विशेष

सोशल मीडिया पर वायरल हुई नवजात की ये तस्वीर, पूरा मामला जानकर आप भी करेंगे तारीफ

सोशल मीडिया पर रोजाना है कि कोई ना कोई तस्वीर सामने आ ही जाती है, जिसे देखने के बाद अक्सर लोग हैरान हो जाते हैं और काफी सोच-विचार में भी पड़ जाते हैं। वैसे देखा जाए तो इंटरनेट एक ऐसी जगह है जहां पर देश-दुनिया से जुड़ी हुई बहुत सी खबरें, तस्वीरें और वीडियोस वायरल होते रहते हैं। इन्हीं में से कुछ चीजें ऐसी होती हैं जो व्यक्ति को काफी दुविधा में डाल देती हैं। इसी बीच सोशल मीडिया पर एक तस्वीर काफी तेजी से वायरल हो रही है, जिसे देखने के बाद लोग काफी कंफ्यूज हो जा रहे हैं।

सोशल मीडिया पर जो नवजात की तस्वीर वायरल हो रही है इसके पीछे की कहानी बेहद जबरदस्त है। जैसे कि हम सभी लोग जानते हैं पोलियो एक संक्रमण बीमारी होती है, जो कि ज्यादातर बच्चों को होती है। इस बीमारी से ज्यादातर देश प्रभावित थे परंतु अब वह सब देश मुक्त हो चुके हैं। असल में यह लम्हा इस बात का सबूत है कि भारत यूं ही पोलियो मुक्त नहीं हुआ है। उसके पीछे ऐसे ही हेल्थ वर्कर्स का अथक प्रयास है।

दरअसल, गर्मी हो या सर्दी या फिर बरसात या फिर बाढ़, इन सभी हालातों में भी हेल्थ वर्कर्स लोगों के घर-घर जाकर उनके बच्चों को “दो बूंद जिंदगी की” पिला रहे हैं। सोशल मीडिया पर यह तस्वीर जो वायरल हो रही है इसका यह दावा किया जा रहा है कि ये फोटो पश्चिम बंगाल के सुंदरबन की है। जहां पर जलभराव की स्थिति में एक महिला बच्चों को पोलियो की खुराक देने के लिए पहुंची।

मिली जानकारी के अनुसार, पश्चिम बंगाल के सुंदरबन में बाढ़ की स्थिति देखने को मिल रही है। ऐसे में जब आशा वर्कर बच्चों को पोलियो की खुराक देने पहुंची तो एक नवजात को खाने के बर्तन में लाया गया है, जिसकी तस्वीर सोशल मीडिया पर काफी तेजी से वायरल हो रही है। यह तस्वीर सोशल मीडिया के कई प्लेटफार्म पर साझा की जा रही है।

आपको बता दें कि इस तस्वीर को ट्विटर पर दिल्ली स्थित एम्स के डॉक्टर योगीराज राय ने 26 सितंबर को साझा किया था। उन्होंने इस तस्वीर को शेयर करते हुए कैप्शन में यह लिखा कि “गंगा के डेल्टा सुंदरबन में पल्स पोलियो टीकाकरण। शानदार, जलजमाव वाले इलाकों में हेल्थ केयर वर्कर का अथक प्रयास।” इस ट्वीट पर हजारों लोगों द्वारा लाइक्स किया जा चुका है। इतना ही नहीं बल्कि लोग इसे रीट्वीट भी कर रहे हैं।

वहीं ट्वीटर यूजर @skbadiruddin के मुताबिक, यह तस्वीर रविवार को Singheshwar गांव में खींची गई थी। माँ बाढ़ के पानी में चलने में असमर्थ थीं। ऐसे में नवजात को पोलियो की खुराक पिलाने के लिए पिता उसे बड़े बर्तन में लेकर पहुंचे थे। ऐसा बताया जा रहा है कि अपने 15 महीने के बच्चे को उठाने में पिता डर रहे थे, इस वजह से वह बड़े से बर्तन में बच्चे को लेकर गए।

आप सभी लोग इस तस्वीर में देख सकते हैं कि चारों तरफ पानी ही पानी नजर आ रहा है और एक नवजात खाना पकाने वाले एक बड़े से बर्तन में लेटा हुआ दिख रहा है, जिसे उसके पिता ने थाम रखा है। इसे नवजात को पोलियो की खुराक देने के बाद आशा मार्कर की सहायता से उसकी उंगली पर निशान लगाते हुए नजर आ रही हैं। सोशल मीडिया पर इस तस्वीर को देखकर कुछ लोग भावुक हो रहे हैं। लोग इस तस्वीर पर अपनी अपनी जमकर प्रतिक्रिया दे रहे हैं और आशा वर्कर की खूब तारीफ कर रहे हैं।

Back to top button