स्वास्थ्य

नाखून रगड़ने से मिलेंगे ये जबरदस्त फायदे, रोजाना 10 मिनट तक करें प्रैक्टिस, दिखने लगेगा चेंज

आजकल के समय में ऐसे बहुत से लोग हैं, जो अपने स्वास्थ्य के प्रति काफी सजग रहते हैं। वह अपने स्वास्थ्य को बेहतर बनाए रखने के लिए रोजाना ही नियमित रूप से व्यायाम करते हैं। इसके अलावा योगा आदि करके अपने शरीर को फिट रखने की पूरी कोशिश करते हैं। आप सभी ने ऐसे लोगों को भी देखा होगा जो अक्सर खाली समय में वह अपने नाखूनों को रगड़ते रहते हैं। शायद हो सकता है कि कुछ लोगों को यह एक्टिविटी आश्चर्यजनक लगती होगी।

दरअसल, नाखूनों को रगड़ते को नेल रबिंग एक्सरसाइज या बालयाम (Balayam) योग कहा जाता है और इस योग को अपने ही कुछ आश्चर्यजनक लाभों के लिए जाना जाता है। दुनिया भर के योग गुरु (Yoga Guru) नाखून रगड़ने की सलाह देते हैं।

“बालयाम” का शाब्दिक अर्थ “बालों का व्यायाम” है। नाखून रगड़ने की प्रक्रिया प्राचीन काल से ही चली आ रही है, जो मौजूदा समय में काफी कारगर साबित होती है। इससे आपको कई बीमारियों से छुटकारा मिल सकता है। आपको बता दें कि एक्यूप्रेशर थेरेपी (Acupressure Therapy) में नाखून को रगड़ने को काफी अहमियत दी जाती है।

मौजूदा समय में लोगों की जीवनशैली बहुत खराब हो चुकी है। लोगों के पास खुद के लिए इतना समय नहीं होता है कि वह अपनी सेहत पर ध्यान रख पाएं। जंक फूड खाना, प्रोटीन और कैल्शियम की कमी होना, समय पर भोजन नहीं करना आदि बातों से कई प्रकार की समस्याएं उत्पन्न होने लगती हैं।

व्यस्त जीवनशैली की वजह से बालों का कम उम्र में झड़ना, बालों का पतला होना, गंजापन और और असमय सफेद बालों की परेशानियां काफी मात्रा में सामने आने लगी हैं। अगर आप नाखूनों को रगड़ते हैं, तो इससे इन सभी परेशानियों से राहत मिल सकती है। तो चलिए जानते हैं आखिर इसके अन्य फायदे क्या-क्या है…

नाखून रगड़ने के फायदे

1. नाखून रगड़ने की प्रक्रिया एक चायनीज एक्यूप्रेशर का हिस्सा होती है। इस क्रिया में दोनों हाथों के नाखूनों को आपस में रगड़ा जाता है। जब दोनों हाथों के नाखूनों को रगड़ते हैं तो इसकी वजह से जो घर्षण पैदा होता है और जो गर्मी पैदा होती है उससे आपके सिर के स्कैल्प पर प्रभाव पड़ता है।

2. जब हम अपने हाथों के नाखूनों को आपस में रगड़ते हैं तो इसकी वजह से स्कैल्प का रक्त संचार बढ़ने लगता है, जिसकी वजह से बाल झड़ने की समस्या कम हो जाती है। इतना ही नहीं बल्कि बाल दुगनी तेजी से भी बढ़ने लग जाते हैं।

3. आप इस क्रिया को रोजाना कम से कम 5 से 10 मिनट कर सकते हैं परंतु जो महिलाएं गर्भवती हैं, उनको इस बात का ध्यान रखना होगा कि उनको ऐसा नहीं करना चाहिए क्योंकि ऐसा करने से गर्भाशय में संकुचन होने की संभावना रहती है, जो नुकसानदायक साबित होती है।

4. अगर आप नाखूनों को बार-बार रगड़ते हैं तो इससे चर्म रोग दूर हो सकता है।

5. अगर किसी व्यक्ति को एपेंडिसाइटिस और एंजियोग्राफी जैसी सर्जिकल समस्या है, तो ऐसी स्थिति में उनको नाखून रगड़ने का प्रयास भूलकर भी नहीं करना चाहिए क्योंकि इससे धड़कन और उच्च रक्तचाप के लक्षण और गंभीर परिणाम होने की संभावना रहती है।

Related Articles

Back to top button