धार्मिक

गरुड़ पुराण: ऐसे लोगों की संगति से व्यक्ति हो सकता है बर्बाद, समय रहते छोड़ दें इनका साथ

इंसान का जीवन कई तरह के उतार-चढ़ाव के मार्ग से गुजरता रहता है। व्यक्ति के जीवन में कभी खुशियां रहतीं हैं तो कभी अचानक से ही परेशानियां उत्पन्न होने लगती हैं। वैसे देखा जाए तो व्यक्ति को अपने पूरे जीवन काल में काफी समझदारी से चलना होगा। अगर जिंदगी के किसी भी मोड़ पर थोड़ी सी भी भूल हो जाए तो इसकी वजह से जीवन बर्बाद हो सकता है। इंसान को दूसरे लोगों पर भरोसा भी सोच-समझ कर करना चाहिए। जी हां, गरुड़ पुराण में इस बात का जिक्र किया गया है कि कुछ तरह के लोग हमेशा व्यक्ति को बर्बादी की तरफ ले जाते हैं।

आपको बता दें कि गरुड़ पुराण को सनातन धर्म में 18 महापुराणों में से एक माना जाता है। गरुण पुराण में मनुष्य के जीवन से जुड़ी हुई बहुत सी बातों का उल्लेख किया गया है। मनुष्य के जीवन से लेकर मृत्यु और उसके बाद की स्थितियों का इसमें विस्तार पूर्वक वर्णन मिलता है। आज हम आपको इस लेख के माध्यम से ऐसे पांच लोगों के बारे में बताने वाले हैं, जिनकी संगति भूलकर भी नहीं करनी चाहिए क्योंकि इनकी संगति से मनुष्य हमेशा बर्बादी की तरफ ही जाता है।

भाग्य के भरोसे बैठने वाले लोग

जैसा कि हम सभी लोग जानते हैं कभी भी भाग्य के सहारे कुछ नहीं होता है। जब तक इंसान कर्म नहीं करेगा, तब तक उसको किसी भी काम में सफलता नहीं मिलेगी। गरुड़ पुराण में इस बात का उल्लेख किया गया है कि जो व्यक्ति हमेशा अपने भाग्य के सहारे ही बैठे रहते हैं। जो लोग मेहनत करने से कतराते हैं। वह अपने जीवन में कभी भी सफल नहीं होते हैं। इतना ही नहीं बल्कि जो भी इन लोगों के साथ रहता है वह व्यक्ति भी सफल नहीं होता है। इसलिए ऐसे लोगों की संगति को तुरंत त्याग देना ही उचित रहेगा अन्यथा यह अपने साथ साथ आपको भी सफल नहीं होने देंगे

फिजूल बातों में समय नष्ट करने वाले लोग

गरुड़ पुराण में इस बात का वर्णन किया गया है कि जो लोग हमेशा इधर-उधर की बातों पर अपना समय बर्बाद करते हैं। जो लोग हमेशा दूसरों की निंदा करते रहते हैं उनकी संगति में बिल्कुल भी नहीं रहना चाहिए क्योंकि ऐसे लोग अपने साथ-साथ दूसरों का भी समय बर्बाद करते हैं। अगर आप ऐसे लोगों की संगति में रहेंगे तो कुछ समय के बाद आप खुद भी इन्हीं की तरह हो जाएंगे और आपका व्यवहार भी बदल जाएगा। आप जैसे लोगों की संगति में रहेंगे वैसे ही आप बनेंगे। इसलिए आप ज्ञानी लोगों की संगति में हमेशा रहें।

दिखावा करने वाले

गरुड़ पुराण के मुताबिक जो व्यक्ति धन और वस्तुओं का दिखावा करते हैं। उनके अंदर अहंकार की भावना जागने लगती है। ऐसे लोग अहंकारी हो जाते हैं और अहंकार में डूब कर यह लोग हमेशा अपने बारे में ही सोचते हैं। कई बार तो यह दूसरों को अपमानित और दुखी करने में भी पीछे नहीं हटते हैं। इसलिए इस तरह के लोगों की संगति को त्याग देना ही बेहतर रहेगा।

आलसी लोग

गरुड़ पुराण के अनुसार अगर इंसान को अपने जीवन में कुछ पाना है तो उसके लिए मेहनत करनी पड़ती है परंतु जो लोग आलसी होते हैं वह सिर्फ कल्पना की दुनिया में ही खोए रहते हैं। ऐसे लोग अपने जीवन में कभी भी सफल नहीं हो पाते हैं। अगर कोई ऐसे लोगों की संगति में रहेगा तो उसके ऊपर भी प्रभाव पड़ने लगता है। इसलिए आलसी लोगों की संगति को ना अपनाएं। इनसे तुरंत दूरी बना लें।

नकारात्मक सोच रखने वाले

गरुड़ पुराण के अनुसार, अगर कोई व्यक्ति हमेशा नकारात्मक ही सोचता रहता है तो ऐसे व्यक्ति के साथ भूलकर भी नहीं रहना चाहिए क्योंकि नकारात्मक सोच का प्रभाव साथ रहने वाले लोगों के ऊपर भी पड़ता है। अगर आप नकारात्मक सोच वाले लोगों की संगति में रहेंगे तो आपकी भी सोच नकारात्मक हो जाएगी। सोच नकारात्मक होने से सफलता के मार्ग में बाधा उत्पन्न होने लगती है। इसलिए अगर आप अपने जीवन में एक कामयाब इंसान बनना चाहते हैं तो नकारात्मक लोगों से हमेशा दूरी बनाकर रखें।

Related Articles

Back to top button