विशेष

ट्रोलर्स का शिकार हुए गोल्ड मेडलिस्ट नीरज चोपड़ा, कपड़ों को लेकर किए गए भद्दे कमेंट

टोक्यो ओलिंपिक में स्वर्ण पदक जीतकर इतिहास रचने वाले नीरज चोपड़ा ने चीफ ऑफ डिफेंस स्टाफ जनरल बिपिन रावत और सेना प्रमुख जनरल एमएम नरवणे से मंगलवार को मुलाकात की थी। ये मुलाकात साउथ ब्लॉक में शाम के समय हुई थी। इस दौरान नीरज चोपड़ा के परिजन भी मौजूद थे।

भारतीय सेना में सूबेदार नीरज चोपड़ा से मुलाकात करते हुए जनरल बिपिन रावत और जनरल एमएम नरवणे ने उन्हें गोल्ड मेडल जीतने पर बधाई दी थी। हालांकि इस मुलाकात को लेकर अब नीरज चोपड़ा को ट्रोल किया जा रहा है।


दरअसल जब नीरज भारतीय सेना के शीर्ष अधिकारियों से मिले, तो उन्होंने कार्गो पैंट और स्पोर्ट्स शूज़ पहने हुए थे। ऐसे में लोगों ने एथलीट को बधाई देने के बजाय इनको ट्रोल करना शुरू कर दिया। ट्विटर पर लोगों ने नीरज को आर्मी की यूनिफॉर्म नहीं पहनने पर ट्रोल किया और कई तरह के ट्वीट किए। हालांकि कुछ लोगों ने इस मुद्दे में नीरज का पक्ष लिया और इन लोगों का मुंह बंद कर दिया।


मुलाकात के दौरान चीफ ऑफ डिफेंस स्टाफ जनरल बिपिन रावत ने स्वर्ण पदक विजेता जेवलिन थ्रोअर सूबेदार नीरज चोपड़ा की सराहना की। उन्होंने नीरेज के परिवार के सदस्यों को भी उनके प्रदर्शन के लिए बधाई दी।

ट्वीट करके भी दी थी बधाई

नीरज चोपड़ा के गोल्ड जीतने पर चीफ ऑफ डिफेंस स्टाफ जनरल बिपिन रावत ने ट्वीट भी किया था। जिसमें इन्होंने लिखा था कि ‘नीरज चोपड़ा ने साबित कर दिया है कि जब चाह होती है। तो राह भी होती है। उन्होंने कई अन्य ओलंपियनों की तरह सशस्त्र बलों और देश को गौरवान्वित किया है। जिन्होंने टोक्यो ओलंपिक में इतिहास रचा है। हमें विश्वास है कि आने वाले वर्षों में आप और अधिक ऊंचाइयों तक पहुंचेंगे। आपकी उपलब्धि अन्य खिलाड़ियों को हमारे राष्ट्र के लिए बड़ा सम्मान और अधिक सम्मान दिलाने की आकांक्षा और सफल होने के लिए प्रेरित करेगी।’


23 साल के नीरज चोपड़ा भारतीय सेना में 4-राजपूताना राइफल्स के सूबेदार हैं। ये मई, 2016 में नायब सूबेदार के तौर पर 4-राजपूताना राइफल्स में ये शामिल हुए थे। भारतीय सेना में शामिल होने के बाद इन्हें मिशन ओलंपिक विंग और आर्मी स्पोर्ट्स इंस्टीट्यूट, पुणे में प्रशिक्षण के लिए चुना गया था। मिशन ओलंपिक विंग खिलाड़ियों को प्रशिक्षित करने के लिए भारतीय सेना की एक प्रमुख पहल है। मिशन ओलंपिक विंग ने राष्ट्र को निशानेबाजी में दो ओलंपिक रजत पदक दिए हैं।

नीरज को खेल में उत्कृष्टता के लिए 2018 में अर्जुन पुरस्कार और 2020 में वीएसएम से सम्मानित किया गया था। वहीं 16 अगस्त को भारतीय सेना की तरफ से ओलिंपिक में गए सभी 16 खिलाड़ियों का सम्मानित किया जाएगा।

गौरतलब है कि ओलिंपिक में नीरज ने पहली बार में 87.03 मीटर का थ्रो फेंका था। जिसकी बराबरी कोई खिलाड़ी नहीं कर सका और नीरज ने गोल्ड अपने नाम कर लिया। नीरज ने पहली बार में 87.03 मीटर, दूसरी बार में 87.58 मीटर, तीसरे बार में 76.79 मीटर, चौथी, 5वी और छठवी बारी में 80 से ज्यादा मीटर तक का थ्रो किया था। इतना ही नहीं इसी साल मार्च में नीरज ने अपना ही रिकार्ड तोड़ा था। जिसमे उन्होंने 88.07 मीटर का थ्रो किया था। ये नया नेशनल रिकार्ड है। नीरज ने इंडोनेशिया में हुए एशियन गेम्स में साल 2018 में 88.06 मीटर का थ्रो किया था और गोल्ड मेडल अपने नाम किया था।

Related Articles

Back to top button