बॉलीवुड

12 साल की बच्ची बनी माँ अब अपने 15 साल के प्रेमी के साथ बसाएगी अपना घर, ऐसे हुई ये घटना

12 साल की लड़की और 15 साल का लड़का, स्कूल जाने की उम्र में नाबालिग बच्चे बने माता-पिता

खबरों की दुनिया से एक ऐसा मामला सामने आ रहा है जिसके बारे में आप और हम सोच भी नहीं सकते है. सोचिये क्या हो जब कोई बच्चा खुद ही माता-पिता बन जाए. मतलब यह कि, अपने खेलने कूदने की उम्र में पढाई करने की उम्र में उस और ऐसी जिम्मेदारी आन पड़े. आज हम आपको एक ऐसा ही मामला बताने जा रहे है, जहां एक बच्ची सिर्फ 12 साल की उम्र में ही माँ बन गई है. इतना ही नहीं इस बच्चे के पिता की उम्र भी महज़ सिर्फ 15 साल ही है. बच्चे के इस दुनिया मे आने के बाद अब दोनों ही घर से अलग एक साथ नए घर में रह रहे है. इसके लिए वहां का लोकल प्रशासन भी उनकी काफी मदद कर रहा है.

minor be a parents

यह अजीब सा मामला भारत के किसी प्रान्त या शहर का नहीं है. यह मामला मैक्सिको के टेकामेक शहर का है. यहां पर एक 12 साल की लड़की ने हाल ही में एक प्रीमैच्योर बेबी को जन्म दिया है. इस बच्चे का जन्म तय समय से एक महीने पहले हो गया है. बच्चे के 15 साल के पिता और 12 साल की मां ने अब यह फैसला किया है कि वे अपने इस बच्चे के साथ अपना एक अलग घर बसाएंगे.

12-and-15-yeras-old-minor-be-a-parents

इस अजीब से मामले में हालिया माँ बनी 12 साल की लड़की का कहना है कि हमें हमारे घर वालों ने नहीं निकाला है. हमारे परिवार वाले अभी भी हमारे संपर्क है. हम अपनी मर्जी से अलग रहने का निर्णय ले रहे हैं. जब इस नाबालिग कपल के बारे में वहा के स्थानीय प्रशासन को पता चला तो वे इनकी मदद के लिए आगे आए. स्थानीय प्रशासन ने इन्हे हर महीने 2500 पीसो यानि लगभग आठ हजार रुपए देने का फैसला भी किया है. आपको बता दें कि प्रशासन ने यह मदद उस इलाके में चल रहे रेट होम प्रोग्राम के तहत की है.

minor be a parents

अब इस कपल की सहायता करने के बाद टेकामेक शहर के मेयर मारिएला गुटिरेज ने इस बात की जानकारी सभी के साथ सोशल मीडिया पर शेयर की है. इसके साथ ही उन्होंने बताया कि इसके पीछे उनका मुख्य उद्देश्य लोगों के बीच जागरुकता फैलाना है. इससे वह लोगों को सन्देश देना चाहते थे कि इन मामलों में जल्दबाजी में लिया गया कोई भी कदम सही नहीं है. हालिया ये नाबालिग माता-पिता दोनों ही स्कूल में पढाई कर रहे है. सभी को हैरानी हो रही है कि कैसे दोनों पढाई-लिखाई की उम्र में माँ-बाप बन गए है.

minor be a parents

इसलिए स्कूल में सेक्स एजुकेशन को बहुत ही जरुरी बताया जाता है. बच्चों को भी पता होना चाहिए कि प्रोटेक्शन क्या होता है. साथ ही रिलेशन बनाने की सही उम्र क्या होती है. कई सारे माता-पिता इस बारे में बच्चों से बात करने में हिचकिचाते है. इसके चलते जिज्ञासा में बच्चे कहीं और से गलत या अधूरी जानकारी हासिल कर लेते है. अपनी जिज्ञासा के चलते बच्चे सभी कुछ जानने के लिए उत्सुक होते है. इसी वजह से उन्हें सही जानकरी देना जरुरी रहता है. सही जानकारी के साथ ही उनकी मन की जिज्ञासा को शांत किया जा सकता है.

Back to top button