बॉलीवुड

नीना गुप्ता ने किया बड़ा खुलासा, “चोली के पीछे क्या है” के लिए डायरेक्टर ने रखी थी ऐसी मांग

नीना गुप्ता हिंदी सिनेमा जगत की एक जानी-मानी अभिनेत्री हैं। उन्होंने अपनी बेहतरीन एक्टिंग के बलबूते इंडस्ट्री में अच्छा खासा नाम कमाया है। नीना गुप्ता की गिनती सफल अभिनेत्रियों में होती है। नीना गुप्ता ने फिल्मों के साथ-साथ टीवी में भी काम किया है और यह अपने फिल्मी करियर में कई फिल्मों में काम कर चुकी हैं। टीवी से लेकर बॉलीवुड तक नीना गुप्ता ने अपने अलग-अलग किरदारों से लोगों को काफी प्रभावित किया है। अभिनेत्री नीना गुप्ता इन दिनों अपनी किताब “सच कहूं तो: मेरी आत्मकथा” के लिए चर्चा में छाई हुई हैं। इस किताब में उन्होंने अपनी पर्सनल लाइफ से जुड़ी हुई बहुत सी बातों के बारे में खुलासा किया है।

आपको बता दें कि बॉलीवुड की मशहूर अभिनेत्री नीना गुप्ता ने फिल्म इंडस्ट्री में अपने आपको साबित करने के लिए खूब कड़ी मेहनत की है। नीना गुप्ता अपने हर किरदार को बखूबी तरीके से निभाना जानती हैं। नीना गुप्ता ने फिल्मों में अपनी दूसरी पारी से साबित किया है कि वह हर रोल के लिए बिल्कुल फिट बैठती हैं। हाल ही में रिलीज हुई उनकी बायोग्राफी “सच कहूं तो” के बाद मानो उनकी निजी जिंदगी में जैसे भूचाल आ गया हो। जी हां, उन्होंने अपनी किताब के जरिए अपने जीवन के उन अनकहे पहलुओं के बारे में जिक्र किया है, जिसके बारे में आज तक किसी को कुछ नहीं पता है।

भले ही नीना गुप्ता ने किताब में अपने जीवन से जुड़े हुए कड़वे सच को बताया है लेकिन फैंस अभिनेत्री की जमकर सराहना कर रहे हैं। अभिनेत्री ने अपनी किताब में निजी और प्रोफेशनल दोनों ही संघर्षों के बारे में उल्लेख किया है। इससे पहले यह बात भी सामने आ चुकी है कि नीना गुप्ता ने अपनी बेटी मसाबा की परवरिश के लिए कितना कड़ा संघर्ष किया था। इस किताब के अंदर अभिनेत्री के जीवन से जुड़ा हुआ एक और किसका सामने आया है। नीना गुप्ता ने अपनी किताब में “चोली के पीछे क्या है” गाने में अपने निजी अनुभव के बारे में जिक्र किया है।

नीना गुप्ता ने अपनी इस किताब में यह खुलासा किया है कि “चोली के पीछे क्या है” गाने के लिए डायरेक्टर सुभाष घई ने उनसे क्या डिमांड की थी। उन्होंने कहा कि डायरेक्टर ने उनसे पेडिड ब्लाउज पहनने के की मांग की थी। उन्होंने आगे लिखा है कि “जब मैंने पहली बार गाना सुना तो मुझे पता चला था कि यह बहुत अच्छा गाना होने वाला है। उसके बाद जब सुभाष घई ने मुझे बताया कि इसमें मेरी भूमिका क्या होगी तो मैं और ज्यादा उत्सुक हो गई और मुझे इस बात की भी खुशी थी कि गाने के कुछ हिस्से को मेरी दोस्त इला अरुण ने गाया था, जिसके साथ मैंने कई फिल्मों में काम किया था।”

अभिनेत्री नीना गुप्ता आगे लिखते हुए बतातीं हैं कि “गाने के लिए मुझे एक गुजराती पोशाक पहनाई गई थी और फाइनल लुक दिखाने के लिए सुभाष गई के पास भेजा गया था। जैसे ही मैं उनके पास पहुंची उनका रिएक्शन देखकर मैं हैरान और साथ ही शर्मसार हो गई थी।” उन्होंने आगे बताया कि जैसे ही सुभाष घई ने मुझे देखा वह एकदम से चिल्लाए नहीं…! नहीं….! नहीं…! नहीं ! कुछ भरो, कुछ भरो. उस समय मैं बहुत शर्मिंदा हो गई थी।”

उन्होंने बताया कि वह जानती थी कि वह गाने की मांग के लिए ऐसा कह रहे थे और इसमें कुछ भी पर्सनल नहीं था लेकिन फिर भी मैंने उस दिन शूटिंग नहीं की थी और अगले दिन मुझे चोली के नीचे पहनने के लिए पेडिड ब्रा दिया गया था। उसके बाद एक बार फिर मेरे पूरे लुक को सुभाष जी को दिखाया गया और वह काफी संतुष्ट लग रहे थे। उसके बाद गाने की शूटिंग की गई।”

Back to top button