धार्मिक

शनि साढ़ेसाती और ढैय्या का इन 5 राशियों पर रहेगा असर, अशुभ फलों से बचने के लिए करें ये उपाय

ज्योतिष शास्त्र के अनुसार शनि देवता को कर्म फल दाता बताया गया है। यह हर मनुष्य को कर्मों के अनुसार ही फल प्रदान करते हैं। ऐसा माना जाता है कि अगर किसी व्यक्ति के ऊपर शनि देव की शुभ दृष्टि है तो इसकी वजह से जीवन में शुभ फल की प्राप्ति होती है परंतु जिन लोगों के ऊपर शनि की बुरी नजर पड़ जाए तो उस व्यक्ति के जीवन में एक के बाद एक कई परेशानियां उत्पन्न होने लगती हैं। व्यक्ति को अपने किसी भी काम धंधे में सफलता नहीं मिलती है। हर कोई इंसान यही चाहता है कि उसके ऊपर शनि की अच्छी दृष्टि बनी रहे और वह अपना जीवन सुख-सुविधाओं से परिपूर्ण व्यतीत करें।

धार्मिक मान्यताओं के अनुसार शनि देवता को न्याय का देवता बताया गया है। ऐसा माना जाता है कि शनि अपनी दशा या महादशा के समय लोगों को उनके कर्मों के अनुसार ही फल प्रदान करते हैं। आज हम आपको इस लेख के माध्यम से किन राशियों पर शनि की साढ़ेसाती और ढैय्या चल रही है और शनि शांति के लिए कौन से उपाय करने चाहिए। इसके बारे में जानकारी देने जा रहे हैं।

इन राशियों पर चल रही है शनि की साढ़ेसाती

जिन लोगों की धनु, मकर और कुंभ राशि है उनके ऊपर शनि की साढ़ेसाती का प्रभाव चल रहा है। आपको बता दें कि शनि साढ़ेसाती तीन चरणों में होती है। धनु राशि के लोगों पर इसका आखरी चरण चल रहा है। मकर राशि वाले लोगों पर शनि की साढ़ेसाती का दूसरा चरण चल रहा है। वहीं कुंभ राशि वाले लोगों के ऊपर शनि की साढ़ेसाती का पहला चरण चल रहा है। आपको बता दें कि धनु राशि वाले लोगों को 29 अप्रैल 2022 को शनि की साढ़ेसाती से छुटकारा मिल जाएगा।

यहां जानिए शनि की ढैय्या किन राशियों पर चल रही है?

ज्योतिष शास्त्र के अनुसार, मिथुन राशि और तुला राशि वाले लोगों के ऊपर शनि की ढैया चल रही है। 29 अप्रैल 2022 को जब शनि कुंभ राशि में प्रवेश करेंगे तो इन दोनों राशियों को शनि की ढैय्या से छुटकारा मिल जाएगा।

शनि शांति के लिए करें ये उपाय

  • जिन लोगों के ऊपर शनि की साढ़ेसाती या फिर शनि की ढैय्या का प्रभाव चल रहा है तो ऐसी स्थिति में उन लोगों को महामृत्युंजय मंत्र और शनि मंत्र का जाप करना लाभदायक रहेगा।
  • भगवान शिव और महाबली हनुमान जी की पूजा करने से शनि दोषों से छुटकारा प्राप्त होता है।
  • अगर आप शनि की ढैय्या या फिर शनि की साढ़ेसाती से पीड़ित हैं तो ऐसी स्थिति में शनिवार के दिन तिल, उड़द दाल, लोहा, तेल, काले कपड़े आदि चीजों का दान कीजिए। अगर आप शनिवार के दिन शनि से संबंधित चीजों का दान करेंगे तो इससे आपको अपने जीवन में शुभ फल की प्राप्ति होती है।
  • अगर किसी व्यक्ति पर शनि की ढैय्या या साढ़ेसाती चल रही है तो वह ज्योतिष की सलाह से नीलम रत्न भी धारण कर सकता है।
  • अगर आप शनि देवताओं को प्रसन्न करना चाहते हैं तो इसके लिए काली चालीसा, श्री दुर्गा सप्तमी का अर्गला स्त्रोत का पाठ जरूर करें।
  • अगर आप शनि की पीड़ा से छुटकारा पाना चाहते हैं तो इसके लिए हर शनिवार के दिन आप छाया दान जरूर करें। इसके लिए आपको एक कटोरी में सरसों का तेल लेना होगा। अब इस कटोरी में आप अपना चेहरा देखकर उसे कटोरी सहित तेल को आप शनि दान लेने वाले को दान कर दीजिए। इससे शनि पीड़ा से आपको बहुत जल्द छुटकारा मिल जाएगा।

Back to top button