समाचार

सिद्धू की बेटी का बड़ा बयान- जब तक उनके पापा चुनाव नहीं जितेंगे वह शादी नहीं करने वाली

पंचाब में चुनवी बिगुल बज चुका है। ऐसे में छोटे बड़े सभी राजनेताओं ने अपनी कमर कसना शुरु कर दिया है। पंजाब की राजनीति की बात हो तो भला इसमें नवजोत सिंह सिद्धू को आप कैैसे भूल सकते हैं। पंजाब चुनाव की तैैयारी सिर्फ नवजोत ही नहीं बल्कि उनका पूरा परिवार ही इस चुनाव में उनका प्रचार करने मैदान में उतर चुका है। नवजोत सिंह सिद्धू की बेटी राबिया अपने पिता के लिए चुनाव प्रचार में घर घर जाकर लोगों से वोट अपिल कर रही है।

बता दें कि नवजोत सिंह सिद्धू पंजाब के अमृतसर की पूवी सीट से चुनाव लड़ने जा रहे हैं। इस सीट पर सिद्धू को टक्कर देने के लिए अकाली दल के वरिष्ठ नेता और पूर्व मंत्री बिक्रम सिंह मजीठिया चुनाव लड़ेंगे। हालांकि फिलहाल दोनों में ही कड़ी टक्कर देखी जा रही है।

शादी को लेकर कर दी ये बात

नवजोत सिंह के लिए चुनाव का प्रचार करते हुए उनकी बेटी ने कुछ ऐसा कह दिया है जिसके कारण अब राबिया भी लाइम लाइट में आ गई है। राबिया अपने पापा को फूल सपोर्ट कर रही है। इस प्रचार के दौरान ही राबिया ने कह दिया हैै कि जब तक उनके पापा चुनाव नहीं जितेंगे वह शादी नहीं करने वाली। जी हां राबिया इस तरह की बात तो मीडिया के बीच कह दी है लेकिन राबिया अपनी बातों पर कितना खरी उतरती है।

इस बात का कोई भरोसा नहीं कर सकता। क्योंकि कहने को तो नवजोत सिंह सिद्धू भी कई सारी बात कहते हैं लेकिन जब उन बातों पर खरा उतरने की बारी आती है तो सिद्धू किसी तरह उन बातों से अपना पल्ला झाड़ ही लेते हैं। दरअसल पिता के लिए जब राबिया चुनावी मैदान में उतर कर लोगों से वोट अपील कर रही थी।

सीएम चन्नी को लेकर कहा ये

उस समय मीडिया से बातचीत के दौरान एक पत्रकार ने उनसे उनकी शादी को लेकर सवाल पूछ लिया। जिस पर राबिया ने कहा कि वह तब तक शादी नहीं करेंगी जब तक पिता जीत न जाएं। मालूम हो कि इन दिनों पंजाब में चरणजीत सिंह चन्नी की सरकार है। हालांकि चन्नी औैर सिद्धू एक ही पार्टी में होने के बाद भी आपसी मतभेदों को दूर नहीं कर सके हैैं।

ऐसे में सिद्धू का परिवार भला चन्नी को कहा छोड़ने वाला है। जब राबिया से पंजाब के सीएम चरणजीत सिंह चन्नी को लेकर सवाल किए गए तो राबिया ने चन्नी के सीएम होने का भी मान ना रखते हुए कह दिया कि चरणजीत सिंह चन्नी और नवजोत सिंह सिद्धू की कोई तुलना ही नहीं हैं। जहां एक तरफ सिद्धू ईमानदार नेता है तो वहीं चन्नी पर कई भ्रष्टाचार के आरोप लगे हुए हैं।

Related Articles

Back to top button