विशेषस्वास्थ्य

अगर डिहाइड्रेशन को हल्के में लें रहे है तो हो जाएं सावधान!

जून का महीना है और पूरे भारत में गर्मी अपने चरम पर है। ऐसे में कड़कती धूप ने लोगों को अपने चपेट में लेना शुरू कर दिया है। हालांकि बीच-बीच में बारिश और तूफान के चलते मौसम में बदलाव भी देखने को मिल जाता है लेकिन ज्यादातर समय तेज चिलचिलाती धूप अब लोगों का जीना बेहाल किए हुए है। वहीं अब जैसे जैसे गर्मी बढ़ती जा रही है लोगों में डिहाइड्रेशन की शिकायतें भी सामने आने लगी हैं। जिसे कई लोग हल्के में भी ले रहे हैं लेकिन डिहाइड्रेशन जैसी समस्या न तो हल्के में लें और न ही इससे घबराएं।

गर्मी के मौसम में डिहाइड्रेशन की समस्या लोगों में आमतौर देखी जाती है। लेकिन इसका ये मतलब नहीं कि आप इस अनदेखा करते जाएं। गर्मी के मौसम में डिहाइड्रेशन की समस्या पर अगर अच्छे से ध्यान नहीं दिया जाए तो यह आपकी सेहत के लिए खरतनाक साबित हो सकता है। देश में वैसे भी कोरोना काल चल रहा है, ऐसे में जब लोगों को लॉकडाउन में कुछ रियायतें दी गई हैं तो लोग भी अपने अपने काम पर जाना शुरू हो गए है। ऐसे में लोगों को गर्मी से परेशानी का सामना भी करना पड़ रहा है।

गर्मी के चलते शरीर में पानी की कमी

डिहाइड्रेशन की समस्या आमतौर लोगों में गर्मी के मौसम में ही देखने को मिलती है। डिहाइड्रेशन एक तरह से आपके शरीर में मौजूद पानी की कमी है जो शरीर में से पसीने के रूप में पानी, मूत्र और मल के जरिए शरीर से निकलता रहता है जिसकी भरपाई होनी भी बहुत जरूरी है। बता दें कि शरीर के तापमान को सामान्य रखने के लिए शरीर में पानी की जरूरत होती है अगर आप कम पानी का सेवन कम करते हैं तो आपको डिहाइड्रेशन का खतरा बढ़ जाता है।

क्या हैं डिहाइड्रेशन के लक्षण

अगर डिहाइड्रेशन के लक्षणों की बात करें तो इसके चलते आपके शरीर में पानी की कमी काफी कमी हो जाती है जिसके बाद व्यक्ति की त्वचा रूखी हो जाती है। आपके होंठ भी फटने लगते हैं। अगर आप अपने शरीर में पानी की कमी को जांचना चाहते हैं तो आपके लिए इसका एक आम तरीका यह भी है कि आपको इस बात का ध्यान देना होगा कि आप पिछले कितने समय से आप पेशाब के लिए नहीं गए हैं। क्योंकि आमतौर पर 4 घंटे के भीतर आपको टॉयलेट जाना चाहिए। वहीं पेशाब का न आना भी शरीर में डिहाइड्रेशन का संकेत बताया जाता है। डिहाइड्रेशन के कारण कई बार व्यक्ति को अचानक चक्कर आने लगते हैं और उसकी आंखों के सामने अंधेरा छाने लगता है। सिरदर्द की समस्या शुरू हो जाती है।

व्यक्ति की हो सकती है मौत

आमतौर पर लोग डिहाइड्रेशन के चलते अपने शरीर में हो रहे बदलाव या इसके लक्षणों को पहचानने में काफी देर कर देते है। जिसकी वजह से कई बार शरीर में पानी की पूर्ति नहीं होने के कारण व्यक्ति को हीट स्ट्रोक आ जाता है और कई प्रस्थितियों में तो व्यक्ति की मौत भी हो सकती है। इसलिए आपको गर्मी के मौसम में अपने शरीर में बदलते कुछ लक्षणों की ओर खास ध्यान देने की जरूरत है।

Related Articles

Back to top button