अजब ग़जब

यह है दुनिया का सब से गन्दा आदमी, 68 सालों से नहाया नहीं, खाता है सड़क पर मरे हुए जानवरों को

इंटरनेट पर देश-दुनिया की खबरें हमें देखने को मिलती हैं। कुछ खबरें ऐसी होते हैं, जिन्हें देखने के बाद हर कोई हैरत में पड़ जाता है। जी हां, क्योंकि दुनिया में ऐसे ऐसे लोग रहते हैं जो ऐसा काम कर देते हैं जिसके बारे में कोई कल्पना भी नहीं कर सकता। अच्छा तो चलिए, अगर हम आपसे कहे कि एक साल तक आपको नहाना नहीं है या आप एक साल तक पानी से बिल्कुल दूर रहें।

अब आप हमारी यह बात सुनने के बाद यही सोच रहे होंगे कि हम कैसा बेहूदा मजाक कर रहे हैं। जी हां, यह बात हर किसी को मजाक ही लगेंगी। लेकिन आज हम आपको एक ऐसे आदमी के बारे में बताने वाले हैं जिसमें पिछले 68 सालों से नहीं नहाया है। तो चलिए जानते हैं इस शख्स के बारे में…

दरअसल, आज हम आपको जिस आदमी के बारे में बता रहे हैं वह ईरान का रहने वाला है, जिसका नाम अमो हाजी (Amao Jaji) है। अमो हाजी की उम्र 88 साल की है। दक्षिण ईरान के फ़ार्स प्रांत के देजगाह गांव के रहने वाले अमो हाजी 68 वर्षों से नहीं नहाए हैं। हालांकि, डॉक्टरों के द्वारा जब उनकी सेहत पर रिसर्च किया गया तो जो मामला सामने आया, वह बेहद चौंकाने वाला था।

नहीं नहाने का कारण यह है…

Tehran Times के अनुसार, अमो हाजी का ऐसा मानना है कि अगर वह साफ सफाई में रहेंगे तो ऐसी स्थिति में उनके शरीर को कई बीमारियां घेर लेंगी। इतना ही नहीं बल्कि अमो हाजी इस बात से सबसे अधिक डरते हैं कि साफ सफाई रहने के बाद कहीं वह मर ना जाएं। यही वजह है कि वह पानी से नफरत करते हैं और उन्हें साफ सफाई से रहना बिल्कुल भी पसंद नहीं है।

डॉक्टर्स भी रह गए हैरान

जब अमो हाजी के पास मेडिकल एक्सपर्ट्स की एक टीम और Professor Dr Gholamreza Molavi पहुचें तो उनके द्वारा कई प्रकार के टेस्ट किए गए थे। उन्होंने उनके लाइफ स्टाइल को लेकर भी जांच की थी। उनका ऐसा मानना था कि साफ सफाई से ना रहने की वजह से उनकी त्वचा में कुछ परजीवी मिलेंगे या कुछ बैक्टीरिया देखने को मिलेंगे परंतु जैसा उन्होंने सोचा था वैसा कुछ भी नहीं देखने को मिला।

साफ सफाई ना करने की वजह से उन्हें किसी भी प्रकार की बीमारी नहीं थी और ना ही किसी प्रकार का वायरस उनके शरीर में पाया गया। इतना ही नहीं बल्कि कोई भी परजीवी या बैक्टीरिया उनके शरीर में नहीं मिला।

बड़ा मजबूत है उनका इम्यून सिस्टम

जब अमो हाजी की जांच की गई तो यह नतीजा सामने आया कि उनका इम्यून सिस्टम बाकी व्यक्तियों के मुकाबले बहुत अधिक मजबूत है। उनका हेपेटाइटिस और एड्स का भी टेस्ट किया गया था। उन्हें किसी भी प्रकार की बीमारी नहीं है। बस उनको एक Trichinosis infection है, जो धीरे-धीरे अब ठीक होता जा रहा है।

मरे हुए जानवरों का खाते हैं मांस

आमतौर पर जो लोग मांसाहारी हैं, वह हमेशा ताजा ही मांस खाना पसंद करते हैं परंतु अमो हाजी को ताजा मांस खाना बिल्कुल भी पसंद नहीं है। वह सड़क पर मरे हुए जानवरों का मांस खाना पसंद करते हैं। सड़े-गले और पॉर्क्‍यूपाइन का मांस उनका सबसे पसंदीदा खाना है। जानवरों के मल को तंबाकू की तरह के पाइप में डालकर वह उधुआं फूंकते हैं।

उनका ऐसा मानना है कि इससे उनका तनाव कम होता है। वह एक छोटी सी झोपड़ी में रहते हैं, जिसको स्थानीय लोगों ने उन्हें बना कर दिया है। आपको बता दें कि पहले लोग उनको पत्थर मारते थे। अब स्थानीय प्रशासन ने लोगों से यह अपील की है कि वह उन्हें परेशान ना करें ताकि वह अपने जीवन को अपने हिसाब से जी पाएं।

Related Articles

Back to top button