील की है कि मुसीबत की इस घड़ी में सभी लोगों को एक साथ मिलकर कार्य करना होगा। उन्होंने यह अपील की है कि संकट में आप अपने आसपास के लोगों की सहायता कीजिए।

कंपनी ने यह कहा है कि अगर कर्मचारी की मृत्यु हो जाती है तो उसके पश्चात सर्विस के 60 साल पूरे होने तक उनके परिवार को हर महीने पूरी सैलरी दी जाएगी। इतना ही नहीं बल्कि कंपनी ने यह भी कहा है कि कर्मचारी के परिवार को रहने के लिए क्वार्टर भी दिया जाएगा और मेडिकल सुविधाएं भी मुहैया कराई जाएगी। कंपनी ने यह कहा है कि ऐसे कर्मचारी के बच्चों की ग्रेजुएशन पूरी होने तक भारत में पढ़ाई लिखाई का पूरा खर्चा भी टाटा स्टील वहन करेगी।

मृतक के परिजनों को मिलेंगी ये सभी सुविधाएं

आपको बता दें कि हर महीने वेतन मिलेगा, जो मृतक कर्मचारी की आखिरी सैलरी के बराबर होगा। मृतक कर्मचारी/नॉमिनी की 60 साल की उम्र पूरी होने की अवधि तक सैलरी दी जाएगी। इसके अलावा मृतक के परिवार को सभी मेडिकल सुविधाएं मिलेंगी। परिजनों को हाउसिंग सुविधाएं भी उपलब्ध कराई जाएगी और कर्मचारियों के बच्चों की ग्रेजुएशन तक भारत में पढ़ाई का पूरा खर्चा कंपनी उठाएगी।

आपको बता दें कि सोशल मीडिया पर कंपनी की इस पहल की जमकर तारीफ हो रही है। सभी लोग यही कह रहे हैं कि देश की हर कंपनी को टाटा से सीखने की आवश्यकता है। सभी रतन टाटा के इस फैसले को सलाम कर रहे हैं। उन्होंने यह दिखा दिया है कि वह सच में बहुत बड़े दिलवाले हैं।

Related Articles

Back to top button