धार्मिक

ज्येष्ठ पूर्णिमा पर करें ये कारगर उपाय, आपकी सारी मनोकामनाएं होंगी पूरी, होगा धनलाभ

24 जून 2021 दिन गुरुवार को ज्येष्ठ मास की पूर्णिमा तिथि पड़ रही है। हिंदू पंचांग के अनुसार देखा जाए तो हर महीने में शुक्ल पक्ष की अंतिम तिथि को पूर्णिमा आती है। इस प्रकार से एक साल में 12 पूर्णिमा तिथि आती है। सनातन धर्म में पूर्णिमा तिथि को सबसे ज्यादा महत्वपूर्ण माना जाता है। इस दिन चंद्रमा अपनी पूर्व कलाओं के साथ उदय होता है। सभी 12 पूर्णिमा तिथि में से ज्येष्ठ पूर्णिमा का विशेष महत्व माना गया है

आपको बता दें कि पूर्णिमा तिथि के दिन चंद्रमा की पूजा की जाती है इसके साथ ही भगवान विष्णु जी की पूजा के लिए भी यह दिन बहुत ही खास होता है। इस बार गुरुवार के दिन ज्येष्ठ पूर्णिमा पड़ रही है और गुरुवार भगवान विष्णु जी को समर्पित है, जिसके कारण यह ज्येष्ठ पूर्णिमा और भी ज्यादा खास मानी गई है। अगर इस दिन भगवान विष्णु जी की पूजा की जाए तो इससे व्यक्ति को विशेष फल की प्राप्ति होती है।

धार्मिक मान्यताओं के अनुसार पूर्णिमा तिथि चंद्रमा और भगवान विष्णु जी के साथ माता लक्ष्मी जी को भी प्रिय है। अगर उस दिन कुछ आसान से उपाय किए जाएं तो इससे व्यक्ति के जीवन में धन की कमी नहीं रहेगी और सारी मनोकामनाएं पूर्ण होंगी। आज हम आपको इस लेख के माध्यम से ज्येष्ठ पूर्णिमा शुभ मुहूर्त और इस दिन किए जाने वाले कुछ उपायों के बारे में जानकारी देने जा रहे हैं।

ज्येष्ठ पूर्णिमा मुहूर्त

पूर्णिमा तिथि का दान-स्नान 24 जून को किया जाएगा और इसके बाद से आषाढ़ माह आरंभ हो जाएगा।

ज्येष्ठ पूर्णिमा तिथि आरंभ- 24 जून 2021 दिन गुरुवार प्रातःकाल 03:32 बजे से

ज्येष्ठ पूर्णिमा तिथि समाप्त-  25 जून 2021 दिन शुक्रवार अर्ध्य रात्रि में 12:09 बजे पर

ज्येष्ठ पूर्णिमा पर करें ये कारगर उपाय

चंद्रमा को अर्घ्य दें

आप पूर्णिमा तिथि के दिन चंद्रोदय होने के पश्चात एक पात्र में दूध लीजिए और उसके अंदर थोड़ी सी चीनी और अक्षत (चावल) मिलाकर चंद्रमा को अर्घ्य दीजिए और इस दौरान चंद्रमा के मंत्र का जाप करें। ऐसा माना जाता है कि इस उपाय को करने से मनुष्य के जीवन में चल रही धन से जुड़ी हुई परेशानियां दूर हो जाती हैं और आर्थिक स्थिति मजबूत बनती है।

मनोकामना को पूरा करने के लिए

आप पूर्णिमा तिथि के दिन चंद्र देव की पूजा करने के साथ ही दूध में शहद और चंदन मिलाकर चंद्रमा को अर्घ्य दें। ऐसी मान्यता है कि इससे व्यक्ति की सारी मनोकामनाएं पूर्ण होने लगती हैं।

पूर्णिमा तिथि को करें त्राटक

ऐसा माना जाता है कि पूर्णिमा तिथि पर चंद्रमा अपनी पूर्ण कलाओं के साथ होता है। आप ज्येष्ठ पूर्णिमा के दिन चंद्रोदय होने पर चंद्रमा के साथ त्राटक कीजिए। त्राटक आंखों की रोशनी बढ़ाने के लिए किया जाता है।

पीपल के पेड़ में जल चढ़ाएं

आप ज्येष्ठ पूर्णिमा के दिन सुबह के समय उठकर पीपल के पेड़ पर कुछ मीठा अर्पित करें और जल चढ़ाएं। इस उपाय को करने से जीवन की समस्त समस्याएं दूर हो जाती हैं। इतना ही नहीं बल्कि मां लक्ष्मी जी की भी कृपा सदैव बनी रहती है।

मां लक्ष्मी की कृपा पाने हेतु

अगर आप माता लक्ष्मी जी की कृपा पाना चाहते हैं तो इसके लिए पूर्णिमा तिथि पर 11 कौड़ियां एक लाल कपड़े में रखकर मंदिर में मां लक्ष्मी जी के चरणों में रख दीजिए। इसके पश्चात आपको माता लक्ष्मी जी की पूजा करनी होगी। आप कौड़ियों पर हल्दी या केसर से तिलक कीजिए और कुछ समय तक कौड़ियां वहीं पर रख दीजिए। इसके बाद आप कौड़ियों को उठाकर कपड़े समेत अपनी तिजोरी में रख दीजिए। ऐसी मान्यता है कि इस उपाय को करने से व्यक्ति को मां लक्ष्मी जी की कृपा प्राप्त होती है और घर में धन की कमी नहीं होती है। आप प्रत्येक महीने पूर्णिमा तिथि पर यह उपाय दोहराते रहें।

Back to top button