स्वास्थ्य

थाइरॉइड को जड़ से खत्म करने के लिए इन आसान टिप्स को करें फॉलो, 3 महीने में समस्या हो जाएगी दूर

आजकल के समय में लोगों का खान-पान, जीवनशैली सब कुछ बदल चुका है, जिसके कारण कई सारे लोगों में कई बीमारियों देखने को मिलती हैं। उन्ही बीमारियों में से एक थायराइड की समस्या है। अगर किसी व्यक्ति को थायराइड की समस्या हो तो ऐसी स्थिति में शरीर के अंदर आयोडीन की कमी होने की संभावना रहती है। अगर आप अपने स्वास्थ्य का ध्यान रखेंगे तो आप इस बीमारी से छुटकारा प्राप्त कर सकते हैं।

आजकल के समय में 10 में से 4 लोग थाइरॉइड की समस्या से पीड़ित हैं। अगर थाइरॉइड की वजह से वजन बढ़ता जा रहा है, बाल झड़ रहे हैं, शरीर में थकान रहती हो या फिर त्वचा से संबंधित परेशानियां हो रही हैं तो ऐसे में आपको परेशान होने की आवश्यकता नहीं है। बहुत से लोग ऐसे हैं जिनको यह लगता है कि थाइरॉइड की बीमारी मामूली है जिसको दवाई का सेवन करके खत्म किया जा सकता है।

लेकिन थायराइड की बीमारी छोटी नहीं है। इसके कारण आपको बहुत सी स्वास्थ्य संबंधित परेशानियां हो सकती हैं। अगर समय रहते इसपर कंट्रोल नहीं किया गया तो आप और भी अन्य बीमारियों की चपेट में आ सकते हैं। आज हम आपको इस लेख के माध्यम से कुछ ऐसे टिप्स बताने वाले हैं, जिनकी मदद से आपका TSH लेवल 3 से 4 महीने तक में कम हो जाएगा परंतु आपकी बीमारी कितनी पुरानी है, यह इस पर भी निर्भर करता है।

यह फूड्स देते हैं थायराइड को बढ़ावा

जैसा कि हम लोग जानते हैं घर का खाना स्वास्थ्य के लिए बहुत ही अच्छा होता है परंतु शायद ही आपको यह पता होगा कि थायराइड का सबसे बड़ा कारण घर का खाना भी हो सकता है। जी हां, अगर घर के अंदर खाने में अधिक तेल, मसाले प्रयोग में लाए जाते हैं तो इससे थायराइड ठीक नहीं होता है। बहुत से लोगों की आदत होती है कि घर में बैठे-बैठे चिप्स, बिस्कुट, नमकीन आदि जैसी चीजें खाते रहते हैं। जो थायराइड बढ़ने का कारण बनती हैं।

थायराइड को कंट्रोल करने के लिए ऐसी होनी चाहिए डाइट

अगर आप अपने थायराइड पर नियंत्रण पाना चाहते हैं तो इसके लिए भोजन में 4 गुण होना बहुत ही जरूरी है।

1. आप फल ,सब्जियां, स्पाउट्स और ग्रेन्स का सेवन कर सकते हैं। आपको इस बात का ध्यान रखना होगा कि डिब्बाबंद फूड्स, चिप्स आदि का सेवन नुकसान पहुंचाता है।

2. प्राकृति हमें जिस रूप में खाना देती हूं हैं आप उसी रूप में खाने का सेवन कीजिए जिनमें ब्राउन राइस, चोकर सहित आटा, खजूर या गुड़ शामिल है। सफेद चावल, सफेद चीनी, रिफाइंड तेल, मैदा, बिना चोकर का आटा, रिफाइंड फूड आदि से बचें।

3. आपको प्लांट बेस्ड फूड का सेवन करना चाहिए। अंडे, मछली, दूध या उससे बनी चीजों का सेवन करने से बचना चाहिए।

4. जिन चीजों में पानी की मात्रा अधिक है उनका सेवन अधिक से अधिक करें जैसे तरबूज, खीरा, कीवी आदि।

थायराइड को कंट्रोल करने के लिए आहार

अगर आप अपने थायराइड पर जल्द से जल्द कंट्रोल करना चाहते हैं तो इसके लिए आपका आहार भी परफेक्ट होना चाहिए। आप अपने आहार में घीया का जूस शामिल जरूर करें परंतु उसके 2 घंटे तक किसी भी चीज का सेवन मत कीजिए। आप नाश्ते में एक मौसमी फल का सेवन कर सकते हैं परंतु आपको यह ध्यान रखना होगा कि खट्टे और मीठे फल का सेवन भूलकर भी मत कीजिए। आप लंच के समय एक अनाज या एक सब्जी रोटी का सेवन करें। इसके साथ ही कोई ऐसी सब्जी ले सकते हैं जिसमें तेल की बजाय नारियल घिसकर डाला हो। उसके बाद डिनर में आप सलाद आदि का सेवन करें।

सेंधा नमक का इस्तेमाल करें

थायराइड से पीड़ित लोग आयोडीन नमक के स्थान पर सेंधा नमक का इस्तेमाल कर सकते हैं क्योंकि आयोडीन नमक को बहुत रिफाइंड और प्रोसेस करके बनाया जाता है जो स्वास्थ्य के लिए ठीक नहीं माना गया है।

उपवास करना

अगर आप अपने थायराइड को जल्द से जल्द कंट्रोल करना चाहते हैं तो इसके लिए पूरा दिन भूखा रहना आवश्यक नहीं है। आप डिनर 7:00 बजे और अगला सॉलिड मिल 11:00 बजे ले सकते हैं। आप 16 घंटे का उपवास करें परंतु सुबह का डिटॉक्स ड्रिंक लेना मत भूलिए। रात के 16 घंटे शरीर को आराम देना चाहिए।

आंतों की सफाई जरूरी है

अगर आप अपने थायराइड को कंट्रोल करना चाहते हैं तो आंतों की ठीक प्रकार से साफ सफाई करना बहुत ही आवश्यक हो जाता है। आप डॉक्टर की सलाह से एनिमा ले सकते हैं।

ठंडे पानी की पट्टी करें

आप एक सूती कपड़ा लेकर उसको ठंडे पानी में भिगोकर अपने गले, पेट और गर्दन पर 30 मिनट तक लपेटकर रहने दीजिए। ऐसा करने से ब्लड सरकुलेशन में वृद्धि होती है और थायराइड ग्लैंड काम करना शुरू कर देता है। इसी तरह आपको 3 महीने सुबह और शाम पट्टी लगाना होगा। सर्दियों के मौसम में ऐसा ना करें।

आउटडोर एक्सरसाइज करें

थायराइड से पीड़ित लोगों को व्यायाम करना सबके जरूरी होता है, तभी आपका थायराइड कंट्रोल हो सकता है। जब आप एक्सरसाइज करेंगे तो इससे शरीर की मूवमेंट होती है और ब्लड सरकुलेशन तेजी से बढ़ता है जो थायराइड में फायदेमंद माना गया है।

Back to top button